Mekhla Resort Murder News: पुलिस अपने पर आए तो जमीन के भीतर से दबोच लेती है अपराधी

Share

Mekhla Resort Murder News: निर्मम हत्याकांड के बाद आधा दर्जन राज्यों में पुलिस को चकमा दे रहे शातिर कातिल को दबोचने बैंक, सायबर सेल, फिंगर प्रिंट के अलावा आधा दर्जन राज्यों के आईपीएस जुटे थे

Mekhla Resort Murder News
मध्यप्रदेश पुलिस मुख्यालय भवन- फ़ाइल फोटो

भोपाल/जबलपुर। पुलिस यदि अपने पर आए तो वह जमीन के भीतर से भी आरोपी को खोज निकालती है। यह बात हम यूं ही नहीं कर रहे। आपको याद ही होगा इसी महीने जबलपुर के मेखला रिसोर्ट (Mekhla Resort Murder News) में एक युवती की निर्मम तरीके से हत्या कर दी गई थी। इस हत्याकांड के बाद आरोपी ने ब​कायदा वीडियो वायरल करके पुलिस को चुनौती भी दी थी। वीडियो में उसने अंतिम सांस ले रही युवती का चेहरा दिखाते हुए गद्दारी करने पर ऐसी सजा मिलने की बात बोली थी। इसी आरोपी को दबोचने के लिए जबलपुर पुलिस ने ऐड़ी चोटी का जोर लगा दिया। जिसमें फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट, बैंक अधिकारियों, आधा दर्जन राज्यों के आईपीएस अधिकारियों की मदद ली गई। आरोपी को राजस्थान के अजमेर जिले से गिरफ्तार किया गया है।

ब्लैड से काट दिया था गला

जबलपुर जिले के थाना तिलवारा में 8 नवंबर 2022 को मेखला रिसार्ट में एक युवती की हत्या हुई थी। जिसकी सूचना तिलवारा टीआई लक्ष्मण सिंह झारिया (TI Laxman Singh Jhariya) को मिली थी। होटल की कैशियर अनूप वैदेही (Anoop Vaidehi) ने बताया कि 06 नवंबर की दोपहर करीब 12 बजे युवक—युवती आए थे। जिन्होंने गुजरात निवासी अभिजीत पाटीदार और राखी मिश्रा बताया था। दोनों ने तीन दिन के लिए होटल का कमरा लिया था। पहचान के लिए कैशियर के मोबाइल पर आधारकार्ड व्हाटसएप किया। उन्हें होटल के पहले फ्लोर के कमरा नंबर 05 में डबल बैडरूम किराए पर दिया गया। आरोपी ने डेढ़ हजार रूपए एडवांस दिए थे। शाम को दोनों लडका—लडकी बाहर घुमने गए। कुछ देर बाद लडका वापस आ गया। अगले दिन आरोपी ने होटल पर ही लंच किया। इसके बाद वह दोपहर लगभग 01-30 बजे घूमने चला गया। शाम को लडका और लडकी वापस होटल में लौट आए। इसके डेढ़ घंटे बाद केवल लडका बाहर घूमने चला गया। उसके बाद वह वापस नहीं आया। तिलवारा थाना पुलिस को 08 नवंबर 22 को सूचना मिली थी। क्योंकि कमरे से किसी प्रकार का कोई आर्डर नहीं आया था। कमरे का दरवाजा बंद था, इसलिए कर्मचारी पप्पू काछी ने मास्टर चाबी से कमरे का दरवाजा खोला। लडकी बिस्तर पर रजाई से ढकी हुई पडी थी। बिस्तर के चादर में खून लगा था। उसके के हाथ की कलाई और गले में कटने का निशान था। दो ब्लेड जिसमें से एक बिस्तर पर और एक फर्श पर पड़ा मिला।

