नाबालिग के यौन शोषण का आरोपी आबकारी आधिकारी बर्खास्त

Share

शिवराज कैबिनेट की बैठक, कई अहम फैसले

Pankaj Jain Terminate
कैबिनेट बैठक लेते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

भोपाल। 17 साल की नाबालिग का यौन शोषण करने वाले आबकारी अधिकारी को बर्खास्त कर दिया गया है। आरोपों को गंभीर मानते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आबकारी अधिकारी की सेवाएं ही समाप्त कर दी (Pankaj Jain Terminate) । बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में ये फैसला लिया गया। गृह मंत्री नरोत्तम मिश्रा ने कैबिनेट ब्रीफ्रिंग में फैसले की जानकारी दी। आरोपी आबकारी सब इंस्पेक्टर पंकज जैन (Excise Sub Inspector Pankaj Jain) को उज्जैन के एक होटल से गिरफ्तार किया गया था। बर्खास्त सब इंस्पेक्टर पर घरेलू कामकाज करने वाली 17 वर्षीय लड़की का यौन शोषण करने का आरोप है। अश्लील वीडियो बनाकर नाबालिग को ब्लैकमेल करने का भी गंभीर आरोप है। पुलिस ने आरोपी के खिलाफ पास्को एक्ट के तहत बलात्कार का मामला दर्ज किया है।

स्वतंत्रता दिवस पर नहीं होंगे कार्यक्रम

कोरोना महामारी के चलते कैबिनेट ने स्वतंत्रता दिवस के संबंध में बड़ा फैसला लिया है। इस बार 15 अगस्त पर सार्वजनिक कार्यक्रम नहीं किए जाएंगे। भोपाल में मुख्यमंत्री और मंत्रियों के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाएंगे। जिलों में अधिकारी कार्यक्रम को संपन्न कराएंगे। इस मौके पर कोई परेड या कार्यक्रम नहीं होंगे। मुख्यमंत्री का भाषण लाइव होगा।

पुलिस वालों के परिजन को अनुकंपा नियुक्ति

आपदा के दौरान ड्यूटी में शहीद हुए उज्जैन के टीआई यशवंत पाल की बेटी फाल्गुनी पाल और इंदौर के निरीक्षक देवेंन्द्र चंद्रवंशी की पत्नी सुषमा चंद्रवंशी को उप निरीक्षक पद पर अनुकंपा नियुक्ति के प्रस्ताव को कैबिनेट ने मंजूरी दे दी।

मुआवजे की राशि बढ़ाई

सरकार ने सफाईकर्मी की मृत्यु पर दी जाने वाली बीमा राशि बढ़ाकर दोगुना कर दी है। सफाईकर्मी की सामान्य मृत्यु होने पर 50 हजार रुपए के बजाय अब उसके परिजनों को 1 लाख रुपए की राशि मिलेगी। इसी तरह दुर्घटना में मृत्यु होने पर अभी 1 लाख रुपए मिलते थे जिसे बढ़ाकर 2 लाख रुपए कर दिया है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Cheating Case: कोर्ट की फटकार के बाद जागी कोतवाली

50 लाख रुपए मुआवजा

मप्र सरकार ने कोविड योद्धा कल्याण योजना के तहत अभी तक 20 लोगों को 10 करोड़ रुपए की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई है। सरकार ने तय किया था कि यदि कोरोना आपदा में ड्यूटी करते हुए किसी भी सरकारी कर्मचारी, अधिकारी की मृत्यु होती है तो उसके परिजनों को 50 लाख रूपए की आर्थिक सहायता दी जाएगी

यह भी पढ़ेंः देखिए कोरोना मरीजों की धमाचौकड़ी, चिरायु अस्पताल की छत पर नाच रहे

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!