मध्यप्रदेश के सियासत में टाइगर के बाद हाथी, घोड़ा, चूहे, बिल्ली की एंट्री

Share

By Election MP : सौदे की सरकार है, सौदे से ही विभाग बटेंगे- Kamalnath

MP By Election
कमलनाथ, पूर्व मुख्यमंत्री

उज्जैन। मध्यप्रदेश में उपचुनाव (By Election MP) से पहले सियासी बयानबाजी तेज हो गई है। नेताओं के बयान तीखे होते जा रहे है। इसी बीच सियासत में टाइगर की एंट्री हुई। भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) और दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) पर निशाना साधते हुए खुद को टाइगर बताया था। जिसके बाद एक बार फिर प्रदेश में सियासी टाइगर जिंदा हो गया। दिग्विजय सिंह और कमलनाथ ने भी सिंधिया के बयान का अपने अंदाज में जवाब दिया। बयानों का सिलसिला चल पड़ा। इसी बीच अब मध्यप्रदेश की सियासत में टाइगर के बाद अब हाथी, घोड़ा, बिल्ली, चूहे की भी एंट्री हो गई है।

टाइगर के बाद आया था घोड़ा

मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ मंगलवार को उज्जैन पहुंचे है। उन्होंने भगवान महाकाल के दर्शन किए। कमलनाथ के इस दौरे को उपचुनाव (MP By Election) की तैयारी की शुरुआत से भी जोड़कर देखा जा रहा है। उज्जैन पहुंचे कमलनाथ ने एक बार फिर शिवराज सरकार को घेरा। कमलनाथ ने कहा कि ‘टाइगर कहने से जनता गुमराह नहीं होगी, जनता बहुत समझदार है। जानती है कौन टाइगर है, कौन हाथी है, कौन बिल्ली है, कौन चूहा है।’ इससे पहले कमलनाथ ने कहा कि था कि कई प्रकार के टाइगर होते है। कोई सर्कस का टाइगर होता है, कोई पेपर टाइगर। जैसे कई प्रकार के घोड़े होते है, शादी में नाचने वाला और रेस में दौड़ने वाला।

देखें टाइगर से जुड़े तमाम वीडियो

YouTube video

विभागों का भी सौदा होगा

वहीं मध्यप्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार के बाद अब विभागों के बंटवारे को लेकर पेंच फंस गया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान मंगलवार को दिल्ली से वापस आ गए है। भोपाल आकर उन्होंने कहा कि वो एक दिन और वर्कआउट करेंगे। जाहिर है बुधवार को ही विभागों का बंटवारा हो सकेगा। इसे लेकर भी सियासत जारी है।

यह भी पढ़ें:   Live Murder : विहिप नेता रवि विश्वकर्मा की हत्या का वीडियो वायरल

कमलनाथ ने विभागों के बंटवारे पर कहा कि ‘सौदे से सरकार बनाई थी। सौदे से ही मंत्री बने है, अब सौदे से ही विभाग बटेंगे।’

यह भी पढ़ेंः ‘भाजपा कार्यकर्ताओं ने की थी दुल्हन की हत्या, भाजयुमो में पदाधिकारी है हत्यारे’

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!