Jabalpur Kidnapping Case : बच्चे के पिता और अपहरणकर्ता की बातचीत का ऑडियो वायरल

Share

सुनिए आदित्य को मौत के घाट उतारने से पहले दरिंदें ने क्या कहा था

Jabalpur Kidnapping Case
आदित्य, मृतक

जबलपुर। मध्यप्रदेश के जबलपुर (Jabalpur) में 13 साल के बच्चे की अपहरण (Kidnapping) के बाद हत्या (Murder) कर दी गई। खनन कारोबारी मुकेश लांबा (Mukesh Lamba) के बेटे आदित्य (Aditya Lamba) का शव नहर से बरामद हुआ था। आदित्य का अपहरण उसके पिता मुकेश के परिचितों ने ही किया था। लिहाजा आदित्य ने आरोपियों को पहचान लिया था। यहीं उसकी हत्या का कारण भी बन गया। पहचान उजागर होने के डर से अपहरणकर्ताओं ने उसे मौत के घाट उतार दिया था। मामले में 3 अपहरणकर्ताओं को पुलिस ने गिरफ्तार किया था। मुख्य आरोपी राहुल उर्फ सोनू की पुलिस कस्टडी में मौत हो चुकी है। राहुल की तबियत अचानक बिगड़ गई थी, उसे अस्पताल ले जाया गया। जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

अपहरणकर्ताओं ने मांगे थे 2 करोड़

Jabalpur Kidnapping Case
पुलिस गिरफ्त में आरोपी

मुकेश लांबा और मुख्य आरोपी राहुल उर्फ सोनू के बीच हुई बातचीत के दो ऑडियो सामने आए है। 3-3 मिनट के ऑडियो में बच्चे के पिता और अपहरणकर्ता के बीच हुई बातचीत को सुना जा सकता है। हालांकि द क्राइम इन्फो इस ऑडियो की पुष्टि नहीं करता। पुलिस ने तीन आरोपितों अधारताल महाराजपुर जबलपुर निवासी मास्टर माइंड राहुल उर्फ मोनू विश्वकर्मा (30), मलय राय (25) और करण जग्गी (24) को गिरफ्तार किया है। इस दौरान अपहरण के मुख्य आरोपित मोनू विश्वकर्मा की मौत हो गई। गिरफ्तारी के बाद पुलिस ने अधारताल चौराहे से तीनों आरोपितों का जुलूस निकाला था।

बिस्किट और चिप्स लेने गया था आदित्य

धनवंतरी नगर में रहने वाला आदित्य 15 अक्टूबर की शाम घर के पास की ही दुकान से बिस्किट और चिप्स लेने गया था। जिसके बाद से वो घर नहीं लौटा। घात लगाए बैठे आरोपियों ने उसे अपहृत कर लिया था। जिसके बाद आरोपी राहुल ने आदित्य की मां को फोन कर 2 करोड़ रुपए फिरौती मांगी थी। पीड़ित परिवार ने 16 अक्टूबर को अपहरणकर्ताओं तक 8 लाख रुपए भेज भी दिए थे। पुलिस ने आरोपियों ने करीब साढ़े सात लाख रुपए बरामद भी किए है।

सुनिए पूरी बातचीत

YouTube video

ऑडियो-1

बच्चे के पिता- हैलो..हैलो..

किडनैपर- जी हां..हैलो..

बच्चे के पिता- हां जी भैय्या..

किडनैपर- बहुत-बहुत धन्यवाद आपको…आपने पुलिस कंप्लेंट कर दी और अच्छी खासी इंवेस्टिगेशन चल रही है..

बच्चे के पिता- क्या हो गया..

किडनैपर- जी बहुत बहुत धन्यवाद दे रहा हूं मैं आपको कि आपने पुलिस कंप्लेंट कर दी और अच्छी खासी इंवेस्टिगेशन चल रही है..

बच्चे के पिता- नहीं भैय्या, हमने कोई पुलिस कंप्लेंट नहीं की भैय्या..

किडनैपर- अरे सरकार हम लोग तो इतने भी गवार तो हैं नहीं कि पेपर भी नहीं पढ़ते..हां

बच्चे के पिता- नहीं भैय्या, कोई कंप्लेंट नहीं की भैय्या..

बकिडनैपर- जी देखिए, अब आप भी पेपर पढ़ते होंगे..हम भी पेपर पढ़ते हैं..

बच्चे के पिता- नहीं हमने कोई पुलिस कंप्लेंट नहीं की मेरे भाई..मैं क्यों पुलिस कंप्लेंट करूंगा जब आपसे बात हो गई थी तो..

 

किडनैपर- जब हमसे बात हो गई थी तो पुलिस को जानकारी कहां से लगी..

बच्चे के पिता- मेरे को नहीं पता कि कैसे पुलिस के पास जानकारी चली गई..

किडनैपर- अब पुलिस तो हमको ढूंढ रही है..आप बताइये हम क्या करें…

बच्चे के पिता- जैसा आप बोलो, कहां आना है..कैसा क्या करना है मैं तो तैयार हूं..

