‘अमित शाह ने मना किया था नहीं तो 2 महीने में गिरा देता कमलनाथ सरकार’

Share

भाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सनसनीखेज खुलासा

कैलाश विजवर्गीय, महासचिव, भाजपा

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय (kailash Vijayvargiya) ने सनसनीखेज खुलासा किया एक जनसभा को संबोधित करते हुए विजयवर्गीय ने कहा कि उन्हें अमित शाह (Amit Shah) ने रोक रखा था। गृह मंत्री अमित शाह ने मना किया था नहीं तो मैं 2 महीने में ही कमलनाथ सरकार (Kamalnath Govt) गिरा देता। मध्यप्रदेश में कमलनाथ सरकार बनने के बाद गृहमंत्री से हुई चर्चा का जिक्र करते हुए कैलाश विजयवर्गीय ने बताया कि अमित शाह कमलनाथ सरकार नहीं गिराना चाहते थे। चाचा थे देखे तो मिलना शिकार चलने दी जाए,वह देखना चाहते थे कि कमलनाथ कैसे सरकार चला पाएंगे।

कैलाश विजवर्गीय ने ये कहा

चुनावी कार्यालय का उद्घाटन करने पहुंचे कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कमलनाथ सरकार बनने के तुरंत बाद ही चार-पांच कांग्रेस विधायकों ने उनसे मुलाकात की थी चाहते थे कि कमलनाथ सरकार गिरा दी जाए। विजयवर्गीय ने इस संबंध में अमित शाह से बात की थी। लेकिन वो नहीं चाहते थे कि कमलनाथ सरकार गिराई जाए।

कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर साधा निशाना

इस मौके पर कैलाश विजयवर्गीय एक बार फिर पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिव्या सिंह पर निशाना साधा विजयवर्गीय ने कहा के पूरा चुनाव प्रचार सिंधिया ने किया था लेकिन मुख्यमंत्री के पद पर कमलनाथ आसीन हो गए और दिग्विजय सिंह ने ट्रांसफर उद्योग शुरू कर लिया।

कांग्रेस का पलटवार

विजयवर्गीय बयान पर पलटवार करते हुए कांग्रेस विधायक कुणाल चौधरी ने कहा कि इतना हभाजपा महासचिव कैलाश विजयवर्गीय सनसनीखेज खुलासा अहम ठीक नहीं है। घमंड तो रावण का नहीं टिका। 3 नवंबर को उप चुनाव के मतदान है उस दिन जनता भारतीय जनता पार्टी के नेताओं को घर भेज देगी।

यह भी पढ़ें:   पोस्टर से गायब था मंत्री का फोटो, आनन—फानन में बदला
Don`t copy text!