बच्चों की मौत का आंकड़ा 11 पर पहुंचा, शहडोल जाएगा कांग्रेस का जांच दल

Share

कमलनाथ बोले- खानापूर्ति कर रही सरकार

Shahdol Hospital
जिला अस्पताल, शहडोल, फाइल फोटो

शहडोल। मध्यप्रदेश के शहडोल (Shahdol) जिला अस्पताल में बच्चों की मौत का आंकड़ा बढ़ता ही जा रहा है। 48 घंटों में 8 बच्चों की मौत से मचे हड़कंप के बाद सरकार ने जांच कराने की बात कही थी। जिसके बाद 3 और बच्चों की मौत हो गई है। दुखद मौतों पर कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने सरकार को घेरा है। वहीं स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी डॉक्टर्स का बचाव करते नजर आए। उन्होंने मीडिया से कहा की किसी भी स्तर पर लापरवाही नहीं बरती गई है। डॉक्टर्स ने बच्चों को बचाने की पूरी कोशिश की थी, लेकिन हालत ज्यादा बिगड़ने की वजह से बच्चों को बचाया नहीं जा सका। जानकारी के मुताबिक शुक्रवार को सामने आए तीन मामलों में एक बच्चा प्री मैच्योर था, एक बच्ची निमोनिया से पीड़ित थी। वहीं 7 माह का राजकुमार कोल निमोनिया और ब्रेन फीवर से पीड़ित था। वहीं रितिका जायसवाल नाम की एक माह की बच्ची भी निमोनिया से पीड़ित थी।

कमलनाथ का ट्वीट

‘शहडोल में मासूम बच्चों की मौत का आँकड़ा निरंतर बढ़ता जा रहा है। अभी तक 11 मासूम बच्चों की मौत हो चुकी है ? सरकार का रवैया बेहद उदासीन। जाँच दल भेजने के नाम पर सिर्फ़ खानापूर्ति व लीपापोती की गयी। मुख्यमंत्री की पाँच दिन पूर्व की गयी समीक्षा बैठक व निर्देश के बावजूद मासूम बच्चों की मौत का आँकड़ा नहीं थम रहा है।‘

‘बच्चों के समुचित इलाज के ना प्रबंध किये गये और ना आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराये गये। कांग्रेस का जाँच दल शहडोल भेजने का निर्णय , जो मौक़े पर जाकर पीड़ित पक्षों से मुलाक़ात कर अपनी रिपोर्ट देगा।’

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide: नाबालिग समेत चार लोगों की संदिग्ध परिस्थिति में मौत

यह भी पढ़ेंः मुठभेड़ में मारा गया साइको किलर, 5 पुलिसकर्मी घायल

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!