रंग लाई समाजसेवी विकास तिवारी की मुहिम, दिग्विजय के ट्वीट से जागी सरकार, बच्ची को मिला जीवनदान

Share

बच्ची के सिर में पड़ गए कीड़े, सीएम शिवराज के संज्ञान के बाद डॉक्टरों ने ली सुध

Ramabai Guna
इलाज मिलने के बाद बच्ची

गुना। मध्यप्रदेश के गुना (Guna) में एक डेढ़ साल की मासूम पर बड़ी मुसीबत आ गई है। गंभीर बीमारी से ग्रस्त बच्ची के सिर में कीड़े पड़ गए है। शुरुआती इलाज में बरती गई लापरवाही की वजह से मर्ज बढ़ता गया। लेकिन ट्विटर पर उठाई गई आवाज से मासूम को जीवनदान मिला है। अब बच्ची की जिंदगी बचाने के प्रयास किए जा रहे है। सबसे पहले 18 अगस्त को राष्ट्रीय मानव अधिकार एवं अपराध नियंत्रण ब्यूरो के अध्यक्ष  विकास तिवारी (Vikas Tiwari) ने ट्विटर पर बच्ची का फोटो डालते हुए मदद की गुहार लगाई थी। तिवारी ने अस्पताल पहुंचकर बच्ची को बेहतर इलाज दिलाने के सक्षम प्रयास किए।  तिवारी के इस ट्वीट को 22 अगस्त को कांग्रेस सांसद दिग्विजय सिंह (Digvijaya Singh) ने रिट्वीट किया। जिसके बाद सरकार जागी है।

विकास तिवारी का ट्वीट

18 अगस्त को विकास तिवारी गुना जिला अस्पताल पहुंचे थे। उन्होंने बच्ची की बीमारी की जानकारी देते हुए लिखा था कि- ‘ बच्ची के सिर में कीड़े पड़ गए हैं, बच्ची दिन रात तड़प तड़प कर रोती रहती है, उसके इलाज की कोई व्यवस्था नहीं है, गरीब परिवार है, गुना जिले के सरकारी चिकित्सालय में सर्जिकल वार्ड बेड नं 3 पर थी प्राथमिक इलाज के बाद छुट्टी दे दी गई, कृपया मदद करें।’

दिग्विजय ने भोपाल बुलाया

विकास तिवारी के ट्वीट को दिग्विजय सिंह ने रिट्वीट करते हुए इलाज कराने की बात कही थी। 22 अगस्त को दिग्विजय सिंह ने लिखा कि- गुना ज़िला चिकित्सालय में यदि यह हालात हैं तो हम सब के लिए चिंता का विषय है। यदि इस बच्ची के माता पिता चाहें तो भोपाल में मेरे कार्यालय में सम्पर्क करें। मैं इलाज करवाउँगा।

यह भी पढ़ें:   क्रिमिनल की डायरी ने खत्म किया पॉलिटिकिल कैरियर

सीएम शिवराज ने लिया संज्ञान

आज मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने बच्ची का इलाज कराए जाने की सूचना दी है। सीएम ने ट्वीट करते हुए लिखा कि- नन्ही गुड़िया का इलाज हो रहा है। किसी को चिंतित और परेशान होने की जरूरत नहीं है। चिकित्सा के साथ उसकी समुचित देखभाल की जा रही है। आप सब उसको अपनी शुभकामनाएं और आशीर्वाद दीजिए कि वह शीघ्र स्वस्थ हो!

विकास तिवारी से बातचीत

Ramabai Guna
इलाज मिलने से पहले मां के साथ बच्ची

समाजसेवी विकास तिवारी से द क्राइम इन्फो ने बात की। तिवारी ने बताया कि बच्ची रमाबाई बेहद गरीब परिवार की है। उसकी मां अनसुइया की मानसिक स्थिति ठीक नहीं है, वो गुना जिले के कुंभराज कस्बे की रहने वाली है। बच्ची का पिता घर छोड़कर भाग चुका है, लिहाजा ससुराल पक्ष ने भी अनसुइया और बच्ची को बेसहारा छोड़ दिया है। ऐसे में इस बीमार रमाबाई का इलाज कौन कराता ? तबियत ज्यादा बिगड़ने पर जब अनसुइया, बच्ची को लेकर अस्पताल पहुंची तो इलाज नहीं मिला। खानापूर्ती के लिए उसे भर्ती तो कर लिया गया, लेकिन किसी डॉक्टर ने बच्ची को देखने की भी जहमत नहीं उठाई। तिवारी बताते है कि जब वे अस्पताल पहुंचे तो उन्होंने देखा कि बच्ची के बेड़ पर ही मल- मूत्र पड़ा हुआ था। जिसके बाद उन्होंने डॉक्टरों से शिकायत की। तब जाकर सफाई हो सकी।

चाहकर भी मदद नहीं ले सके

विकास तिवारी ने जब सोशल मीडिया पर मदद की गुहार लगाई तो कई मददगार सामने आए। तिवारी बताते है कि कई लोगों ने उनसे अकाउंट नंबर मांगा, ताकि वे मदद पहुंचा सके। लेकिन बच्ची की मां का कोई बैंक खाता ही नहीं है। लिहाजा जरूरत होने पर भी मदद ले न सके।

यह भी पढ़ें:   राहुल गांधी ने भी ट्वीट किया वीडियो, ट्विटर पर ट्रेंड हो रहा #Guna

यह भी पढ़ेंः ट्रिपल तलाक पर सीएम शिवराज नाराज, डीजीपी से की बात

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!