MP Arms License Fraud Case: दो सप्ताह के भीतर दो बाबू के खिलाफ 112 एफआईआर

Share

स्पेशल टास्क फोर्स की तरफ से की गई जांच के बाद तीसरी बार 37 मुकदमे हुए दर्ज

आरोपी युगुल किशोर गर्ग और अभय राज सिंह

भोपाल। (Bhopal Crime News In Hindi) मध्य प्रदेश स्पेशल टास्क फोर्स (Madhya Pradesh Special Task Force) ने 14 दिन के भीतर में दो बाबू के खिलाफ 112 एफआईआर दर्ज की है। यह एफआईआर जालसाजी (MP Arms License Fraud Case) की है जिसमें आरोपियों की गिरफ्तारी होना शेष है। यह दोनों आरोपी सतना (Satna News) कलेक्टर कार्यालय के बाबू है। जिसमें से एक रिटायर हो चुका है। दोनों ने अपने सेवाकाल के दौरान हथियारों के लायसेंस और कारतूसों की संख्या घटाने—बढ़ाने में बहुत बड़ा हेर—फेर (MP Arms License Fraud Case) किया है। जिसको लेकर विधानसभा में प्रश्न भी लगा था। जिसके बाद जांच एमपी एसटीएफ को सौंपी गई थी।

यह जानकारी देते हुए एडीजी स्पेशल टास्क फोर्स अशोक अवस्थी (ADG STF Ashok Avasthi) ने बताया कि आरोपी युगुल किशोर गर्ग (Yugul Kishore Garg) जो शस्त्र शाखा के प्रभारी भी थे। गर्ग अक्टूबर, 2013 में रिटायर हो चुके हैं। दूसरा आरोपी शस्त्र शाखा में लिपिक अभय राज सिंह (Abhay Raj Singh) हैं। इन दोनों बाबूओं के खिलाफ एसटीएफ (MP STF) ने 13 फरवरी को 25 मुकदमे दर्ज किए थे। इसके बाद 22 फरवरी को 50 मुकदमे दर्ज किए थे। ताजा 37 मुकदमे 27 फरवरी को दर्ज किए गए हैं। यह सभी मुकदमों की संख्या मिलाकर 112 पहुंच गई है। अवस्थी ने बताया कि आरोपियों ने कारतूसों की संख्या बिना अनुमति बढ़ाई थी।
यह भी पढ़ें: व्यापमं का जिन्न फिर एसटीएफ के पिटारे से बाहर निकला
इसी तरह लायसेंस का सीमा विस्तार भी फर्जी तरीके से किया था। आरोपियों ने मध्य प्रदेश (Madhya Pradesh Hindi News) के मूल निवासी के अलावा बाहरी प्रदेशों में रहने वाले लोगों के भी लायसेंस बना दिए थे। एसटीएफ को शक है कि यह सारा कारनामा किसी बड़े व्यक्ति के कहने पर अंजाम दिया गया। फिलहाल वह बड़ा व्यक्ति एसटीएफ खंगालने का काम कर रही है। मामले की जांच एसपी एसटीएफ राजेश सिंह भदौरिया (Bhopal STF SP Rajesh Singh Bhadouriya) ने की थी।

यह भी पढ़ें:   Bhopal Prisoner Escaped News: पैरोल के बाद बंदी वापस नहीं लौटा

अपील
www.thecrimeinfo.com विज्ञापन रहित दबाव की पत्रकारिता को आगे बढ़ाते हुए काम कर रहा है। हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। इसलिए हमारे फेसबुक पेज www.thecrimeinfo.com के पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!