हरियाणा से मध्यप्रदेश आ रही बस हाईजैक, यात्रियों को बनाया बंधक

Share

फायनेंस कंपनी की करतूत, लोक रिकवरी के लिए दिया वारदात को अंजाम

UP Bus Hijack Case
एसीसी अवनीश अवस्थी

आगरा। बुधवार सुबह उत्तर प्रदेश (Uttarpradesh Crine News) के आगरा में एक प्राइवेट बस (Private Bus) को हाईजैक (UP Bus Hijack Case) कर लिया गया। ड्राइवर समेत 34 यात्रियों का बस समेत बंधक बना लिया गया। जैसे ही ये घटना सामने आई तो सुनने वाले चौंक गए। लगा कि कहीं आतंकियों ने तो इस वारदात को अंजाम नहीं दिया है। लेकिन ये करतूत फायनेंस कंपनी की रिकवरी एजेंसी की थी। पुलिस ने बताया कि बस हरियाणा के गुरूग्राम (Gurugram) से मध्यप्रदेश के पन्ना (Panna) जा रही थी। आगरा जिले के मलपुरा पुलिस स्टेशन के पास इस वारदात को अंजाम दिया गया। एडिश्नल चीफ सीक्रेटरी अवनीश अवस्थी (ACS Awnish Bajpayi) ने कहा कि ड्राइवर, स्टाफ और पैसेंजर अब सुरक्षित हैं। बस को इटावा से बरामद कर लिया गया है।

सभी यात्री सुरक्षित

अवनीश अवस्थी ने बताया कि घटना आगरा (Agra) के पास हुई है। फाइनेंस कंपनी (Finance Company) ने बस को अवैध तरीके से बस को सीज कर लिया था। जिसमें ड्राइवर, स्टाफ और पैसेंजर थे। सभी को सुरक्षित निकाल लिया गया है। उन्होंने बताया कि बस मालिक का कल ही निधन हो गया था। उसका बेटा बस को संचालित कर रहा था।

 किसने किया था हाईजैक

आगरा के एसएसपी बबलू कुमार (SSP Bablu Kumar) ने कहा  प्राथमिक जांच मे पता चला है कि जिस फाइनेंस कंपनी ने बस को फाइनेंस किया था उसी के एजेंट नें बस को हाईजैक किया। पुलिस ने केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। बबलू कुमार ने कहा यह एक फाइनेंस से सम्बंधित मामला है।

यह भी पढ़ें:   बस हाईजैक कांड में नया मोड, पैसों के लेन-देन की वजह आई सामने

यह भी पढ़ें: शिवराज सिंह का मध्यप्रदेश के युवाओं को तोहफा, सरकारी नौकरी में 100 प्रतिशत आरक्षण

कैसे हाईजैक हुई बस

एसएसपी कुमार ने बताया कि बस मंगलवार रात 10:30 बजे निकली थी। जब बस दक्षिण बायपास के राइभा टोल प्लाजा के पास थी, तभी दो एसयूवी वाहन में सवार 9 युवकों ने बस को घेर लिया। युवकों ने ड्राइवर से कहा हम फाइनेंस कंपनी से हैं तुम नीचे आ जाओं। लेकिन ड्राइवर उनकी बात नहीं सुनी और बस चलाने लगा। इसके बाद एसयूवी ने बस को मलपुरा क्षेत्र के पास ओवरटेक किया। फिर बस के ड्राइवर और कंडक्टर को जबरजस्ती अंदर धकेल दिया और स्टेरिंग अपने हाथ में लिया। इस दौरान आरोपियों ने यात्रियों से कहा कि वे चुप रहे, उन्हें कुछ नहीं होगा। जिसके बाद चार आरोपी बस को दिल्ली—कानपुर हाइवे से दूर ले गए।

ड्राइवर, कंडक्टर को रास्ते में छोड़ा

बस ड्राइवर और कंडक्टर को बस से उतार कर एसयूवी में बैठा लिया गया और फिर चार बजे सुबह कुबेरपुर क्षेत्र के पास उतार दिया। उसके बाद दोनों ने पुलिस को सूचना दी। तत्काल पुलिस के साथ डीपीसी (DPC) भी मौके पर पहुंचे। सर्च आपरेशन शुरू कर बस को ट्रैक करना शुरू किया गया।

कांग्रेस ने योगी सरकार को घेरा

जैसे ही इसकी सूचना कांग्रेस पार्टी के साथ अन्य पार्टियों को मिली, सभी ने योगी सरकार (Yogi Government) को घेरना शुरू कर दिया। यूपी कांग्रेस चीफ अजय कुमार लल्लू (UP Congress Chief Ajay Kumar Lallu) ने ट्वीट करते हुए कहा कि ये है ये है योगी माडल और योगी सरकार का लॉ एंड आर्डर। साथ ही समाजवादी पार्टी ने भी सरकार से पूछा है कि आप ये बताएं कि पैसेंजर सही सलामत हैं या नहीं।

यह भी पढ़ें:   MP Annexes Scam : लग्जरी मंत्रालय में भ्रष्टाचार की दुर्गंध, ईओडब्ल्यू ने दस्तावेज सौंपने भेजा नोटिस

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!