‘मंदसौर में किसानों की छाती पर गोली मारकर भी उपवास पर बैठे थे सीएम शिवराज’

Share

भाजपा के मौन धरने पर कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी का तीखा वार

MP By Election
मौन धरना देते भाजपा नेता, दूसरी तस्वीर विधायक कुणाल चौधरी

भोपाल। मध्यप्रदेश की महिला एवं बाल विकास मंत्री इमरती देवी (Imarti Devi) पर आपत्तिजनक टिप्पणी को भारतीय जनता पार्टी ने उपचुनाव (MP By Election) का मुद्दा बना लिया है। यहीं वजह है कि आज पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ (Kamalnath) के खिलाफ भाजपा नेताओं ने अलग-अलग शहरों में मौन धरना दिया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल में, भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा ग्वालियर में और राज्यसभा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया इंदौर में धरने पर बैठे। भाजपा का आरोप है कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने इमरती देवी को आइटम कहा है। इमरती देवी के खिलाफ अर्मयादित टिप्पणी की है। जिसके लिए उन्हें माफी मांगनी चाहिए। सीएम शिवराज ने कांग्रेस अध्यक्षा सोनिया गांधी को भी पत्र लिखा है। इससे पहले इमरती देवी ने सोनिया गांधी से मांग की थी कि वें कमलनाथ को पार्टी से बाहर करें।

कांग्रेस की तीखी प्रतिक्रिया

भाजपा के इस मौन प्रदर्शन को कांग्रेस ने ढ़ोंग बताया है। युवा कांग्रेस अध्यक्ष और विधायक कुणाल चौधरी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि- ‘याद हैं… मंदसौर में किसानों कि छाती पर गोली मारने के बाद भी शिवराज जी उपवास पर बैठे थे.. उल्टा चोर कोतवाल को डांटे की तर्ज पर ‘ मामा ‘ ने भाजपा में नई परंपरा शुरू की है..पहले गलती करो, फिर ढोंग करों।’

वहीं इस मामले में कमलनाथ का बयान भी सामने आ गया है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उन्होंने कहा है कि कांग्रेस छोड़ बागी हुए नेताओं को आइटम कहा था। भाजपा मुद्दा बनाकर भुनाना चाहती है, लेकिन वे भाजपा की पोल खोलते रहेंगे।

यह भी पढ़ें:   सीएम शिवराज ने किसके इशारे पर दोबारा पड़वाए प्रद्युम्न से पैर

गलतबयानी बनी मुद्दा

मध्यप्रदेश में उपचुनाव की तारीख जैसे-जैसे पास आ रही है। नेताओं के बीच जुबानी जंग तेज होती जा रही है। कांग्रेस नेताओं की गलतबयानी को भाजपा मुद्दा बनाने से नहीं छोड़ रही। इससे पहले किसान कांग्रेस नेता दिनेश गुर्जर के बयान को भाजपा ने मुद्दा बनाया था। गुर्जर ने अशोकनगर में एक सभा को संबोधित करते हुए सीएम शिवराज को भूखे-नंगे परिवार का बता दिया था।

यह भी पढ़ेंः कमलनाथ को बाहरी बताने में जुटी भाजपा

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!