Bhopal News: काश हसीब खां जैसा हर कोई व्यक्ति मिसाल पेश करें

Share

Bhopal News: आईएसबीटी में तैनात कांस्टेबल जिसको कई ट्रांसपोर्टर के हेल्पर भी पहचानते हैं, उसे चलती बस में मिली एक जानकारी जिसके बाद सकुशल बचाई गई नाबालिग की पूरी कहानी

Bhopal News
गोविंदपुरा ऊर्जा डेस्क में कांस्टेबल सुनील राठौर के साथ बस का हेल्पर हसीब खां

भोपाल। पुलिस महानिदेशक सुधीर सक्सेना (DGP Sudhir Saxena) सार्वजनिक मंच से कई बार यह बात बोल चुके हैं कि विभाग का सबसे छोटा कर्मचारी सिपाही होता है। उसकी बदौलत ही विभाग के मुखिया की पहचान होती है। इसलिए उसे हरसंभव नवाचार करने चाहिए और सूचना संकलन के नेटवर्क को मजबूत बनाना चाहिए। उनके इस उद्देश्य को प्रगति का मंत्र मानकर दस नंबरी कांस्टेबल अब तक कई एक नंबरी काम कर चुका है। यह कांस्टेबल भोपाल (Bhopal News)  शहर के गोविंदपुरा थाने में तैनात है। यहां से उसको इंटर स्टेट बस टर्मिनल की पुलिस चौकी में तैनात किया गया है। कांस्टेबल सुनील राठौर का नेटवर्क कितना कारगर है यह एक सराहनीय कार्य से उजागर हुआ। आईएसबीटी पर कई जिलों की यात्री बसें आती है। जिनसे कांस्टेबल का बेहतर तालमेल है। इसी तालमेल के चलते गुड्डू बस सर्विस (Guddu Bus Service) के हेल्पर हसीब खां ने मिसाल पेश कर दी। हालांकि पुलिस विभाग ने माला पहनाकर उसका सम्मान भी किया।

यह है पूरा मामला

रायसेन जिले के सिलवानी इलाके में पारदी समुदाय रहता है। यह समाज अशिक्षित होता है और इसके अभाव में सामाजिक विकास रूका है। लेकिन, एक परिवार ने अपनी चौदह साल की बच्ची को शिक्षित करने का मन बनाया। माता-पिता चाहते हैं कि वह शिक्षा पर ध्यान दे। इसके लिए वह सरकारी स्कूल में उसे पढ़ा रहे हैं। लेकिन, उसका ध्यान एक युवक पर है। इसी युवक से उसके रिश्ते की बात परिजनों ने बहुत पहले चला दी थी। चैदह साल की नाबालिग पढ़ाई छोड़कर उससे बातचीत को ज्यादा प्राथमिकता दे रही थी। इस कारण माता-पिता ने उसे शुक्रवार को फटकार दिया। इसके बाद चौदह वर्षीय नाबालिग घर की अलमारी से 1300 रूपए निकाल और कपड़े लेकर निकल गई। वह नौंवी कक्षा की छात्रा है। उसने मोहनपुरा से सिलवानी पहुंची। इसके बाद वह सिलवानी से भोपाल की गुड्डू बस में सवार हो गई। बस में हेल्पर विदिशा निवासी हसीब खां (Hasib Khan) भी था। नाबालिग चेहरा ढ़के हुए थी और फोन पर बातचीत कर रही थी। उसे शक हुआ और उसने चलती बस में ही कांस्टेबल सुनील राठौर (Con Sunil Rathore) को काॅल कर दिया।

सिलवानी पुलिस की मदद से परिजनों को भोपाल बुलाया

Bhopal News
भोपाल स्थित आईएसबीटी— फाइल फोटो

सुनील राठौर ने यह जानकारी अपने आला अधिकारियों को दी। मामला नाबालिग लड़की का था इसलिए गोविंदपुरा ऊर्जा डेस्क की लिंक अधिकारी हवलदार सोनिया पटेल (Con Soniya Patel) को मामले का निराकरण करने के लिए सुनील राठौर की मदद के लिए भेजा गया। आईएसबीटी पर बस से उतरकर हसीब खां नाबालिग को लेकर सीधे पुलिस चौकी पहुंच गया। यहां ऊर्जा डेस्क की हवलदार सोनिया पटेल भी थी। नाबालिग को कार्यालय लाया गया तो वह अपना मोबाइल का पैटर्न लाॅक खोलने के लिए राजी नहीं थी। काफी समझाईश के बाद उसने मोबाइल का लाॅक खोला तो नरसिंहपुर में एक युवक से बातचीत हुई। उसने बताया कि वह उसको जानता है। इसके अलावा वह उसके पिता को भी जानता है। युवक ने बताया कि नाबालिग नाराज होकर घर से भागी है। वह रास्ते भर उसको वापस लौटने की सलाह भी दे रहा था। इसके बाद सोनिया पटेल ने सिलवानी थाना प्रभारी मंजु सिंह (TI Manju Singh)  को घटना बताई। जिसके बाद सिलवानी पुलिस की मदद से परिजन भोपाल (Bhopal News) पहुंचे। यहां पहुंचने के बाद माता-पिता को नाबालिग सौंपी गई। इस सफल समन्वय के लिए सुनील राठौर के साथ-साथ हेल्पर हसीब खां का माला पहनाकर स्वागत किया गया।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Third Gender News: कमरे में घुसा लड़का तो किन्नरों के बीच यह हुआ

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!