कांग्रेस विधायक आरिफ मसूद के स्कूल और कॉलेज पर चला सरकारी बुलडोजर

Share

डरा रही भाजपा, दमनकारी नीतियों के खिलाफ लड़ते रहेंगे- आरिफ मसूद

Arif Masood
कॉलेज पर चलती जेसीबी

भोपाल। (Bhopal) मध्यप्रदेश कांग्रेस के विधायक आरिफ मसूद (Arif Masood) के खिलाफ भोपाल में प्रशासन ने कार्रवाई शुरु कर दी है। खानूगांव स्थित मसूद के कॉलेज और स्कूल को तोड़ा गया है। मौके पर नगर निगम, जिला प्रशासन और पुलिस के आला अधिकारी समेत बड़ी संख्या में पुलिस बल मौजूद है। 4 जेसीबी मशीनों से अवैध निर्माण को तोड़ा जा रहा है। कॉलेज के एक हिस्से को जमींदोज कर दिया गया है। हाल ही में आरिफ मसूद ने फ्रांस के राष्ट्रपति के खिलाफ भोपाल में प्रदर्शन किया था। इकबाल मैदान में भीड़ जुटाई थी, जिससे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान नाराज हुए थे। वहीं इस मामले में मसूद का बयान भी सामने आ गया है।

बड़े तालाब का कैचमेंट एरिया

कार्रवाई के खिलाफ आरिफ मसूद के समर्थक मौके पर पहुंचे। उनका कहना है कि बिना नोटिस दिए प्रशासन कार्रवाई कर रहा है। वहीं अतिक्रमण अधिकारी साहनी का कहना है कि अतिक्रमण हटाने को लेकर 15 दिन पहले नोटिस दिया गया था। प्रशासन का कहना है कि आरिफ मसूद ने बड़े तालाब के कैचमेंट इलाके में अतिक्रमण कर कॉलेज और स्कूल बनाया है। 15 साल पहले ये निर्माण किया गया था।

देखें कार्रवाई का वीडियो

YouTube video

भारी पड़ा फ्रांस के राष्ट्रपति का विरोध !

फ्रांस के राष्ट्रपति मेक्रों के खिलाफ आरिफ मसूद ने प्रदर्शन किया था। इस मामले में बुधवार को मसूद समेत 6 लोगों के खिलाफ तलैया थाने में धारा 153 ए के तहत मामला दर्ज किया गया है। जबकि प्रदर्शन के तुरंत बाद मसूद समेत 200 लोगों के खिलाफ धारा 188 के तहत मामला दर्ज किया गया है। खबर है कि मसूद से सीएम शिवराज खासे नाराज है। फिलहाल मसूद बिहार में चुनाव प्रचार कर रहे है। इस कार्रवाई पर अब तक मसूद का बयान सामने आ गया है।

यह भी पढ़ें:   कांग्रेस नेताओं की गलत बयानी को मुद्दा बना रही भाजपा

आरिफ मसूद का बयान

YouTube video

मामले में आरिफ मसूद ने कहा कि ‘मेरे खिलाफ एक और मुकदमा धारा 153 के तहत दर्ज किया गया है। जबकि मैंने शांतिपूर्ण प्रदर्शन किया था। उसमें 25 हजार लोग एकत्रित हुए थे। मैंने कभी किसी धर्म के बारे में बुरा नहीं बोला। मेरे धर्म के बारे में जब बुरा बोला गया तो उस पर रियेक्ट करने का मुझे संबैधानिक अधिकार है। इसी अधिकार के तहत मेैंने प्रजातांत्रिक ढ़ंग से अपनी बात रखी थी। इसके बावजूद मेरे खिलाफ दो मुकदमे लगाए गए है। अब मुझे जानकारी मिली की मेरे महाविद्यालय को तोड़ने की कार्रवाई की गई। जबकि न्यायालय से हमे परमिशन मिली हुई है। हाईकोर्ट के स्टे के बावजूद भवन के हिस्से को तोड़ा गया है। ये सरकार डराने और धमकाने का काम कर रही है। संवैधानिक अधिकारों के तहत लड़ाई लडेंगे। बच्चों को घबराने की जरूरत नहीं है। जरूरत पड़ी तो खुले में पढ़ाएंगे।’

भाजपा-कांग्रेस आमने-सामने

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार है। इसमें कानून अपना काम करेगा। किसी को कानून तोड़ने की इजाजत नहीं दी जाएगी। जहां गड़बड़ है, वहां कार्रवाई की जाएगी। वहीं पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने कहा कि भाजपा चेहरा देखकर कार्रवाई करती है। प्रोटेम स्पीकर रामेश्वर शर्मा ने सरकारी जमीनों पर कब्जा किया है। सरकार उनके खिलाफ कार्रवाई करके दिखाए।

यह भी पढ़ेंः कमलनाथ का दावा, लहराएगा कांग्रेस का परचम

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!