MP By Election: कमल नाथ के ‘आइटम’ पर भाजपा का ‘मौन’

Share

MP By Election: विवादित बयानों को बिहार और बंगाल के आम चुनाव में भुनाने भाजपा की रणनीति

MP By Election
मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में स्थित मिंटो हॉल में मौन व्रत करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

भोपाल। मध्य प्रदेश में 28 विधानसभा क्षेत्रों में उप चुनाव हैं। इस उप चुनाव में भूखे—नंगे, चुन्नू—मुन्नू, रावण, कौवा के बाद ‘आइटम’ शब्द ने तहलका मचा दिया है। इस शब्द का इस्तेमाल पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ (Former CM Kamal Nath Disputed Word) ने रविवार को आयोजित डबरा (Dabra By Election) में किया था। जिसके बाद भारतीय जनता पार्टी (MP BJP) ने बिना देरी किए इस विवादित बयान को लपक लिया और इसको राष्ट्रीय मुद्दा बना दिया। इस आइटम शब्द पर भारतीय जनता पार्टी ने गांधीगिरी तरीका अपनाते हुए सोमवार को दो घंटे का ‘मौन’ (BJP Silent Protest) रखा। भाजपा का केंद्रीय नेतृत्व इसको बिहार और बंगाल चुनाव (MP By Election) तक खींचकर ले जाना चाहता है। इसी विवादित बयानों के साथ कांग्रेस के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह (EX CM Digvijay Singh) और राहुल सिंह (Rahul Singh) के पुराने विवादित बयान भी दिनभर सोशल मीडिया में वायरल होते रहे।

यह कहा था कमल नाथ ने

MP By Election
सभा को संबोधित करते कमलनाथ-File Photo

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ डबरा विधानसभा के कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राज (Suresh Raj) के समर्थन में रैली में बोल रहे थे। यहां से भाजपा ने इमरती देवी (Imarati Devi) को अपना उम्मीदवार बनाया है। इमरती देवी पहले कांग्रेस में थी और भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) खेमे से आती है। कमल नाथ ने मंच से संबोधित करते हुए कहा ‘हमारे उम्मीदवार सीधे—सरल स्वभाव के हैं, यह तो करेंगे यह उसके जैसे नहीं हैं। मैं क्या उसका नाम लूं…आप तो मेरे से ज्यादा पहचानते हैं…आपको तो मुझे पहले ही सावधान कर देना चाहिए था…यह क्या आइटम है’। लगभग एक मिनट से अधिक का यह वीडियो पूरे सोशल मीडिया में रविवार को ही वायरल हो गया। भाजपा ने इस बयान को मौका समझकर लपक लिया और कमल नाथ समेत पूरी कांग्रेस को घेर लिया।

यह भी पढ़ें: सरकारी विभाग को कर्जदार बनाकर खुद मालामाल हो गया यह बैंक मैनेजर

यह भी पढ़ें:   Bhopal Crime: महिला ने उधारी मांगी तो हमला किया

इमरती देवी फूट—फूटकर रोई

MP By Election
इमरती देवी, मंत्री, मध्यप्रदेश, फाइल फोटो

पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने मंच से कोई नाम नहीं लिया था। लेकिन, इशारा भाजपा की तरफ से प्रत्याशी इमरती देवी के लिए था। इस बयान के बाद इमरती देवी ने मीडिया से कहा कि मैंने हमेशा कमल नाथ के पैर पड़े। उन्हें बड़ा भाई मानकर आचरण किया। लेकिन, उन्होंने जिस तरह से नारी शक्ति का अपमान किया हैं उसके बाद सम्मान को उन्होंने मेरी नजरों के सामने खो दिया है। इमरती देवी ने कहा मैं पूछना चाहती हूं कि इस मामले में सोनिया गांधी (Soniya Gandhi) और प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) जवाब दे। यह बयान​ किसी नारी शक्ति के सम्मान के लिए न्यायोचित था।

यह भी पढ़ें: इस कांग्रेसी नेता ने थ्री स्टार के लिए ऐसा किया घोटाला

सिंधिया ने कमल नाथ और दिग्विजय दोनों को घेरा

MP By Election
ज्योतिरादित्य सिंधिया, सांसद, फाइल फोटो

बयान के खिलाफ मध्य प्रदेश (MP By Election) के कई शहरों में भाजपा ने मौन व्रत रखा। मध्य प्रदेश के मिंटो हॉल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chouhan) धरने पर बैठे। वहीं ग्वालियर में केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर (Narendra Singh Tomar) ने मोर्चा संभाला। जबकि इंदौर में भाजपा सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने मौन व्रत रखा। सिंधिया ने कहा कि मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विज​य सिंह मंदसौर कांग्रेस नेता मीनाक्षी नटराजन (Meenakshi Natrajan) को लेकर विवादित बयान दे चुके हैं। मैं उन शब्दों का यहां इस्तेमाल नहीं करना चाहता। इसी तरह राहुल सिंह इमरती देवी को जलेबी बाई बोलते हैं। अब कमल नाथ ने इमरती देवी को लेकर जो बयान दिया हैं वह नारी शक्ति के प्रति कांग्रेस पार्टी के नजरिए को दिखाता है।

यह भी पढ़ें: भाजपा जब सिंधिया का हार पहनाकर स्वाग​त कर रही थी तब मुख्यमंत्री रहते कमल नाथ ऐसा कर रहे थे

नवरात्र पर ऐसा बयान यह नारी शक्ति का अपमान

MP By Election
भाजपा प्रवक्ता दुर्गेश केसवानी-File Photo

इधर, भाजपा प्रवक्ता दुर्गेश केसवानी (Durgesh Keswani) ने कहा कि नारी शक्ति को आयटम कहकर संबोधित करना है राजनीतिक मर्यादा के प्रतिकूल नहीं हैं। वह भी तब जब नवरात्र जैसा पर्व चल रहा हो। इस दौरान हम देवी को पूजते हैं और उनकी आराधना करते हैं। उस वक्त यह कहना ठीक नहीं हैं। भारतीय संस्कृति में नारी का विशेष महत्व रहा है। जिसको दरकिनार करके पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने भाजपा उम्मीदवार इमरती देवी के प्रति सोच को उजागर किया है। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा समेत कई अन्य नेताओं ने भी इन बयानों के खिलाफ अपना आक्रोश जताते हुए बयान जारी किए हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Court News: बलात्कार के मामले में मामा—भांजे दोषी करार

नाम याद नहीं आ रहा था इसलिए बोला

MP By Election
ग्वालियर में मौन रखे केंद्रीय मंत्री नरेन्द्र सिंह तोमर

भाजपा के निशाने पर आने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने सोमवार को फिर बयान जारी किया। उन्होंने किसी तरह की माफी न मांगते हुए कहा कि ‘इस मामले को भाजपा मुद्दा (MP By Election) बना रही हैं। मैं किसी का अपमान नहीं करता। हमेशा पोल खोलता हूं। मुझे नाम याद नहीं आ रहा था इसलिए आयटम कह दिया।’ इधर, पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि नारी और दलित सम्मान की बात करने वाली भाजपा हाथरस पर जवाब नहीं देती। वहीं बयानों को ज्यादा तवज्जो नहीं मिली और नेशनल मीडिया में कमल नाथ चर्चा का विषय बन गए।

रविवार को आयोजित रैली में पूर्व मुख्यमंत्री कमल नाथ ने यह बोलकर मचा दिया घमासान

YouTube video

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!