Bhopal Suicide Case : खुदकुशी के तीन संगीन तरीके

Share

Bhopal Suicide Case : तीनों मामलों से अचंभित हुई जांच करने वाली पुलिस की टीम

Bhopal Suicide Case
प्रतीकात्मक फोटो

भोपाल। अब तक आपने खुदकुशी (Bhopal Suicide Case) के सामान्य तरीके सुने होंगे। सबसे आसान तरीका फांसी (Bhopal Hanging Case) पर झूलने का है। लेकिन, तीन खुदकुशी के ऐसे मामले जिनके तरीकों से पुलिस भी हैरान है। यह तीनों घटनाएं मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। पुलिस ने तीनों मामलों में मर्ग कायम किया है। जिसमें अब तक कोई ठोस नतीजे सामने नहीं आए हैं। खुदकुशी के दो मामले कोहेफिजा तो एक मामला ईटखेड़ी थाना क्षेत्र का है।

टॉयलेट क्लीनर पीकर की खुदकुशी

कोहेफिजा इलाके में स्थित लेक पर्ल गार्डन (Lake Pearl Garden Suicide Case) निवासी 65 वर्षीय केपी एलेक्जेंडर की शनिवार को मौत हो गई। केपी एलेक्जेंडर (KP Alexzender) ने 9 जुलाई को टॉयलेट साफ करने के काम आने वाला क्लीनर पी लिया था। उन्होंने तीन दिन तक चले इलाज के दौरान दम तोड़ (Bhopal Toilet Cleaner Drink Case) दिया। शुरुआती जांच में यह बात पुलिस को पता चली है कि वह डिप्रेशन में थे। बेटा दुबई में रहता है और घर पर वह पत्नी के साथ रहते थे। पुलिस ने पीएम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।

यह भी पढ़ें : चार बेटियों की मां ने इस गम में आकर पी लिया था एसिड

केरोसिन उड़ेलकर लगाई आग

खुदकुशी का दूसरा मामला ईटखेड़ी थाना क्षेत्र का है। घटना रायपुर गांव की है। यहां रहने वाले 35 वर्षीय श्याम लाल उर्फ शिवलाल सिलावट (Shayam [email protected] Silavat) ने 9 जुलाई को केरोसिन उड़ेलकर आग लगा ली थी। प्राथमिक जांच में पुलिस को पता चला है कि शिवलाल सिलावट (Shivlal Silavat Suicide Case) मानसिक रोग से जूझ रहे थे। उनका तीन महीने से इलाज भी चल रहा था। पुलिस ने पत्नी के बयान दर्ज कर लिए है। पुलिस ने पोस्टमार्टम के बाद शव परिजनों को सौंप दिया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime News: मुकदमा दर्ज कराने पर भड़के दामाद ने एएसआई को पीटा

कारोबारी के बेटे ने की आत्महत्या

खुदकुशी का तीसरा मामला कोहेफिजा थाना क्षेत्र का है। यहां बिट्ठल नगर निवासी 27 वर्षीय आयुष अग्रवाल (Ayush Agrawal) ने खुदकुशी कर ली। आयुष अग्रवाल ने शुक्रवार शाम जहरीला पदार्थ पी लिया था। आयुष के पिता श्याम अग्रवाल (Shyam Agrawal) कपड़ा कारोबारी है। पुलिस को सुसाइड नोट नहीं मिला है। इस कारण आत्महत्या (Bhopal Poison Drink Case) के पीछे ठोस वजह का खुलासा नहीं हुआ है। पुलिस का कहना है कि आयुष अग्रवाल (Ayush Agrawal Suicide Case) के मोबाइल कॉल डिटेल के अलावा दोस्तों से पूछताछ के बाद कारण पता किए जाएंगे।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

Don`t copy text!