फर्जी आईडी से होटल में कमरा किया था बुक

Mekhla Resort Murder News
क्राइम सीन पर एफएसएल जांच का साभार सांकेतिक चित्र

घटना की जानकारी मिलने पर जबलपुर एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा, सीएसपी बरगी प्रियंका शुक्ला, फिंगर प्रिंट निरीक्षक अखिलेश चौकसे भी मौके पर पहुंचे। आरोपी ने होटल में जो आधार आईडी अभिजीत पाटीदार और राखी शर्मा की दी थी वह फेक पाई गई। लड़की की पहचान उसके एटीएम और बैंक डिटेल मिलने के कारण शिल्पा झारिया पिता गुलाब प्रसाद झारिया उम्र 21 साल के रूप में हुई। वह जबलपुर के कुंडम स्थित भोका इलाके में रहती थी। आरोपी अभिजीत पाटीदार ने मृतका का नाम पता छुपाकर फेक आईडी देकर मेखला रिसार्ट होटल (Mekhla Resort Hotel) में ठहरा था। यह साफ होने के बाद तिलवारा थाना पुलिस ने 9 नवंबर को 424/22 धारा 302/201 हत्या और सबूत मिटाने का मामला दर्ज किया। इस मामले में एडीजी जबलपुर जोन उमेश जोगा और डीआईजी जबलपुर रेंज आरआर सिंह परिहार के मार्गदर्शन में एक टीम बनाई गई। जिसकी निगरानी करने की जिम्मेदारी एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा को सौंपी गई। यह एसआईटी एएसपी ग्रामीण शिवेश सिंह बघेल, सीएसपी बरगी प्रिंयका शुक्ला के नेतृत्व में जांच में जुट गई। आरोपी की तलाश के लिए पुलिस टीमें नागपुर, गुजरात, बिहार और राजस्थान भेजी गई थी ।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide News: सीनियर छात्र की छेड़छाड़ से तंग होकर किशोरी ने दी थी जान

पुराना शातिर अपराधी निकला

आरोपी अभिजीत पाटीदार (Abhijit Patidar) का जबलपुर के कोतवाली थाने में जालसाजी का मुकदमा दर्ज हुआ था। हालांकि उस वक्त भी आरोपी ने अपना गलत नाम—पता लिखाया था। इस कारण फिंगर प्रिंट निरीक्षक अखिलेश चौकसे ने मर्डर (Mekhla Resort Murder News) स्पॉट पर मिले चांस फिंगर प्रिंट को नेफिस सिस्टम में डालकर उसकी सर्चिंग की। फिर पता चला कि उसके खिलाफ महाराष्ट्र में नासिक जिले में लूटपाट का मामला दर्ज है। यहां दर्ज प्रकरण से अभिजीत पाटीदार का असली नाम सामने आया। उसका नाम हेमंत भदाणे पिता राजेन्द्र भदाणे उम्र 29 साल है। वह नासिक के राधाकृष्ण नगर में रहता था। हेमंत भदाणे (Hemant Bhadade) आदतन मोटर सायकिल चोर था। जिसके खिलाफ महाराष्ट्र में कुल 37 अपराध दर्ज थे।

बैंक से सिर्फ 20 हजार रूपए निकालता था

Mekhla Resort Murder News
पत्रकारवार्ता में जानकारी देते हुए एसपी सिद्धार्थ बहुगुणा।