यह भी पढ़ें:   झाड़-फूंक के नाम पर तांत्रिक ने दो सगी बहनों को कर दिया गर्भवती

किडनैपर- आपने पैसों की व्यवस्था की..

बच्चे के पिता- हां थोड़े बहुत पैसे की व्यवस्था हो गई है भैय्या..

किडनैपर- कितने की

बच्चे के पिता- हैं दो तीन लाख रुपए..

किडनैपर- अरे हमने आपको दो करोड़ रुपए के लिए बोला है और आप दो-तीन लाख रुपए की व्यवस्था कर रहे हो..लगता है आपको अपने बच्चे की जान की बिल्कुल परवाह नहीं है..

बच्चे के पिता- मैं लगा हूं भैय्या..धीरे-धीरे लगा हूं..

किडनैपर- अरे पुलिस कंप्लेंट की आपने..

बच्चे के पिता- नहीं भैय्या मैंने कोई पुलिस कंप्लेंट नहीं की..

बकिडनैपर- आप पैसे भी जमा नहीं कर पा रहे..खैर छोड़िए..

बच्चे के पिता- नहीं अभी हमको थोड़ा सा टाइम और दे दीजिए..

किडनैपर- हम बच्चे को बोल देंगे कि आपके पापा आपको प्यार नहीं करते..

बच्चे के पिता- नहीं थोड़ा सा टाइम और दे दो मेरे को मैं लगा हूं जुगाड़ में..

किडनैपर- पहली चीज..टाइम आपको कितना चाहिए पहले आप ये बताइये..

बच्चे के पिता- एक-दो घंटे तो दो भैय्या..एक दो लोगों को बोलूंगा जब तो व्यवस्था बनेगी..

किडनैपर- तो चलिए हमने आपको 1 बजे तक का टाइम दिया पहली चीज..और दूसरी चीज ये समझ लीजिए..पहले ही हम बताए दे रहे हैं कि हम लोग हैं जिंदगी से तबाह लोग..हमें हमारी जान की बिल्कुल भी परवाह नहीं है..हम आपको ये गारंटी दे सकते हैं कि अगर हमें जरा भी खरोंच आई तो आपके बेटे की जान चली जाएगी..अब आप समझ लीजिए..

बच्चे के पिता- नहीं भैय्या, मैं पुलिस को कोई खबर नहीं दूंगा..मैं लगा हूं पूरी जुगाड़ में लगा हूं…आना कहां है ये बता दीजिए आप मुझे तो..

किडनैपर- देखिए हम जहां भी हैं..आप जब पैसे देने आएंगे तो आपको पता चल जाएगा…और

बच्चे के पिता- एक बार बेटे से बात करा दोगे क्या आप..

किडनैपर-आपने पुलिस से कनेक्टिविटी बना ली थी..

बच्चे के पिता- नहीं मैंने कोई कनेक्टिविटी नहीं बनाई भैय्या..

किडनैपर- मेरी बात सुनिए, अभी हमने जो कॉल किया है हमारा ये कॉल ट्रेस हो रहा है ये भी हमें पता है..तो अब आप ये समझिए कि आपको पुलिस से दूरी कैसे बनाकर रखनी है..और पैसे तो हम लेंगे तो हम बताते हैं..ठीक है..

बच्चे के पिता- जी..जी..एक बार बेटे से तो बात कराओ..

किडनैपर- सुनिए..सुनिए..बच्चे से आपकी बात हम 12 बजे करा देंगे..क्योंकि अब क्या है न कि दिक्कत आपने ये कर दी कि अब बच्चे से बात कराना मुश्किल इसलिए हो गया क्योंकि कंप्लेंट हो गई..अब बच्चे को ज्यादा देर हम बाहर रख नहीं सकते..

बच्चे के पिता- भैय्या, मोहल्ले वालों में से किसी ने बता दिया होगा..मैंने कोई कंप्लेंट नहीं की..

किडनैपर- सुनिए हमने इतनी सफाई से काम किया था कि मोहल्ले में किसी को भी खबर तक नहीं लगी..चलिए हम रख रहे हैं ज्यादा देर हम आपसे बात नहीं कर सकते..

ऑडियो- 2

बच्चे के पिता- हां भैय्या नमस्कार..

किडनैपर- हां भैय्या..तो हो गई भैय्या व्यवस्था..

पिता- भैय्या व्यवस्था तो हो जाएगी पर आपने बहुत बड़ी डिमांड रखी है, थोड़ा मेहरबानी करो न आप, क्या अमाउंट बहुत बड़ा है इतना कहां से करुंगा, समझ सकते हैं कि सामान्य आदमी कहां से कर पाएगा इतना, औकात हो तो करें भैय्या, मिल जुलकर भी नहीं कर पाएंगे इतना बड़ा अमाउंट..तो थोड़ा मेहबानी करो भैय्या..

किडनैपर- आपके पास व्यवस्था कितने की हो गई है..

यह भी पढ़ें:   Bhopal Molestation Case: स्विगी के डिलेवरी ब्यॉय का ऐसा दिल आया

पिता- अरे हमारे पास व्यवस्था क्या भैय्या, गुड़ा भाग करके भी 8-10 लाख रुपए इकहट्ठे कर पाएं हैं अभी..

