Bhopal News: पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने की कोशिश

Share

Bhopal News: हमले के पीछे वजह को लेकर सस्पेंस, नकाबपोश तीन व्यक्तियों के खिलाफ प्रकरण दर्ज

Bhopal News
छोला मंदिर थाना, जिला भोपाल— फाइल फोटो

भोपाल। पेट्रोल डालकर जिंदा जलाने के प्रयास का एक मामला सामने आया है। हमलावरों की फिलहाल पहचान नहीं हो सकी है। वही इसके पीछे वजहों पर भी अभी सस्पेंस बरकरार है। घटना भोपाल (Bhopal News) सिटी के छोला मंदिर थाना क्षेत्र की है। पुलिस ने जख्मी व्यक्ति की मां की शिकायत पर मुकदमा दर्ज कर लिया है।

धारा लगाने में पुलिस से हुई चूक

छोला मंदिर थाना पुलिस के अनुसार 27 जुलाई की रात लगभग साढ़े दस बजे 353/22 धारा 341/324/323/34 (रास्ते में रोककर, धारदार हथियार से हमला, मारपीट और एक से अधिक आरोपी का प्रकरण) दर्ज किया गया है। घटना 26 जुलाई की रात लगभग साढ़े दस बजे हुई थी। शिकायत घसीटी बाई पति उमराव अहिरवार उम्र 60 साल ने दर्ज कराई है। वह न्यू ब्लॉक कैची छोला इलाके में रहती है। घसीटी बाई अहिरवार (Ghasiti Bai Ahirwar) घरों में काम करती है। जबकि उसका बेटा रमेश अहिरवार पिता ओमकार अहिरवार उम्र 25 साल ट्रेन में सामान बेचता है। आग से उसका बेटा झुलसा है। वह जख्मी हालत में घर आया था। उसने मां को बताया कि उसको तीन लोगों ने रोक लिया था। आरोपी विवाद करने लगे और उसे पीटने लगे। रमेश अहिरवार (Ramesh Ahirwar) पर एक आरोपी ने पेट्रोल डाल दिया और दूसरे ने आग लगा दी। आग से बचने के लिए उसने कपड़े उतारकर भी फेंक दिए थे। आग से उसका सीना, कंधा बुरी तरह से जल गया है। वह उसी रात वृद्धा के पास नहीं आया। अगली सुबह वह आया तो मां उसे इलाज के लिए हमीदिया अस्पताल (Hamidia Hospital) ले गई। वहां से फिर वह एफआईआर दर्ज कराने थाने पहुंची।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: डायल—100 ने घर का निरीक्षण किया लेकिन दर्ज नहीं हुई एफआईआर
Don`t copy text!