जानिए क्यों 17 साल के लड़के को मिली बड़े भाई के प्रेम-प्रसंग की सजा

Share

युवती के पिता और चाचा ने गला काट कर उतारा मौत के घाट

सांकेतिक फोटो

औरंगाबाद। Aurangabad महाराष्ट्र (Maharashtra) के औरंगाबाद में एक युवक के प्रेम-प्रसंग की सजा उसके छोटे भाई और माता-पिता को मिली। युवक तो अपनी प्रेमिका के साथ भाग गया लेकिन पीछे छूटे परिवार पर कहर टूट पड़ा। युवती के पिता और चाचा ने युवक के परिवार पर जानलेवा हमला कर दिया। हमले में 17 साल के भीमराज गायकवाड़ (Bhimraj Gaikwad) की मौत हो गई। वहीं उसके माता-पिता गंभीर रूप से घायल हो गए। घटना जिले के वैजापुर पुलिस थाने (Viajapur Police Station) के खंदाला गांव की है।

12 मार्च को देवीदास छगन देवकर (Devidas Chagan Deoker) और उसके बड़े भाई रोहीदास छगन देवकर (Rohidas Chagan Deoker) ने अपनी 20 वर्षीय बेटी प्रिया (Priya Deoker) की गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। 13 मार्च को गायकवाड़ परिवार ने अपने 22 वर्षीय बेटे अमोल (Amol Gaikwad) के गुमशुदा होने की सूचना दी थी। जिसके बाद से ही कयास लगाए जा रहे थे कि अमोल और प्रिया साथ में ही भागे है। जानकारी के मुताबिक पिछले दो साल से दोनों के बीच प्रेम प्रसंग भी चल रहा था। प्रिया ने बीएड की पढ़ाई की है, वहीं अमोल ने 12 वीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी। प्रिया माली समाज की है और अमोल दलित समाज से।

युवती के परिवार ने प्रिया को ढूंढ़ने की कोशिश की, लेकिन जब वो नहीं मिली तो 14 मार्च को शाम साढ़े 8 बजे वो अमोल के घर जा पहुंचे। जहां देवीदास और राहीदास ने अमोल के छोटे भाई भीमराज गायकवाड़ की बेरहमी से हत्या कर दी। उसके माता-पिता ने उसे बचाने की कोशिश की, जिसमें वो भी घायल हो गए। भीमराज के गले पर हमला किया गया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।

यह भी पढ़ें:   Bull को JCB से कुचलने वालों पर मामला दर्ज, Video देख गुस्से से भर जाएंगे आप

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक युवती को भगाने वाला लड़का दलित समाज से है। यहीं इस घटना के पीछे की मुख्य वजह है। महाराष्ट्र के ग्रामीण इलाकों में दलित से शादी करने पर ऐसी घटनाएं सामने आती रही है।

Don`t copy text!