मध्यप्रदेश : मुठभेड़ में मारा गया साइको किलर, 5 पुलिसकर्मी घायल

Share

रतलाम ट्रिपल मर्डर केस का मुख्य आरोपी था दिलीप देवल

दिलीप देवल, मारा गया आरोपी

रतलाम। (Ratlam Triple Murder Case) मध्यप्रदेश के रतलाम में हुए ट्रिपल मर्डर केस के मास्टर माइंड को पुलिस ने मार गिराया। पुलिस मुठभेड़ में आरोपी दिलीप देवल (Dilip Deval) मारा गया। इस दौरान पांच पुलिसकर्मी भी घायल हुए है। दिलीप देवल साइको किलर था। वो गुजरात के दाहोद का रहने वाला था और 6 लोगों की हत्याओं का आरोपी था। लूट के लिए दिलीप लोगों की हत्या कर देता था। रतलाम में उसने अपने साथियों के साथ पति, पत्नी और बेटी को मौत के घाट उतार दिया था। तीनों के सिर में गोली मारी थी। एनकाउंटर के बाद सीएम शिवराज के ट्वीट्स भी आए है।

सीएम शिवराज ने लिखा..

अभी थोड़ी देर पहले रतलाम ट्रिपल मर्डर केस का मुख्य आरोपी दिलीप देवल पुलिस के साथ मुठभेड़ में मारा गया।

मैंने पुलिस को सख़्त निर्देश दिए थे की ऐसे नरपिशाच को समाज में रहने का कोई अधिकार नहीं है। उसे जल्द से जल्द पकड़ा जाए।

जब पुलिस टीम उसे पकड़ने गयी तो उसने टीम पर गोलियाँ चलाई और हमारे बहादुर जवानों ने उसका मुंहतोड़ जवाब दिया।

हमारे कुछ पुलिसकर्मी इस मुठभेड़ में घायल भी हुए है। मैं उनके शीघ्रातिशीघ्र ठीक होने की कामना करता हूँ।

पूरी पुलिस टीम को मध्यप्रदेश की तरफ़ से धन्यवाद।

मध्यप्रदेश आज फिर से शांति से सोएगा क्योंकि आप हमारे रक्षक हो।

जय हिंद!

ऐसे दिया था वारदात को अंजाम

आरोपियों ने 25 नवंबर की शाम 8 बजे के करीब वारदात को अंजाम दिया था। दिलीप और उसके 2 साथी राजीव नगर इलाके में रहने वाले गोविंदराम सोलंकी के घर में दाखिल हुए। हॉल में गोविंदराम की पत्नी शारदा सोलंकी टीवी देख रही थी। दिलीप ने पहले उसके सिर में गोली मारी। गोली की आवाज सुनकर शारदा की बेटी दिव्या अंदर वाले कमरे से बाहर आती तो उसके सिर में भी गोली मार दी। जिसके बाद आरोपियों ने घर में रखी नगदी और जेवर लूटे और भागने लगे।

यह भी पढ़ें:   Benazir College के प्रोफेसर और छात्रों के खिलाफ मुकदमा दर्ज

पटाखों की आवाज में गुम हो गई गूंज

आरोपियों ने प्लानिंग के तहत वारदात को अंजाम देने के लिए देवउठनी ग्यारस का दिन चुना था। ताकि गोली की आवाज पटाखों के शोर में गुम हो जाए। मां बेटी कि हत्या और लूट करके जब आरोपी भाग रहे थे, उसी वक़्त गोविंदराम घर पहुंचे। उन्हें आरोपियों ने घर में घुसते ही गोली मार दी।

स्कूटी लेकर भागे थे

दिलीप देवल का एक साथी स्कूटी लेकर गली के बाहर इंतजार कर रहा था। दिलीप ने भी दिव्या की स्कूटी उठा ली। जिसके बाद दो स्कूटी पर सवार होकर चारो आरोपी मौके से भाग निकले थे। पुलिस ने आरोपियों पार 10-10 हजार का इनाम रखा था। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक दिलीप को जानकारी मिली थी गोविंदराम ने कोई जमीन बेची है। जिसका पैसा उसके घर में रखा है, जबकि ऐसा नहीं था। गोविंदराम एक सैलून कि दुकान पर काम करता थे।

Don`t copy text!