Fake Gift Voucher Scam: तनिष्क ज्वैलर्स के कर्मचारी ने मालिक को लगाई 15 लाख की चपत

Share

Fake Gift Voucher Scam: दोस्तों की मदद से तैयार कर लिए थे फर्जी गिफ्ट वाउचर

Fake Gift Voucher Scam
भोपाल सायबर सेल में गिरफ्तार संचित अग्रवाल बीच में जो तनिष्क शोरुम का कर्मचारी था

भोपाल। मध्य प्रदेश (MP Cyber Crime News) की राजधानी में स्थित भोपाल (Bhopal Cyber Crime News) सायबर सेल की भोपाल यूनिट ने एक हाईटेक गिरोह का भंड़ाफोड़ (Fake Gift Voucher Scam) किया है। इस गिरोह का मास्टर माइंड तनिष्क ज्वैलर्स शोरुम (Tanishq Jewels Gift Voucher Case) का कर्मचारी है। वह अपने दोस्तों की मदद से कंपनी के फर्जी गिफ्ट वाउचर (Gift Voucher Fraud) बनाने का काम करता था। इसके बदले में वह अलग—अलग शोरुम से सोने के जेवरात उपहार के बताकर ले जाता था। यह गिरोह देशभर के पांच शोरुम में वारदात करने पहुंचा ​था। जिसमें से तीन शोरुम में वह कामयाब रहा। पुलिस ने धोखाधड़ी (Bhopal Cyber Fraud Case) के इस मामले में तीन व्यक्तियों को गिरफ्तार कर लिया है। बाकी अन्य की तलाश की जा रही है।

कोड नंबर की जानकारी करता था लीक

एसपी भोपाल सायबर सेल डॉक्टर गुरुकरन सिंह (SP Doctor Gurukaran Singh) ने बताया कि इस मामले में 24 जुलाई को तनिष्क ज्वैलर्स के मैनेजर ने मुकदमा दर्ज कराया था। आरोपी 23 जुलाई को रोशनपुरा स्थित शोरुम में पहुंचकर गिफ्ट वाउचर खुलने का झांसा देकर करीब साढ़े सात लाख रुपए के जेवर ले गए थे। इस मामले में तकनीकी जांच की गई तो प्रकरण धोखाधड़ी का पाया गया। मामला दर्ज कर गिफ्ट वाउचर से संबंधित जांच की गई। जांच के दौरान कुछ सुराग पुलिस को मिले। आरोपियों ने गिफ्ट वाउचर के लिए फर्जी आधार कार्ड भी बनाए थे।

यह लोग हुए गिरफ्तार

Fake Gift Voucher Scam
आरोपियों से बरामद माल की जानकारी देते एसपी गुरुकरन सिंह

भोपाल सायबर सेल (Bhopal Cyber Crime News) यूनिट ने इस मामले में संत रविदास नगर उत्तर प्रदेश निवासी अजीत कुमार (Ajit Kumar Mourya) पिता रामचंद्र मौर्य उम्र 19 साल, वाराणसी उत्तर प्रदेश निवासी संचित अग्रवाल (Sanchit Agrawal) पिता दिलीप अग्रवाल उम्र 27 साल और विकार्स मौर्या (Vikas Mourya) पिता भरत लाल मौर्या उम्र 23 साल को गिरफ्तार किया गया है। अजीत और विकास रिश्तेदार हैं जो कि संचित अग्रवाल को पहचानते हैं। संचित ​तनिष्क शोरुम (Tanishq Employee Fraud Case) में नौकरी करता है। संचित ने ही गिफ्ट वाउचर के सीरियल नंबर लीक किए थे। जिसको बदलकर फर्जी गिफ्ट वाउचर बनाए गए थे।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Court News: जालसाज गिरोह के दो साथियों को जेल भेजा

यह भी पढ़ें: इस एप्प की आड़ में करता था जालसाज ऐसी जालसाजी

शोरुम वालों की गलती

आरोपियों ने पूछताछ में बताया कि रांची और सुल्तानपुर के अलावा भोपाल में वे कामयाब रहे। वहीं दो अन्य जगह यह कामयाबी नहीं मिल सकी। पुलिस को इस मामले में वाउचर प्रिं​ट करने वाले व्यक्ति की तलाश है। आरोपियों ने बताया कि इन वारदातों के बाद वे गुजरात और महाराष्ट्र के शोरुम में वारदात करने वाले थे। इस मामले में एसपी डॉक्टर गुरुकरन सिंह ने कहा कि शोरुम संचालक गिफ्ट वाउचर को सीक्रेट करने की कोशिश करें। गिफ्ट वाउचर की जांच को दूसरे तरीके से भी परीक्षण करें। ताकि धोखाधड़ी की घटनाओं पर रोक लगाई जा सके।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!