Maharashtra Tussle : पीछे हटी बीजेपी, राज्यपाल ने शिवसेना को दिया सरकार बनाने का आमंत्रण

Share

कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण बोले- कांग्रेस महाराष्ट्र में राष्ट्रपति शासन नहीं चाहती, राज्यपाल ने शिवसेना को सरकार बनाने के लिए किया आमंत्रित, सोमवार शाम 7.30 बजे तक बताना होगा रुख

Maharashtra
शिव सेना नेता संजय राउत, फाइल फोटो

मुंबई। महाराष्ट्र में राजनीतिक उथल-पुथल (Maharashtra Tussle) का दौर जारी है। भारतीय जनता पार्टी (BJP)  ने स्पष्ट कर दिया है कि वो सरकार बनाने नहीं जा रही है। शाम को राज्यपाल भगत सिंह कोशयारी (Bhagat Singh Koshyari) से मुलाकात कर लौटे भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रकांत पाटिल (Chandrakant Patil) ने साफ किया कि भाजपा राज्य में सरकार नहीं बनाएगी। दूसरी तरफ शिवसेना (Shiv Sena) नेता संजय राउत (Sanjay Raut) ने दावे के साथ कहा कि किसी भी कीमत पर महाराष्ट्र में शिवसेना का मुख्यमंत्री बनेगा। वहीं कांग्रेस नेता अशोक चव्हाण (Ashok Chavan) के बयान के बाद महाराष्ट्र में नई सरकार देखने को मिल सकती है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस राज्य में राष्ट्रपति शासन (President Rule) नहीं चाहती है। शिवसेना और कांग्रेस के बयानों के कई मायने निकाले जा रहे है। इससे पहले संजय राउत ने कहा था कि जब कोई सरकार नहीं बनाएगा तो शिवसेना अपनी रणनीति बताएगी।

रविवार को देर शाम भाजपा की घोषणा पर प्रतिक्रिया शिवसेना के वरिष्ठ नेता संजय राउत ने कहा कि पार्टी किसी भी कीमत पर अपना मुख्यमंत्री बनाएगी। राउत ने संवाददाताओं से कहा, “महाराष्ट्र में किसी भी कीमत पर शिवसेना के मुख्यमंत्री होगा। उद्धव ठाकरे ने रविवार को पार्टी विधायकों को सूचित किया कि शिवसेना का मुख्यमंत्री होगा।”

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष पाटिल का कहना है कि जनता ने बीजेपी-शिवसेना को सरकार बनाने का जनादेश दिया था। लेकिन शिवसेना सरकार इसका अपमान कर रही है। राउत ने कहा, “बीजेपी के पास अपना मुख्यमंत्री कैसे होगा जब वे सरकार बनाने का दावा नहीं कर रहे हैं।”।

यह भी पढ़ें:   विधायक को जूता मारने वाले सांसद शरद त्रिपाठी का टिकट कटा

दूसरी तरफ महाराष्ट्र में कांग्रेस ने रविवार को कहा कि वह राज्य में राष्ट्रपति शासन नहीं चाहती है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक चव्हाण ने कहा कि पार्टी के नवनिर्वाचित विधायक राज्य में अपने भावी राजनीतिक रुख को लेकर पार्टी हाईकमान से सलाह लेंगे।

उन्होंने संवाददाताओं से कहा, “हम जयपुर में हैं। हम इस मुद्दे पर चर्चा करेंगे और भविष्य के राजनीतिक रुख के लिए सलाह लेंगे। पार्टी राज्य में राष्ट्रपति शासन नहीं चाहती है। चव्हाण ने कहा कि वह महाराष्ट्र में एक स्थिर सरकार बनाने के पक्ष में है।

वहीं राज्यपाल भगत सिंह कोशियारी ने दूसरी सबसे बड़ी पार्टी शिवसेना को आमंत्रित किया है। शिवसेना के नेता एकनाथ शिंदे को सरकार बनाने का दावा पेश करने को कहा है।

Don`t copy text!