Gwalior Murder Case: प्रेमिका का घर बनवाना चाहता था सिरफिरा, मां ने किया इनकार, मिली मौत

Share

Gwalior Murder Case: नशे का आदी है आरोपी, पहले भी उड़ा चुका था लाखों रुपए

Gwalior Murder Case
मौत के बाद घर में रोता बिलखता परिवार

ग्वालियर। मध्यप्रदेश (MP Crime News) के ग्वालियर (Gwalior Crime News) से एक महिला की बेरहमी से हत्या (Gwalior Murder Case) का मामला सामने आया है। यहां एक कलयुगी बेटे ने अपनी मां की ही हत्या कर दी। गांजा और स्मैक का नशा करने वाले युवक ने अपनी मां की गला घोंटकर हत्या (Son Killing Mother) कर दी। घटना जनकगंज इलाके की है। जहां रहने वाली महिला ने अपनी जमीन बेची थी। जिससे मिली रकम को उसने अपने बेटे और बेटी को बराबर हिस्से में बांट दिया। सबके हिस्से में 9-9 लाख रुपए आए थे। लेकिन, आरोपी ने अपने हिस्से में आए पैसों को जुएं और नशे में उड़ा दिया। उसके बाद वह अपनी प्रेमिका का मकान बनवाने के लिए मां से और रुपए मांग रहा था। जब मां ने पैसे देने से मना किया तो आरोपी ने पहले मारपीट की और फिर उनका गला घोंटकर (Janakganj Murder Case) मार डाला।

23 लाख रुपए में थी नजर

यह दर्दनाक घटना जनकगंज थाना क्षेत्र की है। हत्या करने के बाद आरोपी फरार हो गया। जिसे पुलिस तलाश कर रही है। आरोपी की प्रेमिका को भी पूछताछ के लिए राउंड अप किया गया है। बताया जाता है कि शांताबाई (Shanta Bai) पत्नी मानसिंह (57) ने एक साल पहले गुड़ा-गुड़ी नाका स्थित जमीन बेची थी। इसके एवज में उन्हें 50 लाख रुपए मिले थे। उन्होंने दोनों बेटों प्रदीप, संजय (Sanjay) और अविवाहित बेटी को 9-9 लाख रुपए दिए। बाकी के 23 लाख रुपए अपने पास रख लिए।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Marriage Garden से 11 लाख रुपए का माल चोरी

घर बनाने के लिए पैसे मांगे

बड़े बेटे प्रदीप और बेटी की शादी हो चुकी है और दोनों अलग रहते थे। लेकिन, छोटा बेटा आरोपी संजय (Sanjay) उसके साथ रहता था। संजय गांजा और स्मैक का नशा करता है। वह मां से प्रेमिका का मकान बनवाने के लिए पैसे मांग रहा था। रविवार को उसने पैसे मांगे, जब शांताबाई (Shanta Bai Killing) ने इनकार कर दिया तो शाम को संजय ने उनसे मारपीट की। शांताबाई ने सारी बातें अपनी बेटी को फोन पर बताई थीं। रात में शांताबाई खाना खाकर जब सो गई तो संजय ने मां की गला दबाकर हत्या कर दी।

भूमिपूजन के लिए मां को लेने आया

बड़ा बेटा प्रदीप (Pradip) सोमवार सुबह 8 बजे मां को लेने घर आया। तब घर के दरवाजे पर संजय बैठा था। प्रदीप को देख संजय भाग गया। प्रदीप ने अंदर जाकर देखा तो मां मृत पड़ी थी। प्रदीप ने पुलिस को इसकी सूचना दी। पोस्टमार्टम से पता चला है कि शांताबाई के गले पर चोट के निशान हैं। चेहरे पर भी नाखून लगे हैं। हत्या गला दबाकर की गई थी। बताया जाता है कि शांताबाई के बड़े बेटे प्रदीप ने अपने हिस्से के पैसों से एक प्लॉट खरीदा था। उस पर मकान बनने के लिए सोमवार को भूमिपूजन किया था। भूमिपूजन के लिए ही मां को लेने आया था।

यह भी पढ़ें: इस बिल्डर पर मेहरबान थाने का स्टाफ, यह जानते हुए घटनास्थल और कहानी बदली गई फिर भी कुछ नहीं कियसा

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!