Bhopal Suicide Case: पिता से अलग रह रही बेटी ने सदमे में फांसी लगाई

Share

कुछ साल पहले मां को छोड़ चुके थे पिता, भाई और मां के साथ रहती थी नाबालिग

Bhopal Minor Suicide Case
सांकेतिक फोटो

भोपाल। (Bhopal Crime News In Hindi) गुरुवार सुबह सातवीं कक्षा की छात्रा ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। घटना मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) के मिसरोद इलाके की हैं। उस वक्त उसकी मां और भाई काम पर गए थे। उसके पास सुसाइड नोट तो नहीं मिला है, लेकिन प्राथमिक जांच में यह बात सामने आई कि उसके पिता तीन-चार साल से अलग रह रहे थे। इसी बात से वह दुखी थी।
सब इंस्पेक्टर सुरेश मिश्रा (SI Suresh Mishra) ने बताया कि पूजा अहिरवार पिता छुट्टन अहिरवार (14) ढोलक बस्ती, जाटखेड़ी में रहती थी। उसके पिता छुट्टन उर्फ राजा राजमिस्त्री का काम करते हैं और करीब तीन-चार साल से मां से अलग रह रहे है। जाटखेड़ी के ऋषि कान्वेंट स्कूल (Rishi Convent School) में कक्षा सातवीं में पढ़ने वाली पूजा मां और भाई के साथ रही रही थी। मां बंगलों पर काम करने जाती है, जबकि 15 साल का बड़ा भाई सूरज अहिरवार (Suraj Ahirwar) भी यहां-वहां काम कर घर खर्च में मां की मदद करता है। गुरुवार सुबह करीब साढ़े 6 बजे पूजा की मां काम पर चली गई। सुबह आठ बजे के आसपास सूरज ने पूजा से स्कूल छोड़ने का कहा था, लेकिन पूजा ने स्कूल जाने से इंकार कर दिया। वह कह रही थी कि कमर में दर्द है। इसके बाद सूरज काम पर चला गया। आखिरी बार पूजा मोहल्ले की सहेली के साथ देखी गई थी। वह मोहल्ले की किराना दुकान से सहेली के साथ घर लौटी थी और दरवाजा अंदर से बंद कर फांसी लगा ली। पूजा की सहेली का कहना है कि उसने किसी तरह की समस्या की उससे बात नहीं की थी।
भाई ने देखी लाश
दोपहर करीब साढ़े 12 बजे सूरज काम से लौटा तो घर का दरवाजा अंदर से बंद था। सूरज ने काफी देर तक दरवाजा खटखटाया, लेकिन अंदर से कोई भी प्रतिक्रिया नहीं हुई। सूरज दीवार लांघकर अंदर पहुंचा तो उसके होश उड़ गए। पूजा दुपट्टे का फंदा बनाकर टीन शेड की बल्ली पर फांसी लगा चुकी थी। सूचना पर पहुंची पुलिस को पूजा के पास से सुसाइड नोट नहीं मिला है। वहीं परिजन के बयान में भी आत्महत्या के कारणों का खुलासा नहीं हो सका है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime News: पंखा नहीं चलाने देती थी मकान मालकिन, लॉक डाउन में किया बेघर

अपील
www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!