बस हाईजैक कांड में नया मोड, पैसों के लेन-देन की वजह आई सामने

Share

हरियाणा से मध्यप्रदेश आ रही थी बस, उत्तर प्रदेश में हुई हाईजैक

Agra Bus Hijack Case
जिस बस को अपराधियों ने हाईजैक किया था

आगरा। बस हाइजैक कांड में रुपए के लेनदेन को लेकर विवाद सामने आया है। जानकारी के मुताबिक बस मालिक और फिरोजाबाद के एक व्यापारी के बीच रुपए के लेनदेन का विवाद चल रहा था। बस मालिक की मौत के बाद व्यापारी को लगा कि उसका पैसा डूब जाएगा। लिहाजा वसूली के लिए उसने ये खेल रचा।जिन लोगों ने बस को हाइजैक किया था उनका कुछ पता नहीं चला है। वहीं, श्रीराम फाइनेंस के रीजनल बिजनेस हेड ने किसी भी प्रकार के लोन से इंकार किया है। बिजनेस हेड ने कहा इस बस का लोन 2018 में ही चुकता हो चुका है।

बता दें कि हरियाणा के गुरुग्राम से चली बस को मध्यप्रदेश के पन्ना पहुंचना था। लेकिन उसे उत्तर (UP Bus Hijack Crime) प्रदेश के आगरा (Agra Bus Hijack Crime Case) जिले में हाईजैक कर लिया गया था। बस में ड्राइवर-कंडक्टर समेत 34 यात्री सवार थे। आगरा जिले के मलपुरा पुलिस स्टेशन के पास इस वारदात को अंजाम दिया गया। एडिश्नल चीफ सीक्रेटरी अवनीश अवस्थी ने कहा कि ड्राइवर, स्टाफ और पैसेंजर सुरक्षित हैं। बस को इटावा से बरामद कर लिया गया है।

अवनीश अवस्थी ने बताया कि घटना आगरा के पास हुई है। बस मालिक का कल ही निधन हो गया था। उसका बेटा बस को संचालित कर रहा था।

यह भी पढ़ें: जज्बा ऐसा कि पिता ने बेटे को परीक्षा दिलाने के लिए तय किया 110 किमी के सफर

कैसे हाईजैक हुई बस

एसएसपी कुमार (SSP Kumar) ने बताया कि बस मंगलवार रात 10:30 बजे निकली थी। जब बस दक्षिण बायपास के राइभा टोल प्लाजा के पास थी, तभी दो एसयूवी वाहन में सवार 9 युवकों ने बस को घेर लिया। युवकों ने ड्राइवर से कहा हम फाइनेंस कंपनी से हैं तुम नीचे आ जाओं। लेकिन ड्राइवर उनकी बात नहीं सुनी और बस चलाने लगा। इसके बाद एसयूवी ने बस को मलपुरा क्षेत्र के पास ओवरटेक किया। फिर बस के ड्राइवर और कंडक्टर को जबरजस्ती अंदर धकेल दिया और स्टेरिंग अपने हाथ में लिया। इस दौरान आरोपियों ने यात्रियों से कहा कि वे चुप रहे, उन्हें कुछ नहीं होगा। जिसके बाद चार आरोपी बस को दिल्ली—कानपुर हाइवे से दूर ले गए।

यह भी पढ़ें:   Extra Marital Affair: प्रेमिका के लिए मां—बाप समेत चार लोगों की निर्मम हत्या

ड्राइवर, कंडक्टर को रास्ते में छोड़ा

बस ड्राइवर और कंडक्टर को बस से उतार कर एसयूवी में बैठा लिया गया और फिर चार बजे सुबह कुबेरपुर क्षेत्र के पास उतार दिया। उसके बाद दोनों ने पुलिस को सूचना दी। तत्काल पुलिस के साथ डीपीसी भी मौके पर पहुंचे। सर्च आपरेशन शुरू कर बस को ट्रैक करना शुरू किया गया।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!