Bhopal Traffic Police : मेट्रो ने बिगाड़ी शहर की खुबसूरती

Share
भोपाल मेट्रो (Bhopal Metro) 

एक किलोमीटर का फासला एक घंटे में हो रहा तय, जिम्मेदारों ने किया किनारा

भोपाल। राजधानी में अभी मेट्रो रेल का काम पूरी तरह से शुरू नहीं हो सका हैं। लेकिन, इसकी वजह से एक आम नागरिक परेशानियों से दो-चार हो रहा है। इस निर्माण कार्य का ठेका दिलीप बिल्डिकॉन को मिला है। इस एजेंसी की लापरवाही के चलते शुक्रवार को शहर की खुबसूरती पर ग्रहण लग गया। लोग एक-एक घंटे लंबे जाम में फंसे रहे। वहीं मेट्रो रेल कंपनी के अफसर और (Bhopal Traffic Police) पुलिस इसे एक-दूसरे की जिम्मेदारी बताकर पल्ला झाड़ते रहे।
यहां के बुरे हालात
दिलीप बिल्डकॉन ने अपना प्लांट गोविंदपुरा में लगाया है। इसके अलावा वह एम्स अस्पताल से लेकर ऐशबाग तक लाइन बिछाने का काम कर रही है। इस काम के लिए उसने डीबी मॉल से लेकर सुभाष नगर फाटक तक बड़े-बड़े लोहे के बोर्ड लगाकर कवर किया गया है। इसमें मेट्रो के पोल खड़े होंगे। इस वजह से डीबी मॉल से लेकर सुभाष नगर फाटक तक ट्रैफिक के बुरे हालात हैं। यहां घंटों लोगों को फंसना पड़ता है। खासतौर पर उस वक्त जब पीक समय होता है। यह समय सुबह 10 बजे से 12 और शाम पांच बजे से 7 बजे का होता है। इस मार्ग पर भारी तो दूर दो पहिया वाहन भी आसानी से नहीं निकाला जा सकता। इस रूट की बिगड़ती स्थिति को देख लोगों ने वैकल्पिक रास्तों का चुनाव किया तो अन्य रूट पर यातायात का दबाव बढ़ने लगा है। नतीजतन, जिंसी, शब्बन चौराहा, जेल मुख्यालय, बोर्ड ऑफिस, रचना नगर अंडरब्रिज, गोविंदपुरा समेत आधा दर्जन इलाके हैं जहां हर रोज जाम लगने लगा है।

यह भी पढ़ें:   Khandwa Road Accident:  दूल्हा समेत छह की मौत, ट्रैक्टर पलटने से गई जान
Bhopal Traffic Police
भोपाल मेट्रो (Bhopal Metro)

इस कारण बिगड़े हालात
मेट्रो रेल का काम कर रही दिलीप बिल्डिकॉन कंपनी के लिए शुक्रवार का दिन काफी महंगा पड़ गया। दरअसल, जाम की दूसरी वजह ईद को लेकर सुभाष फाटक के नजदीक लगने वाला बकरा मार्केट भी है। मार्केट की वजह से ट्रैफिक रूक-रूककर चल रहा था। इस आग में दिलीप बिल्डिकॉन के लगे लोहे के सुरक्षा घेरे घी डालने का कारण बने। इधर, सरकार ने दिलीप बिल्डिकॉन को रास्ता चौड़ा करने का करार नहीं किया। इसलिए उसने रास्ते को पहले चौड़ा किए बिना ही काम शुरू कर दिया। जबकि नियमों में इसे शामिल किया जाना अनिवार्य था।

जिम्मेदारों ने पल्ला झाड़ा
इस मामले में मेट्रो कंपनी के अफसरों से प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने बताया कि यह मामला भोपाल पुलिस का है। जबकि ट्रैफिक पुलिस का कहना था कि जाम निर्माण कार्य के चलते लग रहा है। बारिश की वजह से सड़क किनारे भी बड़े-बड़े गढ्डे हो गए है जिससे यातायात धीमा चल रहा है। ट्रैफिक पुलिस के अफसरों ने बताया इस समस्या को सरकार तक पहुंचाया जाएगा। दरअसल, यह समस्या निकट भविष्य में और ज्यादा विकराल हो जाएगी। इससे निपटने की योजना अभी बनाया जाना जरूरी होगा।

Don`t copy text!