Dowry Case: दहेजलोभी परिवार ने नाबालिग की जबरिया तय कर दी शादी

Share

बाल कल्याण समिति के सामने खुला राज, 12 साल बड़ी लड़की से करा रहे थे जबरिया शादी

Dowry Case
सांकेतिक चित्र

कानपुर। अब तक आपने लड़कियों के मुंह से जबरिया शादी करने की बात सुनी होगी। लेकिन, यहां एक नाबालिग किशोर जबरिया शादी को लेकर बाल कल्याण समिति (Child Welfare Committee) पहुंच गया। नाबालिग का आरोप है कि उसकी जबरिया शादी (Forced marriage) कराई जा रही है। जिससे शादी हो रही है वह उससे उम्र में 12 साल बड़ी भी है। यह पूरी कवायद नाबालिग के माता—पिता ने दहेज की लालच (Dowry Case) में की थी। मामला उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के कानपुर (Kanpur) शहर के नजदीक देहात इलाके का है।

औंछा थाने से मिली जानकारी के अनुसार मामला रूलिया गांव (Ruliya Village) का है। यहां रहने वाला एक नाबालिग अपने घर वालों से परेशान होकर बाल कल्याण समिति (Kanpur Child Welfare Committee) पहुंच गया था। उसने बताया कि वह अभी नाबालिग (Minor Boy)  है। परिजन दहेज की लालच में उसकी शादी जबरन उससे 12 साल बड़ी लड़की के साथ करा रहे है। जिसका विरोध किया और हर तरह से घर वालों को समझाने का प्रयास किया। परिजन जिद पर अड़े है। मामला सुनने के बाद बाल कल्याण समिति के न्यायपीठ न्यायिक मजिस्ट्रेट (Child Welfare Committee Justice) ने औंछा थाने में इस मामले की जांच करने के आदेश दिए। उन्होंने कहा है कि यह अभी तक का पहला मामला है। जहां कोई किशोर अपनी ही शादी को रूकवाने के लिए आया है।

इस मामले की सही से जांच पड़ताल की जाय। अदालत ने दोषियों को सजा देने के लिए सबूत जुटाने का आदेश दिया है। बेहद इस संगीन मामले में पुलिस ने लड़की के परिजनों के बयान दर्ज करना शुरू कर दिए हैं। इस संबंध में उन्हें नोटिस दे दिया गया है। इधर, नाबालिग के माता—पिता के अलावा दोस्तों के भी पुलिस बयान दर्ज करने जा रही है।

यह भी पढ़ें:   अवैध रेत खनन में पूर्व सीएम से हो सकती पूंछताछ, लोकप्रिय आईएएस बी चंद्रकला के घर सीबीआई की रेड
Don`t copy text!