Bhopal BJP News: उत्तर भोपाल की गुटबाजी में उलझी भाजपा को सीट दिलाने पचौरी का संकल्प

Share

Bhopal BJP News: मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रभात झा ने विधानसभा को गोद भी लिया, जनता का दिल जीत नहीं पाई पार्टी, पिछले चुनाव में खींचतान में हार का प्रतिशत ज्यादा पर पहुंचा, आरिफ अकील के किले को ढ़हाने अभी से दिया जा रहा मूलमंत्र

Bhopal BJP News
पूर्व मंत्री और कांग्रेस विधायक आरिफ अकील- File Photo

भोपाल। प्रदेश की राजधानी बनने के बाद से अब तक करीब 11 विधानसभा चुनाव उत्तर भोपाल (Bhopal BJP News) में हो चुके हैं। इसमें भारतीय जनता पार्टी के 1980 में गठन के बाद से लेकर अब तक केवल एक बार ही चुनाव जीत सकी है। यह सीट लगभग कांग्रेस का मजबूत किला मानी जाती है। इसको हथियाने के लिए प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और पूर्व सांसद प्रभात झा भी इस सीट को गोद ले चुके हैं। लेकिन, पार्टी के भीतर चल रही खींचतान ने इस सीट को और अत्यधिक चुनौतीपूर्ण बना दिया है। यह सीट 1998 से लगातार कांग्रेस के कब्जे में हैं। यहां से विधायक आरिफ अकील है जो कि छह बार चुनाव जीत चुके हैं। अब इस किले को ढ़हाने का सपना भोपाल जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी ने देखा है।

इसलिए आसान नहीं है भाजपा के लिए जीत

उत्तर भोपाल सीट का मौजूदा विधानसभा क्रमांक 150 है। यह अंक उसे 2003 में नए परिसीमन के बाद मिला। इससे पहले यह विधानसभा 240 नंबर थी। यह नंबर अविभाजित मध्यप्रदेश के समय मिला था। उस वक्त छत्तीसगढ़ राज्य भी मध्यप्रदेश में शामिल था। इस विधानसभा में सर्वाधिक समय विधायक रहने का रिकॉर्ड आरिफ अकील (MLA Arif Akeel) बना चुके हैं। उन्होंने यहां से तीन साल के लिए 1990 में चुनाव जीता था। यह उनकी राजनीति में एंट्री थी। इसके बाद 1998 से लेकर अब तक उन्हें हराने का साहस कोई भाजपा नेता नहीं कर सका। यह सीट पहले कम्यूनिस्ट पार्टी का किला थी। यहां से शाकिर अली खान (Shakir Ali Khan) ने चार बार लगातार 1957, 1962, 1967 और 1972 में विधायक का चुनाव जीता था। उनकी जीत का रथ 1977 में जेएनपी नेता हामिद कुरैशी (Hamid Qureshi) ने रोका था। हालांकि उनकी विधायकी सिर्फ तीन साल रही। इसके बाद यह सीट कांग्रेस नेता रसूल अहमद सिद्दीकी (Rasul Ahemad Siddiki) ने 1980 में छीन ली।

भाजपा के काम नहीं आ रहा कोई गणित

Bhopal BJP News
चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान- File Photo

भोपाल (Bhopal BJP News) उत्तर विधानसभा से रसूल अहमद सिद्दीकी दो बार 1980 और 1985 में विधायक रहे थे। कांग्रेस की इस परंपरागत सीट को छीनने का प्रयास भाजपा के एकमात्र नेता रमेश शर्मा (Ramesh Sharma) जो गुट्टू भैया के नाम से ज्यादा जाने हैं उन्होंने किया था। यह चमत्कार 1993 में हुआ था। उन्होंने आरिफ अकील से यह सीट छीन ली थी। उसके बाद आरिफ अकील ने कभी भी भाजपा को उत्तर भोपाल में पैर जमाने नहीं दिए। जबकि उनकी विधानसभा क्षेत्र में ही संघ कार्यालय केशव नीडम और विहिप का कार्यालय आज भी है। यह सीट जीतने के लिए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (CM Shivraj Singh Chauhan) के नेतृत्व में कई प्रयोग हुए। एक बार उत्तर भोपाल विधानसभा से दो बार के विधायक रहे कांग्रेस नेता रसूल अहमद सिद्दीकी की बेटी को उम्मीदवार बनाया गया। इतना ही नहीं प्रयोग के लिए मुस्लिम चेहरा आरिफ बेग को खड़ा किया गया। लेकिन, दोनों ही चुनावों के परिणाम बेहद निराशाजनक रहे।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: शालीमार होटल के कमरे में मिली लाश

