Bhopal Minor Gang Rape : पेट दर्द के बाद खुला गैंगरेप का राज

Share

Bhopal Minor Gang Rape : झांसा देकर प्रेमी और उसके दोस्त ने की थी ज्यादती, मौसी की मदद से थाने पहुंची नाबालिग

Ratlam Gang Rape and Murder Case
सांकेतिक फोटो

भोपाल। शादी पार्टी में काम करने वाली एक मजदूर महिला की नाबालिग बेटी के साथ सामूहिक गैंगरेप (Bhopal Minor gang Rape) का मामला सामने आया है। मुख्य आरोपी भी शादी पार्टी में काम करता था। वह नाबालिग को पार्टियों में काम दिलाने का झांसा देकर बलात्कार (Bhopal Minor Girl Rape case) करता था। यह खबर उसके दोस्त को भी थी। एक दिन उसने भी उसके साथ ज्यादती की थी। घटना मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की है। यह पूरा मामला नाबालिग की मौसी की बदौलत सामने आया है। इस मामले में अभी आरोपी की गिरफ्तारी होना शेष है।

शादियों में करती है काम

टीलाजमालपुरा थाना पुलिस ने बताया 16 वर्षीय नाबालिग बच्ची थाना क्षेत्र की रहने वाली है। नाबालिग की मां शादी—पार्टियों में काम करती है। नाबालिग अक्सर मां के साथ काम पर जाया करती थी। तीन साल पहले काम के दौरान बच्ची की मुलाकात सागर रैकवार (Sagar Rekwar) से हुई थी। सागर रैकवार हबीबगंज स्थित श्याम नगर का रहने वाला है। सागर भी शादियों में लाईट लगाने का काम करता था। सागर ने बच्ची की मां और उसकी बेटी को नंबर दिया था। उसने काम मिलने पर बुलाने का झांसा दिया था। सागर की मदद से मां और उसकी नाबालिग बेटी को कई काम भी मिले थे। इस कारण नाबालिग की सागर रैकवार से अच्छी दोस्ती हो गई थी। वह पीड़िता के घर आने—जाने लगा।

धमकाकर करता था गलत काम

परिजनों ने बताया बच्ची घर में अकेली थी उसी बीच सागर घर आया और उसके बच्ची को डरा धमकाकर उसके साथ बलात्कार किया। सागर की हरकत से बच्ची डर गई थी। उसने उसे जान से मारने की धमकी देकर ऐसा कई बार करने लगा। आरोपी तीन साल से गलत काम कर रहा था। वह बच्ची को घुमाने भी ले जाया करता था। सागर उसी बीच दोस्त जफर के घर ले गया था। जफर के घर छोड़ बच्ची को सागर किसी कमरे का इंतजाम करने गया। मौका पाकर जफर (Jafar By Minor Girl Rape Case) ने भी बच्ची के साथ गलत काम को अंजाम दिया। जफर ने भी बच्ची को धमकी दी थी कि वह यदि किसी से कहेगी तो मार डालेगा।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Suicide Case: व्यापारी ने लगाई फांसी

घर से हुई लापता, परिजनों को नहीं होश

परिजनों ने बताया इसी बीच बच्ची 10—12 दिन पहले घर से लापता हो गई। सागर उसको लेकर किसी कमरे में रह रहा था। इसी बीच बच्ची को पेट में दर्द शुरू हुआ। सागर बच्ची को लेकर प्रायवेट अस्पताल पहुंच था। जहां इलाज के बाद डॉक्टरों ने बताया कि वह गर्भवती (Minor Girl Pregnant Case) है। सागर ने डॉक्टरों से बच्चा गिराने की दवाई भी मांगी। लेकिन, डॉक्टरों ने इससे इंकार कर दिया। सागर इसके बाद बच्ची को और भी दो—तीन अस्पतालों में लेकर गया था। सभी अस्पताल वालों ने उसको मना कर दिया। बच्ची की मौसी जो पुतली घर में रहने वाली थी वहां छोड़कर सागर भाग गया। मौसी ने बच्ची से पेट दर्द की वजह पूछी तो बच्ची ने गर्भवती होने वाली बात मौसी को बताई।

मौसी ने दी परिजनों को सूचना

बच्ची ने मौसी को सारा घटनाक्रम बताया। तब जाकर मौसी ने बच्ची के परिजनों को बच्ची की जानकारी दी। बच्ची की हालत खराब होने के कारण उसे परिजनों ने सुलतानिया अस्पताल में भर्ती कराया है। इधर परिजनों ने टीलाजमालपुरा थाने पहुंचकर आरोपी सागर रैकवार और जफर के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया है। पुलिस ने धारा 376/2एन,376डी/506/5जे,5एल,5 पोक्सो एक्ट बलात्कार, बलात्कार के दौरान गर्भवती होना और पोक्सो एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज कर लिया है।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Madhya Pradesh Crime: कपड़ा व्यापारी को मारपीट करके लूटा

 

Don`t copy text!