Bhopal Property Fraud:रियल स्टेट कंपनी के डायरेक्टरों ने की करोड़ों रुपए की धोखाधड़ी 

Share

Bhopal Property Fraud: किसान से उसकी जमीन को डेव्हल्प करके प्लॉट बेचने का पौने नौ करोड़ रुपए का किया था एग्रीमेंट, उसी जमीन पर रिलायंस होम लोन कंपनी से ले लिया पांच करोड़ रुपए का लोन

Bhopal Property Fraud
सांकेतिक ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल। रियल स्टेट कंपनी के दो डायरेक्टरों के खिलाफ पुलिस ने जालसाजी का प्रकरण दर्ज किया है। कंपनी के दो संचालकों ने किसान से उसकी जमीन पर कॉलोनी काटने के नाम पर करार किया था। यह करार करीब पौने नौ करोड़ रुपए में किया गया था। इस करोड़ों रुपए के फर्जीवाड़े की जांच भोपाल (Bhopal Property Fraud) शहर के शाहजहांनाबाद थाना पुलिस कर रही है। घटना शाहजहांनाबाद इलाके में इसलिए हुई क्योंकि यहां पंजीयक कार्यालय में किसान ने इस व्यापारिक समझौते के लिए करार किया था। इस फर्जीवाड़े में अभी मुख्य दो आरोपी बने हैं। लेकिन, खबर है कि इसमें धाराएं बढ़ने के साथ—साथ चार अन्य व्यक्ति भी आरोपी बनने जा रहे हैं।

महीनों से लटकी हुई थी जांच के नाम पर डायरी

शाहजहांनाबाद (Shahjahanabad) थाना पुलिस के अनुसार चुना भट्टी स्थित ग्रीन एवेन्यू (Green Avenue) में रहने वाले उत्तम सिंह रघुवंशी (Uttam Singh Raghuvanshi) पिता स्वर्गीय बीएस रघुवंशी की कोलार रोड में स्थित थुआखेड़ा (Thuakheda) के पास दो हेक्टेअर से अधिक जमीन है। इस जमीन को डेव्हल्प करने के लिए उन्होंने लक्ष्य रियल मार्ट कंपनी (Lakshya Real Mart Company) के डायरेक्टर मनीष वर्मा (Manish Verma) पिता एके वर्मा और युगल किशोर (Yugal Kishore) पिता मेवालाल के साथ करार किया था। यह करार उन्होंने 27 दिसंबर, 2012 को किया था। इस करार में उत्तम सिंह रघुवंशी के बेटे संजेश रघुवंशी (Sanjesh Raghuvanshi) भी पार्टनर थे। पार्टन​रशिप के तहत एक लिखित एग्रीमेंट जिला पंजीयक कार्यालय में हुआ था। लेकिन, बाद में मनीष वर्मा और युगल किशोर ने उस जमीन को खरीदने की इच्छा जताई। जिसका सौदा आठ करोड़ 80 लाख रुपए में तय किया गया। इस सौदे के लिए दूसरा अनुबंध 31 अगस्त, 2013 को दोबारा किया गया। लेकिन, आरोपियों ने एक रुपया भी उत्तम सिंह रघुवंशी और उसके बेटे संजेश रघुवंशी को नहीं दिया। बल्कि जमीन खरीदने के लिए हुए करार का उन्होंने गलत इस्तेमाल कर लिया। आरोपियों ने उस दस्तावेज के जरिए रिलायंस होम लोन कंपनी (Reliance Home Loan Company) से करीब पांच करोड़ रुपए का लोन ले लिया। इस मंजूर राशि में से आरोपियों ने डेढ़ करोड़ रुपए बैंक से ले लिए।

प्रशासन के पास नियमों के तहत बंधक प्लॉट बेच दिए

आरोपियों मनीष वर्मा और युगल किशोर की तरफ से किया जा रहा फर्जीवाड़ा (Bhopal Property Fraud) तब उजागर हुआ जब रिलायंस होम लोन कंपनी ने थुआखेड़ा की जमीन की नीलामी की सूचना प्रकाशित की। तब उत्तम सिंह रघुवंशी को पता चला कि बैंक उसे नीलाम करने जा रही है। अपनी जमीन बचाने के लिए पिता—पुत्र ने मिलकर रिलायंस होम लोन कंपनी का डिफाल्टर का पैसा भी चुकता किया। इसके बाद उन्होंने आरोपियों की जानकारी जुटाना शुरु की तो यह पूरा फर्जीवाड़ा निकलकर सामने आ गया। उत्तम सिंह रघुवंशी और उनके बेटे संजेश रघुवंशी ने जब पहली बार जमीन को डेव्हल्प करने के लिए करार किया था तब जिला प्रशासन में आवेदन लगाया गया था। उस वक्त सरकार के तय मानकों के अनुसार डेव्हल्प होने तक कुछ प्लॉट बंधक के रुप में देने थे। उन बंधक प्लॉटों को भी आरोपियों मनीष वर्मा और युगल किशोर ने फर्जी दस्तावेजों के जरिए अपना बताकर बेच दिया। पीड़ित को पता चला है कि यह प्लॉट आरोपियों ने संजय राजदान (Sanjay Rajdan) , सुरेंद्र सिंह ठाकुर (Surendra Singh Thakur) समेत अन्य को बेच दिए हैं। यह पूरी साजिश पता चलने के बाद पीडित ने पुलिस अधिकारियों से शिकायत की थी। 3555/24 धारा 406/420 (गबन और जालसाजी का प्रकरण) दर्ज कर लिया है। मामले की जांच एसआई पवन सेन कर रहे हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Property Fraud
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: मस्जिद के सामने से ई—रिक्शा चोरी
Don`t copy text!