किडनैपर- देखो 8-10 में तो कुछ नहीं हो पाएगा…आपको दो बोला था हमें कम से कम एक करोड़ तो चाहिए..

पिता- थोड़ा देखो न भैय्या, एक करोड़ बहुत होता है भैय्या, बहुत हो जाता है..थोड़ा मेहरबानी करो..आप भी परिवारवाले होगे..आपके भी भाई बहन होंगे..हम लोग भी परिवार वाले हैं..समझा करो..होता तो देने में क्या दिक्कत थी निकालने में..है ही नहीं तो फिर कहां से दें..दिक्कत ये है न..इतने कम समय में हम लोग बड़ी दिक्कत से ये

इतना पैसा हमने इकहट्ठा किया..मेहरबानी करके इतनी..

ररकिडनैपर- सुनो हमारी बात..हम लोग बहुत गंदा पैसा..लेकिन हम लोग कुछ कर नहीं सकते..हम क्या बोलें..

पिता- नहीं हम आपसे निवेदन ही कर सकते हैं..हाथ जोड़कर प्रार्थना कर सकते हैं..आप यही समझ लो कि आप परिवार के आदमी हो..इतनी मेहरबानी करो..पैसा हम दे देंगे आप जहां कहोगे आप..

किडनैपर..यही बात थी तो आपने सबसे बड़ी गलती की पुलिस कंप्लेंट करके..

पिता- नहीं भैय्या हमारी तरफ से कोई कंप्लेंट नहीं हुई और न ही हमने पेपरबाजी की..हम क्या बताएं आपको..

किडनैपर- नहीं नहीं आपने आज का *** पढ़ा होगा..

पिता- अरे तो ये न्यूज पेपर वाले कहां कुछ सुनते हैं..दुनियाभर में..हम लोगों ने कुछ..हम लोग तो वैसे ही परेशान हैं..

किडनैपर- ठीक है..ठीक है वो छोड़ो..हमारी सुनो..

पिता- आप आदेश करें..हमारा पैसा रखा इतना..आप बताएं कहां हैं हम आकर आपको दे देते हैं..हमें कोई दिक्कत नहीं..हमसे जितना हो सकता है न हमने इकहट्ठा करके रख लिया है..

बबच्चे की आवाज- पापा भैय्या लोगों के पास आओगे तो पुलिस के साथ मत आना..

पिता- नहीं..नहीं बेटा बिल्कुल नहीं आएंगे..नहीं..नहीं बिल्कुल चिंता नहीं करो..हमको तुम्हारी चिंता ज्यादा है..हमारे पास इतना पैसा रखा है भैय्या बताओ कहां भेज दें..तुरंत भेज देंगे हम..हमको हमारा लड़का दे दो…

किडनैपर- हम शाम को आपको..जहां भी आना होगा सिहोरा साइड..हम आपको बता देंगे..

ुपिता- आप बता देना हम अकेले आएंगे..आपको पैसा दे देंगे जितना हमने बोला..

किडनैपर- और आप सुनिए एक्टिवा में आइएगा..

पिपिता- एक्टिवा में..सिहोरा तक एक्टिवा में कैसे आएंगे…

किडनैपर..और एक्टिवा का नंबर हमको मैसेज कर दीजिएगा जो भी उसका नंबर है..

पिता- एक्टिवा का नंबर..

किडनैपर- ठीक है..अकेले आइएगा..

पिता- अकेले आएंगे भैय्या..

किडनैपर- और व्यवस्था कम से कम एक की (एक करोड़ की) कर लीजिएगा..

पिता- भैय्या एक (एक करोड़) की व्यवस्था नहीं हो पाएगी इतनी जल्दी..हमारी, हमारी मजबूरी तो समझिए आप..हमारे पास होता तो हम आपको उतना तुरत दे देते..देखो हमने आपके कहने पर इतना व्यवस्था कर दिए..हमने हाथ पैर सब मार लिए..तब इतना कर सके, जी तोड़ मेहनत करके..

किडनैपर- चलिए सुनिए, ज्यादा से ज्यादा की व्यवस्था करिए..ज्यादा समय हमारे पास है नहीं..नहीं तो हो सकता है कि डिलेवरी कल हो..अगर आपको आज डिलेवरी चाहिए तो आप ज्यादा से ज्यादा व्यवस्था करिए..

पिता- भैय्या हमारे पास इतनी हुई है हम एक दो और जितना कर सकते हैं कर लेते हैं..

किडनैपर- नहीं एक- दो (एक-दो लाख) से काम होगा नहीं..

पिता- नहीं इतना कहां..देखिए इतना कहां…हम झूठ बोलेंगे नहीं आपसे..हम जितनी कोशिश कर सकते हैं उतनी कर रहे हैं..

किडनैपर- आप झूठ नहीं बोल रहे लेकिन हमारा समय खत्म हो रहा है..ठीक है..आप व्यवस्था करिए..

—-

 

Don`t copy text!