सरकारी अस्पताल में डॉक्टर-नर्स को कुछ इस तरह ढूंढ़ते रहे मंत्री गोपाल भार्गव

Share

कोई है…कोई है..करते रहे मंत्री जी…जवाब नहीं आया तो बोले- बढ़ियां है..

Gopal Bhargava
अस्पताल का निरीक्षण करते मंत्री गोपाल भार्गव

सागर। (Sagar) मध्यप्रदेश के पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव (Minister Gopal Bhargava) एक सरकारी अस्पताल के औचक निरीक्षण पर पहुंच गए। अपने ही विधानसभा क्षेत्र गढ़ाकोटा के अस्पताल (Gadakota Hospital) की हकीकत ने स्वास्थ्य विभाग की पोल खोल दी। मंत्री भागर्व के दौरे ने शिवराज सरकार के तमाम दावों की हवा निकाल दी। देर रात सरकारी अस्पताल पहुंचे मंत्री डॉक्टर तो छोड़िए, एक कर्मचारी तक नहीं मिला। सोचिए जब मंत्री को कोई नहीं मिला तो मरीज का इलाज कौन करेगा। वहींं इस मामले का वीडियो वायरल होने के बाद अस्पताल के तीन कर्मचारियों को निलंबित कर दिया गया है। बीएमओ को नोटिस जारी किया गया है। सूबे के स्वास्थ्य मंत्री प्रभूराम चौधरी खुद ही बीमार है। मंत्री चौधरी कोरोना पॉजीटिव पाए गए है।

फेक्ट चैक ने खोल दी पोल

गोपाल भार्गव के इस फेक्ट चैक ने उनकी ही सरकार की पोल खोल कर रख दी है। सामने आए वीडियो ने जमीनी हकीकत को बयां कर दिया। वीडियो में आप गोपाल भार्गव को आवाजें देते हुए सुन सकते है। मंत्री अलग-अलग कमरों में जाते है। पूछते हैं कि कोई है…कोई है…लेकिन कोई जवाब नहीं आया। अस्तपाल में कोई होता, तो जवाब देता। लेकिन वहां तो सन्नाटे परसे हुए थे। लिहाजा मंत्री जी भी बढ़ियां है..बढ़ियां है कहते हुए लौट गए। बताया जा रहा है कि मंत्री गोपाल भार्गव रात ढ़ाई बजे अचानक अस्पताल पहुंच गए थे। वो स्कूटी पर ही अस्पताल पहुंच गए थे।

कमलनाथ बोले- भार्गव ने गलती से सच बोल दिया

गोपाल भार्गव के औचक निरीक्षण का वीडियो सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। इस मामले में जब कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मंत्री गोपाल भार्गव ने गलती से सच बोल दिया। औचक निरीक्षण में उन्हें प्रदेश के स्वास्थ्य व्यवस्था का पता चल गया होगा।

यह भी पढ़ें:   पुलिस की महिला जाबांज ने पुरुषों के दांत खट्टे किये

देखें वीडियो

YouTube video

यह भी पढ़ेंः मध्यप्रदेश : भाई के सामने बहन को उठाकर ले गए दरिंदें, तीन ने किया सामूहिक दुष्कर्म

खबर के लिए ऐसे जुड़े

हमारी कोशिश है कि शोध परक खबरों की संख्या बढ़ाई जाए। इसके लिए कई विषयों पर कार्य जारी है। हम आपसे अपील करते हैं कि हमारी मुहिम को आवाज देने के लिए आपका साथ जरुरी है। हमारे www.thecrimeinfo.com के फेसबुक पेज और यू ट्यूब चैनल को सब्सक्राइब करें। आप हमारे व्हाट्स एप्प न्यूज सेक्शन से जुड़ना चाहते हैं या फिर कोई घटना या समाचार की जानकारी देना चाहते हैं तो मोबाइल नंबर 9425005378 पर संपर्क कर सकते हैं।

Don`t copy text!