Terror Funding Case: : पाॅपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के नेटवर्क से जुड़े 106 सदस्य गिरफ्तार

Share

Terror Funding Case: मध्यप्रदेश, राजस्थान, केरल, महाराष्ट्र समेत 15 राज्यों में अलग-अलग जांच एजेंसियों ने दी दबिश, आतंकी प्रशिक्षण शिविर चलाने की सूचना पर पड़ताल के बाद कार्रवाई

Terror Funding Case
सांकेतिक चित्र, ग्राफिक डिजाइन टीसीआई

भोपाल/दिल्ली। भारत की तीन प्रमुख एजेंसियों राष्ट्रीय जांच एजेंसी, आईबी और ईडी ने संयुक्त अभियान चलाया। इस अभियान के तहत राज्य के एंटी टेररिस्ट स्क्वायड की भी मदद ली गई। लेकिन, राज्यों को एक्शन प्लान के बारे में नहीं बताया गया। देशभर के 15 राज्यों में छापे मारने के बाद 106 व्यक्तियों को गिरफ्तार करने की जानकारी सामने आई है। इसमें भोपाल (Terror Funding Case) के इंदौर और उज्जैन शहरों से चार व्यक्तियों को हिरासत में लिया गया है। यह सभी पाॅपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (Popular Front Of India) नाम के संगठन से जुड़े हैं। मीडिया रिपोर्ट में आरोप है कि इन्हें संयुक्त अरब अमीरात के रास्ते वित्त पोषित किया जा रहा था।

पुलिस मुख्यालय ने जारी किया बयान

इस मामले में गुरूवार को पुलिस मुख्यालय की तरफ से प्रेस विज्ञप्ति जारी करके जानकारी दी गई है। जिसमें बताया गया कि पीएफआई (PFI) के सदस्य विभिन्न राज्यों से मध्यप्रदेश में आकर अधिक से अधिक लोगों को जोड़ने एवं उन्हें भ्रमित कर देशविरोधी गतिविधियों के लिए उकसा रहे थे। इस संबंध में पीएफआई के लोग मध्यप्रदेश के विभिन्न स्थानों में जाकर मीटिंग लेकर आपत्तिजनक साहित्य बांटने एवं देशविरोधी गतिविधियों के लिए लोगों को तैयार करने का कार्य कर रहे हैं। जिसके बाद एटीएस ने इंदौर से प्रदेश अध्यक्ष अब्दुल करीम बेकरीवाला पिता अब्दुल रहीम अब्बासी, महासचिव अब्दुल खालिद पिता अब्दुल कयूम, प्रदेश कोषाध्यक्ष मोहम्मद जावेद पिता मोहम्मद साबिर और उज्जैन से प्रदेश सचिव जमील शेख पिता अब्दुल अजीज को हिरासत में लिया गया।

यहां दर्ज है पहले से मुकदमे

तलाशी के दौरान भारी मात्रा में तकनीकी उपकरण, देशविरोधी दस्तावेज और डिजिटल दस्तावेज बरामद हुए हैं। इनका मकसद देश के लोगों को भड़काकर भारत में इस्लामिक शरिया कानून कायम करना था। इन पदाधिकारियों में कुछ के खिलाफ पहले से भी इंदौर और उज्जैन में प्रकरण दर्ज है। आरोपियों को भोपाल (Terror Funding Case) लाया गया है। आरोपियों के खिलाफ 22 सितंबर को एटीएस थाने में 43/22 धारा 121-ए/153-ए/120-बी और विधि विरूद्ध क्रियाकलाप निवारण अधिनियम 1967 की धारा 13-1-बी धारा 18 पंजीबद्ध कर जांच में लिया गया है।

देशभर में इतने यहां हुए गिरफ्तार

Terror Funding Case
Terror Funding Case

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार मध्यप्रदेश में चार आरोपियों के अलावा सर्वाधिक केरल से 22 व्यक्तियों को गिरफ्तार किया गया। वहीं महाराष्ट्र-कर्नाटक से 20-20 आरोपियों को गिरफ्तार किया। तमिलनाडू से 10, असम से 9, उत्तर प्रदेश से 8 पदाधिकारियों को गिरफ्तार किया गया। आंध्र प्रदेश से 5, पुड्डूचेरी और दिल्ली से तीन-तीन तो राजस्थान से दो पदाधिकारियों को गिरफ्तार किया गया। इसमें पीएफआई का चेयरमैन ओएमए सलेम प्रमुख है। वहीं केरल चीफ मोहम्मद बशीर, राष्ट्रीय सचिव वीपी नजरूद्दीन, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य प्रोफेसर पी कोया है। इन सभी स्थानों पर कार्रवाई एक बजे हुई थी और सुबह चार बजे तक समाप्त कर दी गई थी।

यह भी पढ़ें:   कर्जमाफी पर कांग्रेस ने पेश किए सबूत, किसानों को ले आए विधायक कुणाल चौधरी

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Terror Funding Case
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।
Terror Funding Case, PFI News, Popular Front Of India News, PFI Network News, NIA News, National Investigation Agency News, ATS Raid News, Bhopal News, Bhopal Samachar, Bhopal Latest News, Bhopal Breaking News, Bhopal Hindi Khabar, Bhopal Hindi Samachar, Bhopal Hindi News, Bhopal Crime News In Hindi, MP Hindi Khabar, MP Hindi News, MP Crime News, Madhya Pradesh Crime News,  MP News, भोपाल की न्यूज, भोपाल की ताजा न्यूज, लेटेस्ट भोपाल न्यूज, भोपाल समाचार आज, आज की न्यूज,

Don`t copy text!