मध्यप्रदेश : इन 6 जिलों में रेड अलर्ट, होशंगाबाद में बिगड़े हालात, सेना बुलाई

Share

पूरे प्रदेश में आफत की बारिश, अगले 48 घंटे भी भारी

हवाई सर्वे करते मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान

भोपाल। मध्यप्रदेश में भारी बारिश (Heavy Rain in MP) से हालात बिगड़ते जा रहे है। होशंगाबाद (Hoshangabad) में नर्मदा नदी खतरे के निशान से 4 फीट ऊपर बह रही है। राहत एवं बचाव कार्य के लिए सेना और हेलिकॉप्टर बुलाए गए है। एनडीआरएफ के दो दलों के जिले में पहुंचने की खबर है। मौसम विभाग ने अगले 48 घंटों में भी भारी बारिश की आशंका जताई है। प्रदेश के 6 जिले रेड अलर्ट जोन में रखे गए है। 18 जिलों में ऑरेंज और 4 जिलों में येलो अलर्ट जारी किया गया है।

अगले 24 घंटों में छिंदवाड़ा, विदिशा, सीहोर, राजगढ़, शाजापुर और आगर में अत्यधिक बारिश की चेतावनी दी गई है। होशंगाबाद, भोपाल, रायसेन, नरसिंहपुर, सिवनी, बालाघाट, दमोह, सागर, बुरहानपुर, खंडवा, बड़वानी, धार, इंदौर, रतलाम, उज्जैन, देवास, नीमच और मंदसौर जिले में ऑरेंज अलर्ट जारी किया गया है। इन जिलों में अति वर्षा की चेतावनी जारी की गई है। गुना, अशोकनगर, शिवपुरी और श्योपुर को येलो जोन में रखा गया है। यहां भी भारी बारिश की चेतावनी है।

होशंगाबाद में बिगड़े हालात

मध्यप्रदेश के अधिकांश जिलों में भारी बारिश के चलते नर्मदा नदी ने रौद्र रूप धारण कर लिया है। होशंगाबाद में नर्मदा नदी खतरे के निशान 964 फीट से चार फीट ऊपर 968.90 फीट पर बह रही है। तवा डैम के सभी 13 गेट खोले गए है। प्रदेश के 251 डैम में से 120 डैम क्षमता से 90 फीसदी तक भर चुके है।

एरियल सर्वे करने निकले सीएम शिवराज

बाढ़ के हालातों को देखते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान हेलिकॉप्टर से निकले है। सीएम शिवराज ने बाढ़ प्रभावित जिलों का आसमानी निरीक्षण किया। उन्होंने ट्वीट करते हुए लिखा कि- प्रदेश के कुछ बाढ़ग्रस्त इलाकों का मैंने आज हवाई सर्वेक्षण किया है। प्रशासन पूरी तरह मुस्तैद है, बचावकार्य के लिए तैयार है। सभी टीमों को एलर्ट कर दिया गया है। आप सभी लोग सावधानी बरतें। समस्या होने पर हेल्पलाइन नंबर 1079 या 100 पर कॉल करें।

यह भी पढ़ें:   JUSTICE DELAY : बिसरा और डीएनए रिपोर्ट के कारण लटके हैं तीन हजार से अधिक मामले
Don`t copy text!