Tripura : दहेज नहीं मिला तो शादी से पहले ही जला दी लड़की, अस्पताल में तोड़ा दम

Share

घर से भागकर प्रेमी के साथ रह रही थी लड़की, माता-पिता कराना चाहते थे औपचारिक शादी

सांकेतिक फोटो

अगरतला। देश भर से महिलाओं के खिलाफ अपराध (Crime Against Woman) की खबरें आ रही है। महिला को जिंदा जलाने की वारदातों के बीच त्रिपुरा (Tripura) से भी सनसनीखेज मामला सामने आया है। दक्षिण त्रिपुरा (South Tripura) जिले में एक लड़की को जिंदा जला दिया गया। 90 फीसदी तक झुलसी लड़की को अस्तपाल में भर्ती कराया गया था, जहां इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई। दहेज के लिए की गई इस हत्या के आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 17 वर्षीय लड़की को जलाने का आरोप उसके प्रेमी और प्रेमी की मां पर है।

21 वर्षीय शुक्ला चौधरी (Shukla Choudhary) नाम की लड़की और 21 वर्षीय अजॉय रुद्र पाल (Ajoy Rudra Pal) के बीच प्रेम प्रसंग चल रहा था। 28 अक्टूबर को शुक्ला चौधरी अपने प्रेमी के साथ भाग गई थी। वो अजॉय रुद्र पाल के साथ उसके घर पर रहने लगी थी। ऐसे में शुक्ला चौधरी के माता-पिता ने सामाजिक तानों से बचने के लिए दोनों की औपचारिक शादी कराने का फैसला किया। लड़की के माता-पिता 6 दिसंबर को अजॉय रुद्र पाल की मां मिनाती से मिले। आरोपों के मुताबिक मिनाती ने शादी से पहले 50 हजार रुपए की मांग की। लड़की के माता-पिता ने कहां कि उनकी आर्थिक स्थिति ठीक नहीं है, लिहाजा वे 15 हजार रुपए ही दे पाएंगे। इससे नाराज होकर लड़के की मां घर लौट गई।

मिनाती के अपने घर लौटने के कुछ घंटों बाद ही लड़की के माता-पिता को सूचना दी गई कि उनकी बेटी ने आत्महत्या की कोशिश की है। उसे जीवी पंत अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शनिवार को भर्ती कराई गई लड़की ने रविवार सुबह दम तोड़ दिया। पीड़िता के माता-पिता ने पुलिस थाने में मामला दर्ज कराया है। जिसके बाद अजॉय पाल और उसकी मां मिनाती को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं लड़के का कहना है कि शुक्ला चौधरी ने सुसाइड किया है।

यह भी पढ़ें:   Uttar Pradesh Sex Racket: आयुर्वेदिक मसाज पार्लर की आड़ में चल रहे थे अड्डे
Don`t copy text!