मध्यप्रदेश : किसानों ने बिजली बिल जमा नहीं किया तो कुर्क की संपत्ति

Share

ट्रैक्टर-ट्रॉली और बाइक पर चस्पा किए कुर्की के नोटिस

MPMKVVCL
वाहनों पर चस्पा कुर्की के आदेश

रायसेन। (Raisen) बिजली बिलों को लेकर मध्यप्रदेश में आम आदमी की परेशानी बढ़ती जा रही है। किसानों को हजारों रुपए के बिजली बिल थमा दिए गए है। ज्यादातर मामलों में बिजली कंपनी ने गलत रीडिंग के आधार पर हजारों रुपए के बिल भेजे है। जिसकी वजह से उपभोक्ताओं को परेशान होना पड़ रहा है। मध्यप्रदेश मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के इस कारनामे का खमियाजा किसान भी भुगत रहे है। रायसेन जिले के उदयपुरा (Udaipura) में तो किसानों के वाहन कुर्क कर लिए गए है।

कंपनी ने किसानों की संपत्ति कर ली कुर्क

ताजा मामला रायसेन जिले के उदयपुरा से सामने आया है। जहां किसानों के ट्रैक्टर और बाइक पर कुर्की के आदेश चस्पा कर दिए गए है। तस्वीरों में आप देख सकते है कि किस तरह बिजली कंपनी ने किसानों की संपत्ति को कुर्क कर लिया है। बताया जा रहा है कि किसानों को हजारों रुपए के बिल भेजे गए थे। जिन्हें नहीं भरा गया तो बिजली कंपनी ने उनकी चल संपत्ति ही कुर्क कर ली।

कांग्रेस हमलावर

अब इस मामले में एक बार फिर सियासत तेज हो गई है। बढ़े हुए बिजली बिलों को लेकर कांग्रेस हमेशा हमलावर रही है। कांग्रेस के प्रवक्ता सैयद जाफर ने ट्विटर पर फोटो पोस्ट करते हुए लिखा कि- ‘बिजली विभाग किसानों से बिल वसूली के लिए ट्रैक्टर और मोटरसाइकिल कुर्क कर रहा रायसेन की उदयपुरा तहसील में यही हुआ कमलनाथ जी को किसान बिजली बिल कम करने और कर्ज माफी के लिये जानते हैं और शिवराज जी को प्रदेश में विधायकों की खरीद फरोख्त के लिये ये खेल आम लोगों को पूरी तरह समझ आ गया।‘

यह भी पढ़ें:   पशुपतिनाथ समेत पांच मंदिरों में चोरी करने वाले चोर दबोचे

वहीं मीडिया सेल के चैयरमेन जीतू पटवारी ने रिट्वीट करते हुए लिखा कि- ‘शिवराज जी का शासन आ गया किसानो से बदला चालू सब्र करो शिवराज जी उपचुनाव के साथ आपकी विदाई निश्चित होगी फिर किसानो का राज आएगा’

याद आ रही कमलनाथ सरकार

बढ़े हुए बिजली बिलों को देखकर उपभोक्ताओं को कमलनाथ सरकार की याद आ रही है। बता दें कि कांग्रेस सरकार ने इंदिरा गांधी गृह ज्योति योजना लागू की थी। जिसके चलते लाखों उपभोक्ताओं का बिजली बिल महज 100 रुपए प्रति महीने आ रहा था। लेकिन सरकार बदलते ही बिजली के बिल करंट मारने लगे है।

यह भी पढ़ेंः पति को पेड़ से बांधकर महिला से गैंगरेप

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!