घटना वाले दिन वह टैक्सी लेकर भागा था। पुलिस ने टेक्सी ड्रायवर से पूछताछ की तो उसने बताया कि  आरोपी ने 07 नवंबर को लखनादौन जाते समय रास्ते में एटीएम से रकम निकाली थी। इसकी जानकारी बैंक से ली गई। वह एटीएम शिल्पा झारिया (Shilpa Jhariya) का था जिससे अभिजीत पाटीदार उर्फ हेमंत अदाणे पैसा निकाल रहा था। आरोपी लगातार अपना ठिकाना बदल रहा था। वह 10 दिनों में लगभग चार हजार किलोमीटर एक राज्य से दूसरे राज्य भागता रहा। इस दौरान वह एटीएम से सिर्फ 20 हजार रूपए प्रतिदिन निकालता था। ऐसा करते वक्त पीछा करने वाली टीम में एसआई अभिषेक कैथवास, सिपाही हरि सिंह, एएसआई धनंजय सिंह, मृदुलेश शर्मा, हवलदार शेषनारायण, सिपाही मुकुल गौतम, मुकेश परिहार समेत लगे थे। सबसे पहले टीम नागपुर फिर वहां से बिहार भेजी गई। इसके बाद गुजरात के सूरत शहर में एसआई अनिल गौर, हवलदार सुग्रीव तिवारी, सिपाही अरविन्द बालाराम की भी मदद ली गई थी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Theft News: 24 घटों में तलैया इलाके के दो मकानों पर चोरों का धावा

अजमेर एसपी ने कराई सख्त नाकाबंदी तब दबोचा

इसके अलावा जबलपुर पुलिस चण्डीगढ में एसआई रजनीश मिश्रा, सिपाही त्रिलोक, हरि सिंह, अभिदीप भट्टाचार्य और आनंद यादव की भी मदद ली थी। एसआई रजनीश मिश्रा की टीम ने आरोपी (Mekhla Resort Murder News) के रिवाड़ी हरियाणा, उना हिमाचल प्रदेश, चण्डीगढ और राजस्थान के अलवर,  अजमेर और सिरोही शहर में चार दिनों तक पीछा करते हुए करीब साढ़े तीन हजार किलोमीटर की यात्रा भी की। इस पड़ताल में चंडीगढ़ एसपी मृदुल, पंजाब के मनंदिर सिंह, बिहार के काम्या मिश्रा और महाराष्ट्र के श्रैनिक लोधा ने जबलपुर पुलिस की काफी मदद की थी। आरोपी की आखिरी लोकेशन 17 नवंबर की सुबह 08 बजे अजमेर के एटीएम में मिली। अजमेर एसपी चूनाराम ने दूसरे आईपीएस अधिकारी सुमीत मेहरडा को तत्काल सक्रिय होने के लिए बोला। एसडीओपी अजमेर विजय सिंह (SDOP Ajmer Vijay Singh) के नेतृत्व में टीम ने आरोपी को दबोच लिया।

बैंक अधिकारी कर रहे थे मदद

सीसीटीवी फुटेज चैक करते हुये आरोपी की जानकारी ली गई। आऱोपी के बस में बैठकर अजमेर से बाहर जाने की जानकारी लगी। इस कारण थाना सवरूपागंज में सघन वाहन चैकिंग लगाई गई। सवरूपागंज थाना प्रभारी हरिसिंह राजपूत (TI Harisingh Rajput) ने आरोपी को 18 नवंबर को हिरासत में ले लिया। उसने अपना नाम हेमंत भदाणे बताया। उसने बताया कि वह शिल्पा झारिया से प्रेम करता था। शिल्पा के व्हाट्सएप में अन्य पुरूष के साथ फोटो देखने पर चरित्र पर वह शंका करने लगा। उसे समझाने का काफी प्रयास किया। शिल्पा झारिया से वह जब भी मोबाइल पर बातचीत करने का प्रयास करता था तो वह व्यस्त बताता था। पुलिस ने आरोपी के कब्जे से शिल्पा झारिया का मोबाईल, एटीएम कार्ड, चैन, कान की बाली के अलावा नगदी 1 लाख 52 हजार 450 रूपये जब्त किए। इस पड़ताल में बैंक ऑफ महाराष्ट्र के जोनल हैड ओमकार कुमार और सीनियर मैनेजर अभिषेक जैसवाल ने पुलिस की काफी मदद की थी।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Mekhla Resort Murder News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!