Bhopal News: जबलपुर से अगवा नाबालिग भोपाल में बरामद

Share

Bhopal News: लापता लड़की ट्रेन से उतरकर फिर भागी, पेट्रोलिंग में तैनात सिपाही की जागरूकता से परिजनों के हवाले किया

Bhopal News
उर्जा महिला डेस्क में लिंक अधिकारी सोनिया पटेल और आरक्षक सुनील राठौर लापता नाबालिग को उसके पिता को सौंपते हुए।

भोपाल। राजधानी पुलिस का एक सिपाही जो सचिन तेंदुलकर से कम नहीं हैं। उसने एक बार फिर अपनी जागरूकता का परिचय देकर भोपाल पुलिस का नाम दिलाने में कामयाब हुआ। सिपाही सुनील राठौर है जिसका बैच नंबर दस है। घटना भोपाल (Bhopal News) शहर के गोविंदपुरा थाना क्षेत्र स्थित आईएसबीटी बस स्टेंड की है। यहां सिपाही को एक नाबालिग बदहवास में दिखाई दी थी। जिसके बाद सिपाही ने गोविंदपुरा उर्जा महिला डेस्क (Govindpura Urja Mahila Desk) से मदद मांगी। इसके बाद जो कड़ियां जुड़ी उससे एक मामला सुलझ गया। इस घटना की शुरूआत जबलपुर से शुरू हुई थी।

इसलिए ट्रेन से उतरकर भागी नाबालिग

गोविंदपुरा थाना पुलिस के अनुसार आईएसबीटी पर पेट्रोलिंग के दौरान कांस्टेबल सुनील राठौर (Con Sunil Rathore) को एक नाबालिग मिली थी। उन्होंने उर्जा महिला डेस्क की लिंक अधिकारी सोनिया पटेल (Soniya Patel) से मदद मांगी। महिला अधिकारी ने उसकी परेशानी की वजह जानने के लिए शांति की तकनीक का फॉर्मूला अपनाया। उसने बताया कि वह जगदीश राजपूत (Jagdish Rajput) से प्यार करती है। इस कारण वह जबलपुर स्थित मझगंवा थाना क्षेत्र के अगरिया गांव से 11 दिसंबर को भाग आई थी। उसका कहना था कि वह जगदीश राजपूत के साथ शादी करना चाहती है। लेकिन, परिवार इस बात के लिए राजी नहीं हैं। वह आरोपी के साथ भोपाल के भानपुर में रह रही थी। जिसकी जानकारी परिजनों को लग गई थी। वे उसे जबरिया ट्रेन से ले जा रहे थे। नाबालिग को उसके परिजन भोपाल स्टेशन से लेकर चढ़े थे। लेकिन, नजर बचाकर वह रानी कमलापति रेलवे स्टेशन (Kamlapati Railway Station) पर उतर गई थी। इसके बाद वह आईएसबीटी (ISBT) पर आ गई थी। पूछताछ के बाद लिंक अधिकारी ने अफसरों को घटनाक्रम बताकर नाबालिग को गौरवी संस्था पहुंचाया।

दर्ज है पहले से कई मुकदमे

लिंक अधिकारी सोनिया पटेल ने मझगंवा थाने के इस बात की जानकारी दी। जिसके बाद जबलपुर की पुलिस नाबालिग के परिजनों को लेकर भोपाल (Bhopal News) के लिए रवाना हो गई थी। यहां परिवार से बातचीत हुई तो पता चला कि जगदीश राजपूत के खिलाफ पहले से कई मुकदमे दर्ज है। वह आपराधिक किस्म का व्यक्ति है। इसलिए परिजन शादी नहीं करना चाहते। इसके बाद लिंक अधिकारी सोनिया पटेल ने जगदीश राजपूत को भी हिरासत में लिया। उसे जबलपुर से आई पुलिस टीम एसआई कप्तान सिंह उईके (SI Kaptan Singh Uikey) , महिला आरक्षक राधा सिंह और सिपाही हरीदत्त राजपूत को सौंपते हुए नाबालिग को परिजनों के हवाले किया। उल्लेखनीय है कि गोविंदपुरा थाने में तैनात सुनील राठौर इससे पहले भी अपनी जागरूकता के चलते घर से भागकर आईएसबीटी आई नाबालिगों को उसके परिजनों तक पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभा चुके हैं।
यह भी पढ़ें:   MP Police Gossip: 'कमाई ब्रांच' का फिर कारनामा उजागर

यह भी पढ़िएः तीन सौ रूपए का बिल जमा नहीं करने पर बिजली काटने के लिए आने वाला अमला, लेकिन करोड़ों रूपए के लोन पर खामोश सिस्टम और सरकार का कड़वा सच

खबर के लिए ऐसे जुड़े

Bhopal News
भरोसेमंद सटीक जानकारी देने वाली न्यूज वेबसाइट

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 7898656291 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!