Bhopal News: बेहोशी की दवा पिलाने के बाद बंधक बनाकर बलात्कार

Share

Bhopal News: खंडवा ले जाकर मिरेकल अस्पताल के ड्रायवर ने किया था बलात्कार

Bhopal News
सांकेतिक चित्र—साभार

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज (Bhopal News) मिसरोद इलाके से मिल रही है। यहां थाने में विदिशा से बलात्कार की एक केस डायरी आई थी। पीड़िता ने बताया कि उसको भोपाल के मिरेकल अस्पताल का ड्रायवर बेहोशी की दवा पिलाकर खंडवा ले गया था। वहां उसने बंधक बनाकर कई दिनों तक बलात्कार किया।

उसे नहीं था होश

मिसरोद थाना पुलिस के मुताबिक बजरिया इलाके में रहने वाली 29 वर्षीय महिला होशंगाबाद रोड स्थित एक मिरेकल अस्पताल में सफाई कर्मचारी है। शाहपुरा निवासी धर्मेंद्र ओसवाल (32) उसी अस्पताल में ड्रायवरी करता है। पीड़िता ने पुलिस को बताया कि 8 मई की शाम करीब चार बजे वह काम खत्म कर बैठी थी। तभी धर्मेंद्र उसके पास पहुंचा और पीने के लिए पानी दिया। पानी पीते ही उसका सिरदर्द करने लगा। वह सुपरवाइजर को बताकर घर जाने लगी। अस्पताल से निकलकर वह कुछ दूर गई थी। इसके बाद वह बेहोश होकर गिर गई। उसे जब होश आया तो वह एक कमरे में थी। रात करीब आठ बजे धर्मेंद्र खाना लेकर पहुंचा तो पूछने पर उसने बताया कि यह खंडवा के एक गांव है। इसके बाद धर्मेंद्र ने उसी कमरे में महिला को बंधक बनाकर रखा और उसका शारीरिक शोषण करता रहा।

यह भी पढ़ें: यदि आपने दोस्त बनाने के लिए इस डेटिंग एप्प को डाउनलोड किया है तो उन चेहरों के बारे में जान लीजिए जो आपके लिए मुश्किलें खड़ी करेंगी

आरोपी गिरफ्तार

Bhopal News
सांकेतिक चित्र

महिला के घर नहीं पहुंचने पर परिजनों ने बजरिया थाने में उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। करीब बारह दिनों तक बंधक रहने के बाद महिला ने धर्मेंद्र के मोबाइल से अपनी बहन से बात की। बहन ने फोन बताया कि उसकी दादी का विदिशा में निधन हो गया है। महिला ने धर्मेंद्र (Dharmendra Oswal) से कहा कि वह उसे दादी के पास लेकर चले। इस घटना की शिकायत नहीं करेगी। धर्मेंद्र महिला को लेकर विदिशा पहुंचा और उसे घर छोड़कर चला गया। पति को पूरी घटना बताई और फिर स्थानीय थाने में मुकदमा दर्ज कराया। केस डायरी भोपाल आने के बाद मिसरोद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ बेहोशी की दवा देकर, बंधक बनाने और दुष्कर्म समेत विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suspicious Death: फंदे पर लटकी मिली लाश
Don`t copy text!