Ayushman Scheme Scam — ACMO का कार्ड बना, गरीब आज भी कतार में लगे

Share

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की चर्चित योजना में हुए बंदरबाट का भाजपा नेता ने ही उजागर किया राज, मुख्यमंत्री आदित्य नाथ योगी को सौंपी फर्जी लाभार्थियों की सूची

Ayushman Bharat Schme Scam
आयुष्मान भारत योजना का लोगो

मेरठ। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) की तरफ से लांच की गई चर्चित आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Schme) में बड़ा घोटाला (Scam) निकलकर सामने आया है। यह फर्जीवाड़ा (#Ayushman Bharat Scandal) उजागर करने वाला कोई दूसरा नहीं बल्कि भाजपा नेता (Meerut BJP Leader) ने उसे सार्वजनिक किया है। भाजपा नेता का दावा है कि उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में इस योजना का लाभ लेने के लिए बड़े—बड़े अफसर पात्र बन गए। जबकि मैदानी हकीकत यह है कि इस योजना का अधिकांश लाभ आज भी वास्तविक गरीबों को नहीं मिल पा रहा है। भाजपा नेता ने पूरी सूची उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ (UP CM Yogi Aditya Nath) को भी भेजी हैं।

जानकारी के अनुसार इस योजना में चल रही बंदरबाट का खुलासा डॉक्टर लक्ष्मीकांत बाजपेयी (Doctor Laxmikant Bajpai) ने किया है। वे भाजपा के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष ((# BJP Leader)) भी हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ योगी (# CM Yogi Aditya Nath Yogi) को बताया है कि स्वास्थ्य विभाग के एसीएमओ डॉक्टर प्रेम सिंह राजनकुंज (ACMO Doctor Prem Singh Rajankunj) इस योजना का लाभ उठा रहे हैं। उनका आयुष्मान कार्ड (#Ayushman Health Schme ) भी बनाया है। बाजपेयी ने बताया कि वे कई मोहल्लों में जाकर सूची की तस्दीक करने के बाद यह आरोप लगा रहे हैं। इससे यह पता चलता है कि योजना को लागू करने में अफसरों ने मनमर्जी ​से काम लिया।

यह भी पढ़ें:   Meerut : थाने में हंगामा कर रहे थे किन्नर, पुलिस ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, देखें वीडियो

यह भी पढ़ें: यूनिवर्सिटी के एक कुलपति जिन्हें शिक्षा देनी थी पर वह कारोबार करने लगे जानिए कौन हैं यह

बिल्डर भी शामिल
बाजपेयी का दावा है कि इस योजना का फायदा पूर्व पार्षद, सरकारी कर्मचारी, बिल्डर और ऐसे आयकर दाता उठा रहे हैं जिन्होंने मेडिकल क्लैम की सुविधा ले रखी है। इस मामले में जिले के प्रभारी मंत्री स्वास्थ्य मंत्री जयप्रताप सिंह से भी शिकायत की गई है। इसके अलावा सांसद राजेन्द्र अग्रवाल को भी सूची सौंपी गई है।

Don`t copy text!