कोविड सेंटर में लगी आग, 10 मरीजों की दर्दनाक मौत

Share

Vijaywada Fire : होटल को बनाया था अस्पताल, मरने वालों के परिजन को 50-50 लाख मुआवजा

Viajayawada Fire
कोविड सेंटर में लगी आग

विजयवाड़ा। (Vijayawada) आंध्रप्रदेश के विजयवाड़ा (Viajayawada Fire) में आग में झुलसकर 10 मरीजों की दर्दनाक मौत हो गई। विजयवाड़ा में कोरोना ट्रीटमेंट सेंटर (Corona Treatment Center) में भीषण आग लग गई। स्टार नाम की होटल (Star Hotel) को कोविड-19 सेंटर बनाया गया था। जिसमें रविवार सुबह आग गई। राज्य सरकार के अधिकारियों का कहना है कि शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी होगी। विजयवाड़ा के पुलिस कमिश्नर बी श्रीनिवासुलु ने बताया कि हादसे में 10 लोगों की मौत हुई है।

नहीं थे पुख्ता इंतजाम

आंध्रप्रदेश के डिप्टी सीएम एकेके श्रीनिवास ने कहा कि मरने वाले सभी लोग इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती हुए थे। कोराना सेंटर से 20 लोगों का रेस्क्यू किया गया है। स्टार होटल को एक प्रायवेट हॉस्पिटल में किराए पर लिया था। हॉस्पिटल प्रबंधन ने होटल में कोरोना सेंटर बनाया था। फायर सेफ्टी डायरेक्टर जयराम नाइक ने मीडिया को बताया कि होटल में फायर सेफ्टी के पुख्ता इंतजाम नहीं थे। होटल में कोरोना मरीजों की सुरक्षा से खिलवाड़ किया गया। जांच के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी।

50-50 लाख मुआवजा

वहीं आंध्रप्रदेश सरकार ने हादसे में मरने वालों के परिजन को 50-50 लाख रुपए मुआवजा देने का ऐलान किया है। प्रधानमंत्री मोदी ने मुख्यमंत्री वायएस जगन मोहन रेड्डी से बात की और घटना की जानकारी ली। मुख्यमंत्री रेड्डी ने पीएम मोदी को बताया कि निजी अस्पताल ने स्टार होटल को किराए पर लिया था। पीएम ने सभी हादसे के शिकार हुए लोगों के परिजन की हर संभव मदद करने को कहा है।

यह भी पढ़ें:   Girish Karnad: मोदी जी ने दी गिरीश कर्नाड को श्रद्धांजलि, तो ट्वीटर वर्ल्ड ने कहा— सर, ऐसा मत कहिए, जानिये क्यों

लॉबी में हुआ शॉर्ट सर्किट

प्रदेश के गृह मंत्री एम सुचित्रा ने बताया कि शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी थी। कोविड सेंटर में 40 कोरोना मरीजों का इलाज चल रहा था। नर्सिंग स्टाफ के 10 सदस्य कोविड सेंटर में पदस्थ किए गए थे। आंध्रप्रदेश आपदा प्रबंधन विभाग के अधिकारियों का कहना है कि होटल की लॉबी में शार्ट सर्किट हुआ था। जिसके बाद आग पहले और दूसरे माले तक पहुंच गई। धुआं दिखने पर लोगों ने होटल की सामने वाली सीढ़ियों का ही इस्तेमाल किया। यदि वे होटल की पीछे वाली सीढ़ियों से उतरते तो जान बच सकती थी। हादसे में घायल लोगों को एमजी रोड़ स्थित अस्पताल में भर्ती कराया गया है।

यह भी पढ़ेंः गाड़ी चलाना सीख रहे थे तीन युवक, गड्ढे में गिरी कार

Don`t copy text!