Female Criminal: पुरूष तो सेंध लगाते हैं, महिला डंके की चोट पर चाबी चुराकर लॉकअप खोलकर भागी

Share

घर पर पाकर घबराए रिश्तेदारों ने दी पुलिस को सूचना, आरोपी महिला को जालसाजी के बाद अब दूसरे मामले में भी गिरफ्तार किया

Jail Brake
सांकेतिक चित्र

भिलाई। आज तक आपने पुरूष के जेल ब्रैक (Jail Break) करने के किस्से सुने होंगे। कभी आपने सोचा है महिला भी जेल ब्रैक (Women Jail Break) कर सकती है। लेकिन, यह सोचने की जरुरत नहीं हैं। ऐसी चौका देने वाली घटना छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) राज्य के भिलाई (Bhilai) से मिल रही है। महिला ने तो पुरूषों को भी पीछे छोड़ दिया। उसने वारदात करने के पहले सिपाही की जेब काटी। उसमें से चाबी निकाली फिर लॉकअप से भाग गई।

जानकारी के अनुसार घटना भिलाई महिला थाने के भीतर की है। यहां जालसाजी (Bhilai Cheating Case) के एक मामले में आरोपी बरखा (Barkha) को लाया गया था। उसको तीन दिन पहले पुलिस ने दबोचा था। उसके खिलाफ दुर्ग (Durg) के सर्राफा कारोबारी (Jewelers) आदर्श जैन (Adarsh Jain) ने  शिकायत की थी। बरखा के अलावा पुलिस ने बर्खास्त आरक्षक इमरान कादरी (Imran Kadri), उसकी पत्नी विशाखा (Vishakha) और दोस्त शाहबुद्दीन (Shahbuddin) को गिरफ्तार किया था। पुलिस ने बतया कि 10 नवंबर को आरोपी ने कारोबारी से संपर्क किया था। आरोपी ने फोन पर कहा था कि उनके पास सोने—चांदी के जेवरात हैं। कारोबारी ने तीनों आरोपी को अगले दिन मिलने बुलाया था। उसके बाद तीनों ने बिना बिल के आभूषणों का व्यवसायी के साथ सौदा किया था। आरोपियों को तीन लाख रुपए जेवर के बदले में रकम दी गई थी। जेवरात लेने के बाद कारोबारी ने उसका परीक्षण कराया तो वह नकली निकले थे।

यह भी पढ़ें:   पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी को कार्डियक अरेस्ट, हालत नाजुक

इस तरह से भागी थी बरखा
इस मामले की शिकायत आदर्श जैन ने पुलिस से की थी। इसी मामले में महिला समेत अन्य आरोपी को पकड़ा गया था। महिला होने की वजह से बरखा को महिला थाने की हवालात में रखा गया था। सुपेला थाने (Supela Police Station) में पदस्थ महिला सिपाही ममता वासनिक आरोपी महिला विशाखा को। लिखा पढ़ी के बाद महिला थाने लेकर गई थी। महिला थाने (Bhilai Mahila Thana) में रात को आरक्षक सेवंती कुसरे और हुसली यादव की ड्यूटी थी। सुपेला की महिला आरक्षक ने आरोपी को हवालात में बंद किया था। शातिर बरखा ने मौका पाकर जेब काटी और चाबी का गुच्छा निकाल लिया। ड्यूटी में तैनात पुलिसकर्मी जब गहरी नींद में थे उस वक्त उसने चुराई हुई चाबी से ताला खोल लिया।

ऐसे पकड़ में आई
पुलिस ने बताया कि बरखा ने वारदात रात तीन बजे अंजाम दी थी। आरोपी रात को भागकर भिलाई स्टेशन पहुंची। यहां से वह ट्रेन में बैठकर बिलासपुर (Bilaspur) में अपने रिश्तेदार के घर पहुंच गई। रिश्तेदार को भी उसके पुलिस की गिरफ्त में आने की जानकारी मिल गई थी। इसलिए बरखा के उनके घर आने की जानकारी उन्होंने पुलिस को दे दी।

Don`t copy text!