MP Honey Trap Case: मानव तस्करी के आरोपों पर बयान देने से मुकरे आरोपी के पिता, पुलिस पर दबाव डालकर एफआईआर करने का आरोप

Share

बेटी को पुलिस के चंगुल से छुड़ाने के लिए सौदा करने का लगाया आरोप, बेटी को हनी ट्रैप में मोहरा बनाने का लगाया आरोप

MP Honey Trap Case
इंदौर में गिरफ्तार ब्लेकमेलर श्वेता जैन जिसकी तस्वीरें बताती हैं कि वह किस अंदाज में रहती थी

भोपाल। मध्यप्रदेश (Madhya Pradesh) के चर्चित हनी ट्रैप केस (MP Honey Trap Case) में फिर नाटकीय मोड़ आ गया है। इस मामले में गिरफ्तार आरोपी मोनिका यादव (Monika Yadav) के पिता के बयानों पर यह बवाल हुआ है। पिता का आरोप है कि पुलिस ने बेटी को छोड़ने के बदले में मानव तस्करी  के आरोप (Human Trafficking Allegation) लगाने के लिए कहा था। लेकिन, पुलिस ने बेटी को नहीं छोड़ा। इस बयान के बाद इंदौर पुलिस बैकफुट में आ गई है।
जानकारी के अनुसार शनिवार दोपहर जिला अदालत (Bhopal District Court) में मोनिका यादव के पिता के मजिस्ट्रीयल बयान होने थे। लेकिन, पिता ने बयान देने की बजाय मीडिया के सामने आकर पुलिस की पोल खोल दी। इस मामले में मोनिका के पिता का कहना है कि मानव तस्करी के आरोप पुलिस के कहने पर उन्होंने लगाए थे। पिता का दावा है कि उससे कहा गया था कि यदि वह ऐसा करेंगे तो मोनिका को पुलिस छोड़ देगी। लेकिन, ऐसा नहीं किया गया। इधर, अदालत में पिता के मजिस्ट्रीयल बयान दर्ज नहीं किए गए। इधर, इंदौर पुलिस का इस मामले में कहना है कि यह बयान मोनिका के पिता ने राजनीतिक दबाव में दिए हैं।
सीआईडी के लिए मुश्किल
मानव तस्करी के मामले में श्वेता जैन और आरती दयाल सीआईडी रिमांड पर चल रहे है। इन दोनों से सीआईडी की टीम पूछताछ कर रही है। सीआईडी ट्रैस की गई कॉल रिकॉर्डिंग को डिकोड करने का काम कर रही है। यह बातचीत एक आईएएस अफसर के साथ की जा रही है। दोनों आरोपी 5 नवंबर तक रिमांड पर है। अब इस मामले में मोनिका यादव के पिता के खिलाफ में बयान आने के बाद सीआईडी के सामने बड़ी मुश्किल खड़ी हो गई है। दरअसल, उनके ही आरोपों पर यह मुकदमा दर्ज किया गया था।

यह भी पढ़ें:   Bhopal News: घर के सामने से हटने बोला तो पुजारी से मारपीट
Don`t copy text!