Uttar Pradesh Crime: पढ़ाई के दबाव में बच्ची ने उठाया ऐसा कदम

Share

ट्यूशन नहीं पढ़ना चाहती थी छात्रा, परिजनों का रो—रोकर बुरा हाल

Uttar Pradesh Hanging Case
संकेतिक चित्र

लखनऊ। उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh Crime) में एक छात्रा ने पढ़ाई के दवाब को लेकर फांसी पर लटक (Student Suicide) गई। वह पढ़ाई नहीं करना चाहती थी। लेकिन, परिजन उसको जबरिया ट्यूशन भेजते थे। छात्रा के पास से पुलिस को कोई सुसाइड नोट बरामद नहीं किया है। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए परिजनों को सौंप दिया है।

घटना उत्तर प्रदेश (#Uttar Pradesh Crime) के काशीपुर (Kashipur Crime) जिले के आईटीआई थाना क्षेत्र के ग्राम खड़कपुर की है। जहां एक 11 वीं कक्षा में पड़ने वाली होनहार छात्रा अपनी जान ले ली। मौके पर पहुंची पुलिस को परिजनों ने बताया कि मृत छात्रा ने पिता नंदराम अपने परिवार के साथ रहते है। पिता पीआरडी के जवान के रूप में काशीपुर तहसील में कार्यरत है। मृतक की छोटी बेटी अलीगंज में स्थित सरोजनी देवी तारावती सरस्वती विद्या मंदिर में पढ़ती है। उन्होंने कहा कि वह भौतिक विज्ञान और रसायन विज्ञान का ट्यूशन पढ़ती थी।

परिजन चाहते थे कि वह इस सबके साथ गणित की भी ट्यूशन पढ़े। छात्रा गणित का ट्यूशन नहीं पढ़ने की बात पर अड़ी थी। घटना वाले दिन वह शाम को ट्यूशन नहीं गई थी। उसके नहीं जाने पर उसकी बहन स्वाती ने उससे ट्यूशन नहीं जाने का कारण पूछा तो वह कुछ नहीं बोली और तुरंत बैग उठाकर चली गई थी। उसका भाई आनंद चक्की पर चला गया था। वह ट्यूशन पढ़कर घर आई तो मां कमलेश मंदिर का बोलकर घर के बाहर चली गई थी। वह घर में अकेली थी। वह कमरे में छत पर लगे कूंदे में रस्सी का फंदा बनाकर झूल गई।
मां मंदिर से जब लौटी तो लड़की को फंदे पर देखा। तब तक उसकी मौत हो चुकी थी। उसने घर के सभी लोगों को घटना की जानकारी दी। परिजनों ने लड़की को फंदे से नीचे उतारकर पुलिस को सूचना दी। पुलिस को शुरूवआती जांच में घटना स्थल से कोई सुसाईड नोट नहीं मिला है। पुलिस ने शव को हिरासत में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है।
यह भी पढ़ें:   UP Crime : 1500 रुपए के लिए 12 साल के लड़के की हत्या
Don`t copy text!