Bhopal Cheating News: पार्टनर बनाने के लिए निरस्त लीज को दिखाकर धोखा दिया

Share

Bhopal Cheating News: कभी शहर में इस बीयर के कारण लिकर कारोबारी के रूप में थी पहचान, बिल्डर को दिया धोखा

Bhopal Cheating News

भोपाल। मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल के दो बड़े कारोबारियों का विवाद (Bhopal Cheating News) पुलिस अफसरों के दफ्तर से गुजरकर थाने पहुँचा है। इसमें एक आरोपी रमेश चन्द्र बच्चानी (Ramesh Chandra Bachchani) है जो कभी खजुराहो बीयर के कारण पहचाने जाते थे। उनके ही एमपी नगर स्थित शनि बार में दूसरे बड़े कारोबारी राकेश मलिक का दफ्तर हुआ करता था। दोनों के बीच इंडस्ट्रियल एरिया की जमीन में पार्टनर बनाने का करार हुआ था। बदले में करीब सवा दो करोड़ रुपए का लेनदेन भी हुआ था। एफआईआर एमपी नगर थाने में दर्ज कराई गई है।

टीआई बोले अफसरों से पूछो

सीआई हुंडई कार शोरूम के संचालक राकेश मलिक हैं। उनका बिल्डर का भी कारोबार है। उनके साथ सवा दो करोड़ रुपए की धोखाधड़ी हुई है। आरोपी फैक्ट्री संचालक रमेश चंद्र बच्चनी है। आरोप है कि उन्होंने उनसे फर्म में पार्टनर बनाने के नाम पर यह रकम ऐंठ ली थी। पुलिस ने आरोपी फैक्ट्री संचालक रमेशचंद्र बच्चानी के खिलाफ धोखाधड़ी, अमानत में खयानत (Bhopal Beach Of Trust) का केस दर्ज किया है। मामले में कई तरह के पेंच है। जिसके संबंध में टीआई एमपी नगर सूर्यकांत अवस्थी (TI Suryakant Avasthi) ने बताया कि शिकायत आला अफसरों से हुई थी। अभी जांच के बाद ही कोई आधिकारिक प्रतिक्रिया दी जा सकती है।

यह भी पढ़े : इस खूबसूरत हसीना के जाल में न जाने कितने फंसे

6 करोड़ का था एग्रीमेंट

पुलिस के मुताबिक, ५७ वर्षीय राकेश मलिक (Rakesh Malik) ई-४ अरेरा कालोनी में रहते हैैं। मालवीय नगर निवासी आरोपी रमेशचंद्र बच्चानी की गोविंदपुरा औद्योगिक क्षेत्र में यश पेटेक्यूब नाम से प्लास्टिक की बोतल व ढक्कन बनाने की फैक्ट्री थी। उन्होंने यह जमीन उद्योग विभाग से लीज पर ली थी। वर्ष २०१९ में रमेशचंद्र की मुलाकात राकेश मलिक से हुई। रमेशचंद्र ने अपनी फर्म में राकेश को पार्टनर बनाने का आफर दिया। एक अप्रैल २०१९ को उनके बीच ६ करोड़ रुपए में अनुबंध हुआ।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Dowry Case: कर्जदारों से बचने के लिए पत्नी से मांगा दहेज

दो महीने में हो गई जांच

Bhopal Cheating News
File Image

अनुबंध के तहत राकेश ने वर्ष २०१९-२० में रमेशचंद्र को चेक के माध्यम से २.११ करोड़ रुपए दिए। इसके बाद रमेशचंद्र आगे की लिखा-पढ़ी में आनाकानी करने लगे। इस दौरान राकेश को पता लगा कि उद्योग विभाग ने अगस्त, २०१८ में ही उक्त जमीन की लीज खत्म कर दी है। इसका खुलासा होने पर राकेश ने रमेशचंद्र से अपनी रकम वापस मांगी। लेकिन उन्होंने नहीं लौटाई। इसके बाद जनवरी, २०२१ में इसकी शिकायत पुलिस से की। पुलिस ने शिकायती आवेदन की जांच के दो माह बाद आरोपी रमेशचंद्र बच्चानी के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। फिलहाल आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 और 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!