इसलिए फिर भोपाल उत्तर मीडिया में छाया

कुछ सप्ताह पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान पुराने शहर पहुंच गए। उन्होंने हमीदिया रोड के सड़क को लेकर चिंता जताते हुए अफसरों की क्लास ली। जिस विधानसभा (Bhopal BJP News) की सड़क को लेकर वे चिंता जता रहे थे उसे वे स्वयं एक बार गोद ले चुके थे। इसके बाद यहां ताबड़तोड़ सड़कें बनाने का काम शुरू हो गया। कांग्रेस नेता आरिफ अकील अस्वस्थ्य भी चल रहे हैं। इसलिए मैदान में ज्यादा सक्रिय नहीं हैं। अब मुख्यमंत्री की चिंता के बाद भोपाल (Bhopal BJP News) भाजपा जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी ने पुराने शहर के चार मंडलों की बैठक ले ली। दरअसल, पुराने शहर के सक्रिय कई भाजपा नेता वहां बने नए समीकरणों के बाद हाशिए में धकेल दिए गए हैं। यह सिलसिला पूर्व महापौर आलोक शर्मा (Alok Sharma) के बनने के बाद ज्यादा हुआ। इसके अलावा नगर निगम चुनाव में भी कई नेताओं की उपेक्षा की गई। यह भीतरघात भविष्य में न बन जाए इसको लेकर चिंता भाजपा को सताने लगी है।

सुमित पचौरी ने दिया कार्यकर्ताओं को यह टारगेट

Bhopal BJP News
जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी गुरूनानक मंडल के साथ कार्यक्रम में मौजूद। यह तस्वीर जिला भाजपा कार्यालय की तरफ से जारी।

भारतीय जनता पार्टी जिला भोपाल के उत्तर विधानसभा के वीर सावरकर मंडल, गुरूनानक मंडल, राजाभोज मंडल और कमलापति मंडल में शुक्रवार को बैठक संपन्न हुई। उत्तर विधानसभा के सभी मंडलों में मतदाता सूची में नाम जोड़ने के लिए जिला अध्यक्ष सुमित पचौरी (Sumit Pachori) ने अलग-अलग मंडलों की बैठक को संबोधित किया। गुरूनानक मंडल के कमेटी हाल ईदगाह हिल्स में आयोजित मंडल बैठक में जिलाध्यक्ष ने कहा कि निर्वाचन विभाग के मतदाता सूची पुनरीक्षण अभियान में पार्टी की तरफ से निर्धारित त्रिदेव बीएलए इत्यादि को पूरे प्रण प्राण के साथ जुटकर बूथ को मजबूत करना है। साथ ही जिन युवाओं की आयु 18 वर्ष पूर्ण हो चुकी है, उनके नाम मतदाता सूची में जोड़ने के लिए नगर में जन जागरूकता का कार्य करें। पचौरी ने कहा कि मंडल अध्यक्ष और मंडल पदाधिकारियों को अधिक से अधिक नाम जोड़ने के लिए सभी को प्रयास करना चाहिए। जिससे आने वाले विधानसभा चुनाव में उत्तर विधानसभा जीत सकते है। पचौरी ने गुरूनानक मंडल के वार्ड क्रमांक 10 के बूथ क्रमांक 47 से 57 तक 51 नवमतदाताओं का पुष्पहार पहनाकर स्वागत किया। पचौरी ने कहा कि लंबे समय से उत्तर विधानसभा विपक्ष के कब्जे में रही है। इस बार कार्यकर्ता प्रण लें और उत्तर विधानसभा को जीतकर यह बता दें कि भाजपा संगठन बहुत मजबूत है। इसी लक्ष्य के साथ कार्यकर्ता चुनाव की तैयारी में जुट जाएं। इस अवसर पर गुरु नानक मंडल अध्यक्ष राकेश कुकरेजा, वीर सावरकर मंडल अध्यक्ष राजेश कनोजिया, राजा भोज मंडल अध्यक्ष विकास सोनी और रानी कमलापति मंडल अध्यक्ष पार्षद शैलेश साहू उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें:   Jabalpur Crime : लॉकडाउन का डर दिखाकर लूट, सेना के जवान समेत चार आरोपी गिरफ्तार

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal BJP News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!