Bhopal Olx Fraud Case: डॉक्टरी कर रहे छात्र बाइक के फेर में फंस गए

Share

Bhopal Olx Fraud Case: ओएलएक्स पर डाल दिया था अपना आधार कार्ड, खाता कर दिया खाली

Bhopal Olx Fraud Case
OLX Office Head Quarter

भोपाल। मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल की फिर ताजा न्यूज सायबर क्राइम (Bhopal Olx Fraud Case) से ही मिल रही है। शहर में सायबर क्राइम ने सभी थानों को उनके यहां रहने वाले लोगों के केस भेज दिए थे। यह जांच बहुत लंबे समय से पेडिंग चल रही थी। इसमें एक डॉक्टर जो पढ़ाई कर रहे हें उनका खाता खाली कर दिया गया है। इधर, एक महिला को नौकरी दिलाने के नाम पर ठगा गया है। यह घटनाएं शाहजहांनाबाद और गांधी नगर थाने में दर्ज हुई है।

डॉक्टरी का कोर्स कर रहा है

शाहजहांनाबाद थाना पुलिस के अनुसार 07 मई को जालसाजी का केस दर्ज किया गया है। शिकायत गन्नू सिंह चौहान 26 साल मल्टी में रहते हैं। वह यहां पर किराए से रहते हैं। परिवार मूलत: शुजालपुर (Shujalpur) का रहने वाला है। वह जवाहर लाल नेहरु अस्पताल में पढ़ाई कर रहा है। गन्नू सिंह चौहान (Gannu Singh Chouhan) ने बाइक खरीदने के लिए 2020 में ओएलएक्स पर विजिट किया था। मोबाइल नंबर पर उसने अपना आधार कार्ड भी लोड किया। इसके बाद उसको कई तरह के फंक्शन कराया गया। जिसके बाद उसके खाते से 24 हजार रुपए निकल गए। यह केस पहले सायबर सेल के पास था। वहां से जांच के लिए केस थाने को भेजा गया। केस की जांच एसआई राघवेंद्र सिंह सिकरवार (SI Raghvendra Singh Sikarwar) को सौंपी गई है।

यह भी पढ़ें: यदि आपने दोस्त बनाने के लिए इस डेटिंग एप्प को डाउनलोड किया है तो उन चेहरों के बारे में जान लीजिए जो आपके लिए मुश्किलें खड़ी करेंगी

यह भी पढ़ें:   घायलों के लिए फरिश्ते बन गए जीतू पटवारी और कुणाल चौधरी

नौकरी के नाम पर युवती से जालसाजी

Bhopal Olx Fraud Case
सांकेतिक चित्र

गांधी नगर थाना पुलिस के अनुसार प्रियंका नामदेव के खाते से 25,800 रुपए निकल गए। वह इलाके में बीडीए प्रोजेक्ट के तहत बने पतंजलि परिसर में रहती है। पहले उसने आवेदन सायबर सेल में भेजा था। प्रियंका नामदेव (Priyanka Namdeo) ने नौकरी के लिए संपर्क किया था। उसको नौकरी दिलाने के नाम पर जालसाज ने धोखाधड़ी की है। उसकी बातचीत सिमरन वर्मा (Simran Verma) से होती थी। मामले की जांच कार्यवाहक एसआई कन्हैया यादव को सौंपी गई है। पुलिस बातचीत होने वाले मोबाइल नंबर की जानकारी जुटा रही है। यहां केस डायरी जांच के लिए एसआई कन्हैया यादव (SI Kanhaiya Yadav) को दी गई है।

Don`t copy text!