Bhopal Railway Station में अफसरों ने किया Gang Rape

Share

Bhopal Railway Station Gang Rape: फेसबुक में हुई दोस्ती, नौकरी दिलाने का देते थे झांसा, शराब की बोतल भी हुई बरामद

Bhopal Railway Station Gang Rape
सांकेतिक चित्र

भोपाल। मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर एक में स्थित रुम में युवती से गैंगरेप (Bhopal Railway Station VIP Guest Room Gang Rape) की सनसनीखेज घटना हुई है। गैंगरेप करने वाले रेलवे विभाग के दो अफसर है। इनके खिलाफ भोपाल (Bhopal Gang Rape) जीआरपी पुलिस ने गैंगरेप की धारा में प्रकरण दर्ज कर लिया है। इस मामले में एक नामजद आरोपी है जबकि दूसरे संदेही को शनिवार रात पूछताछ के लिए हिरासत में ले लिया गया है।

भोपाल एक्सप्रेस से उतरी थी स्टेशन

पुलिस सूत्रों के अनुसार पीड़िता उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के महोबा इलाके की रहने वाली है। वह शनिवार दोपहर भोपाल जीआरपी पहुंची थी। उसने खुलासा किया कि उसके साथ भोपाल रेलवे स्टेशन पर दो अफसरों ने बलात्कार (Bhopal Station Officer Gang Rape) किया। यह पता चलने के बाद भोपाल एसआरपी हितेश चौधरी (SRP Bhopal Hitesh Choudhry) से लेकर तमाम आला अफसर थाने पहुंच गए। युवती के विस्तृत बयान दर्ज करने के बाद तुरंत उस कमरे में दबिश दी गई, जहां युवती के साथ गैंगरेप (Bhopal Station Gang Rape) की घटना हुई थी। इस मामले में पुलिस ने आरोपी राजेश तिवारी (Rajesh Tiwari) को हिरासत में ले लिया है। गैंगरेप की पुष्टि मेडिकल रिपोर्ट में हो गई है।

रेलवे विभाग का इंजीनियर भी शामिल

Bhopal Railway Station Officer Gang Rape
गिरफ्तार आरोपी राजेश तिवारी

युवती से मिली जानकारी के बाद गोविंद गार्डन ऐशबाग निवासी आरोपी राजेश तिवारी (Safety Councelor Rajesh Tiwari) को हिरासत में लिया गया। उसकी निशानदेही पर रेलवे के रुम से शराब की बोतल समेत कई अन्य सामग्री जब्त की गई। राजेश तिवारी ने पूछताछ में गैंगरेप की घटना को कबूल चुका है। उसने बताया कि वारदात में उसका साथ रेलवे के इंजीनियर आलोक मालवीय (Engineer Alok Malviya) भी था। आलोक मालवीय को शनिवार रात पूछताछ के लिए हिरासत में लिया गया है। राजेश तिवारी भोपाल रेलवे स्टेशन में सैफ्टी काउंसलर के पद पर था। उसकी पहचान पीड़िता से फेसबुक पर हुई थी। जिसके बाद वह उसको रेलवे में नौकरी लगाने का झांसा देता था। यह झांसा देकर उसने युवती को भोपाल स्टेशन (Bhopal Station Gang Rape) पर बुलाया था।

यह भी पढ़ें:   Crime Branch News: चोरों से बरामद माल लॉटरी निकालकर बांटेगी पुलिस!

यह भी पढ़ें: किसान आंदोलन के बीच बलराम तालाब घोटाले में फंसे वह लोग जिन्होंने स्कीम में उठाया था गलत तरीके से फायदा

विवादों में रहा है राजेश तिवारी

Bhopal Railway Station Officer गैंग Rape
पूछताछ के लिए हिरासत में आरोपी इंजीनियर आलोक मालवीय

राजेश तिवारी भोपाल शहर के लिए शुरु से ही विवादों में रहा है। उसकी नौकरी को लेकर भी सवाल खड़े होते रहे हैं। भोपाल में एक जमाने में रेलवे भर्ती बोर्ड (Bhopal Railway Recruitment Board) हुआ करता था। उस बोर्ड में कुछ साल पहले हंगामा हुआ था। जिसकी अगुवाई राजेश तिवारी ने की थी। हंगामे को शांत करने के लिए रेलवे के अफसरों ने राजेश तिवारी को मैनेज किया था। इस घटना के कुछ महीनों बाद उसकी नौकरी लग गई थी। भारतीय प्रशासनिक सेवा के एक अफसर का राजेश तिवारी मुंह भी लगा हुआ था। राजेश तिवारी को कुछ साल पहले रेलवे की सेवा से बर्खास्त कर दिया गया था। जिसे भारतीय प्रशासनिक सेवा के अफसर ने दोबारा बहाल कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। यह अफसर मध्य प्रदेश में पर्यटन, एविएशन समेत कई महत्वपूर्ण पदों पर भी तैनात रहे।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!