Bhopal NIFT News: खाली हॉस्टल में वार्डन को रहने किया मजबूर

Share

Bhopal NIFT News: डायरेक्टर का कहा नहीं माना तो दूसरे डिपार्टमेंट में कर दिया था तबादला

Bhopal NIFT News
नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी— साभार

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की ताजा न्यूज एमपी नगर इलाके से मिल रही है। यहां नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ फैशन टेक्नोलॉजी (Bhopal NIFT News) के डायरेक्टर कर्नल सुब्रतो विश्वास पर सैक्सुअल हैरासमेंट का आरोप लगा है। यह आरोपी निफ्ट की महिला वार्डन ने लगाया है। उसका आरोप है कि कोरोना के चलते खाली गर्ल्स हॉस्टल में डायरेक्टर बुलाते थे। वे बुरी नीयत से उसको छूने का प्रयास करते थे। इस बात की शिकायत उसने निफ्ट के डीजी से ​लिखित में की है।

बहाने से बुलाते थे हॉस्टल

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार इस संबंध में शिकायत 20 मई को की गई है। यह शिकायत 28 मई को सोशल मीडिया के जरिए वायरल हो गई थी। पीड़िता का कहना है कि निफ्ट के डायरेक्टर कर्नल सुब्रतो विश्वास (Cornell Subroto Vishwash ) का दिसंबर, 2020 में तबादला हुआ है। वे कोलकाता (Kolkata) से भोपाल भेजे गए हैं। यहां उन्हें मकान में रहना था। लेकिन, वे संस्थान के गर्ल्स हॉस्टल में ही एक कमरे में रहते हैं। संस्थान में कोरोना महामारी के चलते छात्राएं और सुरक्षाकर्मी भी नहीं है। पीड़िता की निफ्ट में वार्डन पोस्ट पर नियुक्ति हुई थी। वह हॉस्टल के नजदीक मकान में ही रहती है। उसका कहना है कि विश्वास उसे फोन करके बहाने से बुलाते थे। उससे कहा जाता था कि वह हॉस्टल में ही रहे।

यह भी पढ़ें: यदि आपने दोस्त बनाने के लिए इस डेटिंग एप्प को डाउनलोड किया है तो उन चेहरों के बारे में जान लीजिए जो आपके लिए मुश्किलें खड़ी करेंगी

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide Case: खुदकुशी का पता चलते ही दुल्हन को उसके मां—बाप ले गए

तबादले पर फंस सकते हैं

Bhopal NIFT News
सांकेतिक चित्र—साभार

वार्डन का दावा है कि जब डायरेक्टर का उसने कहा नहीं माना तो उसका प्रशासनिक एचआर में तबादला कर दिया गया। फिर वहां से हटाकर टैक्सटाइल अकादमी में भेज दिया गया। अखिल सहाय से शिकायत होने पर उसे नियमानुसार बताया गया। फिर विश्वास से पूछा गया तो उन्होंने कहा कि पुरानी बातों को भूलकर रात में हॉस्टल में रहने आ जाओ। इस कारण अब पीड़िता ने शिकायत डीजी शांतमनु (DG Shantmanu) से की है। उन्होंने बयान दिया है कि मामले को बोर्ड मेंबर के सामने रखा जाएगा। इसके अलावा आंतरिक परिवाद समिति मामले की जांच करेगी। वहीं कर्नल सुब्रतो विश्वास ने आरोप झूठे बताकर ट्रांसफर के कारण शिकायत करने का दावा किया है। उल्लेखनीय है कि इससे पहले भी यहां के तत्कालीन ज्वाइंट डायरेक्टर बसंत कोठारी (Basant Kothari) विवादों में आए थे। उन्हें जांच के बाद बर्खास्त किया गया था।

Don`t copy text!