Anti Naxal Operation : छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में महिला समेत तीन इनामी नक्सली गिरफ्तार

Share
सांकेतिक फोटो

दंतेवाड़ा। छत्तीसगढ़ (Chhattisgarh) के नक्सल प्रभावित दंतेवाड़ा (Dantewada) जिले में सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ के बाद एक महिला नक्सली समेत तीन इनामी नक्सलियों को गिरफ्तार किया है। दंतेवाड़ा जिले के पुलिस अधीक्षक अभिषेक पल्लव (SP Abhishek Pallav) ने शुक्रवार को यहां बताया कि जिले के अरनपुर थाना क्षेत्र के अंतर्गत मिर्चीपारा और नहाड़ी गांव के बीच सुरक्षा बलों ने मुठभेड़ के बाद नक्सली 28 वर्षीय हड़मा मड़काम, कोसी उर्फ शांति (28) और देवा मड़काम (25) को गिरफ्तार किया है। पल्लव ने बताया कि दंतेवाड़ा और सुकमा जिले के सीमावर्ती क्षेत्र में नक्सली कमांडर गुड़ाधुर समेत लगभग दो दर्जन नक्सलियों की उपस्थिति की सूचना के बाद डीआरजी, महिला डीआरजी दंतेश्वरी लड़ाके, एसटीएफ और छत्तीसगढ़ सशस्त्र बल के दल को गस्त में रवाना किया गया था।

पुलिस अधिकारी ने बताया कि जब सुरक्षा बल मिर्चीपारा और नहाड़ी गांव के जंगल में था तब नक्सलियों ने सुरक्षा बलों पर गोलीबारी शुरू कर दी। सुरक्षा बलों ने भी जवाबी कार्रवाई की तब नक्सली वहां से भागने लगे। बाद में सुरक्षा बलों ने तीन नक्सलियों को गिरफ्तार कर लिया। पल्लव ने बताया कि गिरफ्तार नक्सली हड़मा मलांगिर एरिया कमेटी का एलजीएस डिप्टी कमांडर है। वह 2014 से लेकर अब तक क्षेत्र में हुई कई नक्सली घटनाओं में शामिल रहा है। उसके सिर पर तीन लाख रुपए का इनाम था।

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि हड़मा पर अक्टूबर 2018 में हुए नीलवाया हमले में भी शामिल होने का आरोप है। इस घटना में दूरदर्शन के कैमरामैन और तीन पुलिस कर्मियों की मौत हुई थी। वहीं शांति नक्सलियों के प्लाटून नंबर 26 की सदस्य है तथा देवा दंडकारण्य आदिवासी किसान मजदूर संगठन का अध्यक्ष है। शांति के सिर पर दो लाख रुपये तथा देवा के सिर पर एक लाख रुपए का इनाम था।

यह भी पढ़ें:   चपाती पिस्टल के साथ गिरफ्तार

अधिकारी ने बताया कि शांति और देवा कई नक्सली घटनाओं में शामिल रहे हैं जिसमें पुलिस दल पर घात लगाकर हमला और बारूदी सुरंग में विस्फोट जैसी घटनाएं शामिल हैं। उन्होंने बताया कि पुलिस ने गिरफ्तार नक्सलियों के पास से एके 47 राइफल, एसएलआर और इंसास राइफल की गोलियां, माओवादी वर्दी, डेटोनेटर और अन्य सामान बरामद किया है।

Don`t copy text!