Corrupt Officer : रेत माफिया से पैसा लेते एसडीओपी कैमरे में हुए कैद, एसपी ने हटाने के लिए पत्र लिखा

Share
Corrupt Officer
नोट गिनते हुए पुलिस के अफसर, जिनका वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ

सोशल मीडिया में वायरल हुआ चार मिनट का वीडियो, मामले में शामिल सिपाही को किया गया सस्पेंड, जबलपुर एसपी ने आईजी को भेजी रिपोर्ट

जबलपुर। मध्यप्रदेश में भ्रष्टाचर से जुड़ा एक वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हुआ है। करीब चार मिनट के इस वीडियो में पुलिस के एक अफसर (Corrupt Officer) नोट लेते और उसे गिनते हुए दिख रहे हैं। मामला जबलपुर जिले का है। मामला रेत परिवहन के दौरान जब्ती के वाहनों को छुड़ाने का है। यह खबर लगने के बाद जबलपुर एसपी ने एक सिपाही को सस्पेंड करने का आदेश जारी कर दिया है।

द क्राइम इन्फो सोशल मीडिया में वायरल वीडियो की पुष्टि नहीं करता है। लेकिन, वीडियो में दिख रहे अफसर जबलपुर एसडीओपी एसएन पाठक हैं। पाठक 2013 में निरीक्षक बने थे। सिवनी से उनका तबादला जबलपुर हुआ था। पाठक वीडियो में नोट (Corrupt Officer) गिनते हुए दिख रहे है। इस दौरान जो बातचीत हो रही है उसमें रेत परिवहन (Sand Transport) से जुड़े जब्त डंपरों को लेकर की जा रही है। पैसे देने वाला सिपाही देवेन्द्र जाट है जो शहपुरा थाने में तैनात है। दिनभर यह वीडियो जबलपुर में वायरल होता रहा। धीरे—धीरे यह वीडियो सोशल मीडिया के दूसरे प्लेटफार्म से पूरे प्रदेश में बंटने लगी। कई जगह राजनीतिक टिप्पणियां भी की जाने लगी।

यह है वह वीडियो जो सोशल मीडिया में वायरल हुआ तो हड़कंप मचा

YouTube video

इस मामले में एसपी जबलपुर अमित सिंह ने बताया कि सिपाही को तत्काल सस्पेंड कर दिया गया है। इसके अलावा एसडीओपी को जांच के दौरान पद से हटाने के लिए पत्र लिखा गया है। यह पत्र आईजी जबलपुर विवेक शर्मा के माध्यम से डीजीपी वीके सिंह और सरकार को भेजा जा रहा है। एसपी ने बताया कि मामले की जांच और वीडियो की सत्यता की प्रमाणिकता के लिए एएसपी स्तर के अफसर को जिम्मेदारी दी गई है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: 10 साल से सूंघ रहा था पंक्चर बनाने काम आने वाला सॉल्युशन
Don`t copy text!