Covid Pandemic Scam: बारह दिन का फर्जी बिल लगाया

Share

Covid Pandemic Scam: पुष्प ट्रैवल्स कंपनी के जरिए अटैच मैंजिक वाहन के मालिक ने किया फर्जीवाड़ा

Covid Pandemic Scam
कोहेफिजा थाना, जिला भोपाल—फाइल फोटो

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज कोविड महामारी की पहली लहर के दौरान हुए बिल भुगतान में हुए फर्जीवाड़े (Covid Pandemic Scam) की है। इसकी शिकायत ट्रेवल्स संचालक ने कलेक्टर कार्यालय से की थी। जिसकी जांच के बाद मामला आपराधिक मानते हुए केस दर्ज कराने के आदेश जारी हुए हैं। आरोपी मैजिक संचालक है जिसकी गिरफ्तारी अभी होना बाकी है।

बारह हजार रुपए का फर्जीवाड़ा

कोहेफिजा थाना पुलिस ने 3 जून की दोपहर लगभग साढ़े तीन बजे धारा 420/467/468/471 (जालसाजी, दस्तोवेजों की कूटरचना, लाभ पाने के लिए कूटरचित दस्तावेज का इस्तेमाल करना) के तहत केस दर्ज किया है। शिकायत कलेक्टर कार्यालय में जितेंद्र गंगराडे (Jitendra Gangrade) ने की थी। वे कोलार स्थित पुष्प ट्रैवल्स (Pushp Travels) के संचालक है। इस ट्रैवल्स कंपनी को कोरोना की पहली लहर के दौरान अधिगृहित वाहनों के भुगतान करने की जिम्मेदारी प्रशासन की तरफ से सौंपी गई थी। आरोपी शाहजहांनाबाद निवासी प्रताप सिंह यादव (Pratap Singh Yadav) हैं। आरोपी ने 12 हजार रुपए अधिक का बिल बनाकर कलेक्टर कार्यालय से उसका भुगतान ले लिया था।

यह भी पढ़ें: यदि आपने दोस्त बनाने के लिए इस डेटिंग एप्प को डाउनलोड किया है तो उन चेहरों के बारे में जान लीजिए जो आपके लिए मुश्किलें खड़ी करेंगी

दस्तावेज थाने को सौंपे

Covid Pandemic Scam
सांकेतिक चित्र

राजधानी भोपाल का यह पहला मामला है। जिसमें कोरोना महामारी के दौरान गलत तरीके से सरकारी खजाने से पैसा ऐंठ लेने का है। शिकायत पहले एडीएम कार्यालय में की गई थी। आरोपी प्रताप सिंह यादव का वाहन 64 दिन चला था। लेकिन, उसने 12 दिन अतिरिक्त वाहन चलने के दस्तावेज बनाकर यह फर्जीवाड़ा किया गया। प्रशासन ने जांच के लिए दस्तावेज पुलिस को सौंप दिए हैं। कोरोना महामारी लहर में आपदा में फर्जीवाड़ा करके अवसर कमाने का यह पहला सरकारी मामला सामने आया है। इससे पहले कई निजी व्यक्तियों के फर्जीवाड़े उजागर हुए हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: कोरोना के चलते घर बैठना ससुर को महंगा पड़ा
Don`t copy text!