Bhopal Cop Achievement: हत्या करके हाथ—पैर बांधकर अलमारी में पैक कर दिया

Share

Bhopal Cop Achievement: पति की जुबानी दूसरी पत्नी के हत्या करने की सनसनीखेज कहानी

Bhopal Cop Achievement
अयोध्या नगर थाने में गिरफ्तार आरोपी गोपाल मेहरा

भोपाल। पत्नी साथ नहीं रहती थी। पति ने काफी मनाया। जब वह नहीं मानी तो पति ने वह किया जिसे उसने भी नहीं सोचा था। घटना मध्य प्रदेश (MP Crime News) की राजधानी भोपाल (Bhopal Crime News) की है। यह घटना महिला की हत्या (Bhopal Woman Murder Case) से जुड़ी है। महिला की पहले पहचान नहीं हुई थी। जब कातिल मिला तो उसने चौंका देने वाला खुलासा (Bhopal Cop Achievement) किया। जिस महिला की हत्या हुई वह उसकी दूसरी पत्नी थी।

यह था मामला

अयोध्या नगर थाना क्षेत्र स्थित ओल्ड मीनाल में 23 जुलाई को एक महिला (Old Minal Body Found) की लाश मिली थी। यह लाश दुर्गंध आने पर सबसे पहले संदीप कुशवाह (Sandip Kushwah) ने देखी थी। लाश सीढ़ी के नीचे थी जिसका चेहरा चादर से ढका हुआ था। लाश दो से तीन दिन पुरानी थी। पीएम रिपोर्ट में पता चला कि उसकी उसकी हत्या (Bhopal Killing Case) की गई है। जिसके बाद पुलिस ने हत्या (Bhopal Murder Case) का मुकदमा दर्ज किया।

ऐसे मिला सुराग

पुलिस ने सीसीटीवी फुटेज की मदद से आरोपी की तलाश शुरु की। फुटेज में संदेही गोपाल मेहरा (Gopal Mehra) दिखाई दिया। उसको 25 जुलाई को तलाशने के बाद हिरासत में लिया गया। उसने बताया कि महिला उसकी दूसरी पत्नी दुर्गा (Durga Murder Case) है। उसने हत्या करना कबूला और बताया कि उसकी हत्या के बाद हाथ—पैर बांधकर अलमारी में रख दिया था। हत्या (Bhopal Wife Killing Case) की वजह बताई कि वह आठ महीने से उसके साथ नहीं रह रही थी। वह उससे हमेशा पैसे मांगती थी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Cheating Case: सरदार दोस्त मोहम्मद खान के रिश्तेदारों से ठगी!

यह भी पढ़ें : कोरोना काल में हर कोई दहशत में हैं लेकिन चिरायु अस्पताल की छत में देखकर ऐसा नहीं लगता

लोन दिलाने के नाम पर फर्जीवाड़ा वाला गिरफ्तार

Bhopal Cop Achievement
फर्जी लोन दिलाने वाले गिरोह का फरार चल रहा सदस्य प्रवीण ओढ़

भोपाल सायबर क्राइम ब्रांच (Bhopal Cyber Crime News) ने श्योपुर जिले के मानपुर थाना क्षेत्र निवासी प्रवीण ओढ (Pravin Odh) पिता प्रदीप ओढ उम्र 24 साल को गिरफ्तार किया है। आरोपी की एक पखवाड़े से तलाश थी। आरोपी फर्जी तरीके से लोन देने वाले गिरोह के लिए काम करता था। आरोपी प्रवीण ओढ पर पांच हजार रुपए का भी इनाम था। सायबर क्राइम ब्रांच ने उसके 6 साथियों को पहले ही गिरफ्तार कर लिया था। आरोपी लोगों को समाचार पत्रों में विज्ञापन देकर फर्जी तरीके से लोन (Bhopal Fake Loan Case) दिलाने का झांसा देकर पैसा ऐंठ लेते थे।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

 

Don`t copy text!