Bhopal: लॉकडाउन ने मरने को किया मजबूर, फिर एक शख्स फांसी पर झूला

Share

कोरोनाबंदी ने छीन लिया रोजगार, आर्थिक तंगी बनी आत्महत्या की वजह

Bhopal Hanging Case
सांकेतिक फोटो

भोपाल। कोरोना महामारी के प्रकोप से निपटने सरकार ने लॉक डाउन (Lock Down News) लगाया था। यह लॉक डाउन तीन महीने तक चला। लेकिन, मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल में हालात नहीं सुधरे। इस कारण दोबारा दस दिन का लॉक डाउन लगाया गया। बार—बार के लॉकडाउन ने आम आदमी की कमर तोड़ (Bhopal Hanging Case) दी है। बुरा हाल रोज कमाने और खाने वालों का है। लोग घरों से निकलने में घबरा रहे है। जिसके चलते काम नहीं मिल रहा है। ऐसा ही एक मामला मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल (Bhopal Suicide Case) से सामने आया है। यहां एक शख्स ने आर्थिक तंगी के चलते आत्महत्या कर ली है। कोरोनाबंदी में उसका रोजगार छीन गया था। घटना स्थल से कोई सुसाइड नोट (MP Suicide Case) बरामद नहीं हुआ है।

यह भी पढ़ें: पहले पिता फिल मां और अब बेटा फंदे पर झूला जानिए क्यू

थानों के वाहन करता था साफ

शाहपुरा थाना पुलिस ने बताया कि बाबू उर्फ गया प्रसाद पंचौले (Babu @ Gaya Prasad) पिता तोता राम उम्र 50 साल का था। बाबू वास्तू शिल्प अपार्टमेंट त्रिलंगा में रहता था। शादी के बाद उसके दो बेटे हैं। बाबू का एक बेटा मुंबई में नौकरी करता है। वहीं दूसरा बेटा विकलांग है। विकलांग बेटा बुटीक पर काम करता है। बाबू गाड़ियां साफ करने का काम करता था। लॉक डाउन में यह काम भी छीन गया था। वह शाहपुरा थाने में कभी कभार दो—चार गाड़िया साफ कर देता था। जिससे कुछ पैसे मिल जाया करते थे।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Murder Case: कांग्रेस नेता का पति हत्या के आरोप में गिरफ्तार

दिन में खाया खाना

परिजनों ने बताया बाबू ने गुरूवार दोपहर एक—डेढ़ बजे खाना खाया था। इसके बाद वह तीन बजे घर में टहल रहा था। पत्नी काम की तलाश में घर से बाहर गई थी। जब चार बजे घर लौटी तो देखा बाबू गमछे का फंदा बनाकर पंखे से लटका ([email protected] Prasad Hanging Case) था। चीख—पुकार सुनकर पड़ोसी जमा हो गए थे। तब तक उसकी मौत (Bhopal Suicide Case) हो चुकी थी। पुलिस ने शव पोस्टमार्टम के बाद परिजनों को सौंप दिया है। उसके पास से किसी तरह का कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं हुआ है। परिवार शोकाकुल होने के कारण किसी के बयान दर्ज नहीं हो सके हैं।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

Don`t copy text!