Bhopal Cop News: कोलार रोड प्रभारी अफसर जांच में दोषी करार

Share

Bhopal Cop News: कोचिंग संचालक से मांगी गई थी चार लाख रूपए की रकम, क्राइम ब्रांच कांस्टेबल पहले ही कर दिए थे लाइन हाजिर, एसआई के मामले में अफसरों ने चुप्पी साधी

Bhopal Cop News
सांकेतिक चित्र

भोपाल। उप निरीक्षक जय कुमार सिंह विभागीय जांच में दोषी करार दिए गए हैं। उन पर आरोप था कि उन्होंने व्यापमं घोटाले में बचाने के एवज में कोचिंग संचालक से चार लाख रूपए मांगे थे। यह घटना (Bhopal Cop News) भोपाल शहर के कोलार रोड (Kolar Road) थाना क्षेत्र की थी। जिसमें क्राइम ब्रांच के एक आरक्षक की भी संदिग्ध भूमिका थी। उसे पहले ही लाइन हाजिर कर दिया गया था। जबकि एसआई पर लगे आरोपों की जांच डीसीपी क्राइम ब्रांच श्रुतकीर्ति सोमवंशी (DCP Shrutkirti Somvanshi) कर रहे थे।

यह बोलकर मीडिया ने की है रिपोर्टिंग

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार जय कुमार सिंह (SI Jai Kumar Singh) की एक इंक्रीमेंट रोकने के आदेश जारी हुए हैं। यह पूरा मामला एक महीने पहले तब सुर्खियों में आया जब जय कुमार सिंह को मिलने वाला वीरता रक्षा पदक को रोका गया। उसमें पता चला कि जय कुमार सिंह पर विभागीय जांच के आदेश दे दिए गए। एसआई फिलहाल कोलार रोड थाने के प्रभारी हैं। आरोपों के पूर्व और उसके बाद भी थाने से उनकी रवानगी अफसरों ने नहीं दी है। जबकि वे कई मामलों की जांच कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि एसआई जय कुमार सिंह पर चार लाख रूपए मांगने के आरोप लगे हैं। इसमें क्राइम ब्रांच के सिपाही सलमान भी जद में आए थे। दोषी करार दिए जाने की रिपोर्ट भोपाल से प्रकाशित तांडव न्यूज ने दी है। समाचार में लिखा है कि डीसीपी श्रुतकीर्ति सोमवंशी से प्रतिक्रिया के लिए प्रयास किया गया था। लेकिन, उन्होंने फोन रिसीव नहीं किया।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: झोपड़ी में घुसकर बलात्कार
Don`t copy text!