Bhopal Cop News: एक कार्रवाई के दो बार जारी हुए प्रेस नोट

Share

Bhopal Cop News: भोपाल देहात और सिटी के बीच कोल्ड वार के संकेत, पहला क्राइम ब्रांच तो दूसरा देहात के थाने से बताई गई जानकारी

Bhopal Cop News
सांकेतिक ग्राफिक डिजाईन टीसीआई।

भोपाल। मध्यप्रदेश के दो शहरों भोपाल और इंदौर में पुलिस कमिश्नर प्रणाली 9 दिसंबर से शुरु की गई। इस प्रणाली के तहत कई अफसर और जोन बनाए गए। इसमें भोपाल सिटी और भोपाल देहात जोन भी है। दोनों के बीच एक मामूली अंतर रह गया। वह है क्राइम ब्रांच का। जिसको लेकर अंदरुनी खींचतान (Bhopal Cop News) हो गई। यह बात हम यूं ही नहीं कह रहे। उन बातों की पूरी जानकारी आपको नीचे मिलेगी। मामला एक बायो डीजल को स्टोरेज करके बेचने से जुड़ा है।

इसलिए यकीन हुआ

जानकारी के अनुसार इस संबंध में 12 जनवरी को भोपाल क्राइम ब्रांच की तरफ से प्रेस नोट जारी हुआ था। जिसमें बताया गया था कि मुखबिर की सूचना पर ईटखेड़ी स्थित लांबाखेड़ा में बजरंग ट्रेडर्स की दुकान पर दबिश दी गई थी। इसका मालिक महेश मीणा पिता कामता प्रसाद मीणा उम्र 42 साल है। वह निशातपुरा स्थित पूजा कॉलोनी में रहता है। महेश मीणा छोटे—छोटे टैंकरों के जरिए हाईवे से निकलने वाले वाहनों को सस्ते दाम में बायो डीजल बेच रहा था। यहां छानबीन में 30 हजार लीटर अवैध बायो डीजल मिला था। इसके अलावा पंप, मोटर भी मिले थे। इस कार्रवाई में खाद्य विभाग के अधिकारी भी शामिल हुए थे। इस मामले में क्राइम ब्रांच ने अपनी वाहवाही लूट ली थी। यह मामला यहां नहीं थमा और 13 जनवरी को दूसरा प्रेस नोट सामने आया। जिसके बाद साफ हो गया कि भोपाल सिटी और भोपाल देहात के बीच खींचतान चल रही है।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: तलवार मारकर किया हमला

इसलिए निकाले जा रहे हैं मायने

Bhopal Cop News
सांकेतिक ग्राफिक डिजाईन टीसीआई।

इसी मामले में दूसरा प्रेस नोट ईटखेड़ी थाने से जारी किया गया। इसमें बताया गया कि थाना, क्राइम ब्रांच और खाद्य विभाग के संयुक्त कार्रवाई में यह कार्रवाई की गई। इसमें भोपाल देहात के आईजी इरशाद वली समेत कई अन्य अफसरों के नाम थे। कार्रवाई में डीसीपी क्राइम ब्रांच का भी नाम था। पहले प्रेस नोट में केवल एक आरोपी का नाम था। जबकि दूसरे प्रेस नोट में अनिल पिता नारायण सिंह राजपूत उम्र 38 साल का भी नाम था। वह विदिशा के शमशाबाद का रहने वाला है। अनिल सिंह राजपूत के कब्जे से 1000 लीटर डीजल और एक टैंकर भी जब्त करना बताया गया। देहात जोन से जारी प्रेस नोट में काफी विस्तार में जानकारी दी गई थी। इसी प्रेस नोट के अब मैदान में मायने (Bhopal Cop News) निकलने लग गए हैं। कल जारी हुए प्रेस नोट में कमिश्नर, एडिशनल कमिश्नर समेत किसी अन्य अधिकारी के नाम नहीं थे।

यह भी पढ़ें: पुलिस कमिश्नर प्रणाली में क्या इन रसूखदार बिल्डर के खिलाफ जिनकी दर्जनों शिकायतें थाने में धूल खा रही है उसमें कार्रवाई होगी।

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal Cop News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Health News: चौबीस घंटे भटकने के बाद मिले दो इंजेक्शन
Don`t copy text!